आगरा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
आगरा लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

18 नवंबर 2020

आगरा के एन्‍टरपेन्‍योरों को डिजिटल प्‍लेटफार्म प्रदान करेगी 'शौर्य एंटरप्राइज '

--प्रदेश के लघु उद्योग राज्‍य मंत्री ने किया उद्घाटन, जतायीं व्‍यापक कार्य संभावनायें

डिजिटल प्‍लेटफार्म प्रदाता 'शौर्य एंटर प्राइज' का प्रदेश
के लघु उद्धाधोग राज्‍य मंत्ररीने किया उद्घाटन  ।

आगरा: डिजिटल माध्‍यमों से उत्‍पादों के विपणन के लिये जहां जहां भी प्रयासहुए हैं , भारी कामयाबी मिली है, आगरा के कारोबारियों और उत्‍पादकों को भी आने वाले समय में आई टी कंपनी शौर्य एंटर प्राइज की डिजिटल और साफ्टवेयर   सेवाओं का लाभ मिलेगा।यह कहना है प्रदेश के खादी एवं ग्राम्‍य उद्योग,   सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम, निर्यात संवर्धन राज्य मंत्री चौ. उदयभान सिह का जो कंपनी के जयपुर हाऊस में नवस्‍थापित कार्यालय के  उद्घाटन कार्यक्रम को सम्‍बोधित कररहे थे।    श्री सिह ने 
कारोबारी चुनौतियां जहां बढी हैं,वहीं तकनीकि और दक्षता ने कारोबार करने अवसरों 

17 नवंबर 2020

श्‍वांसतंत्र की सुचारिता और शारीरिक प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखना मुख्‍य चुनौती

-- अभी  ख्‍त्‍म नहीं हुआ संक्रमण 'बनाये रहें डिस्‍टैंस,लगाये रहें मास्‍क:डा सारास्‍वत
आगरा: कोरोना संक्रमण के पहले दो दौरों प्रकोप से जनजीवन अभी तक मुक्‍त नहीं हुआ था,कि तीसरा दौर शुरू हो चुका है।  बतौर सावधानी नागरिकों को अपने बचाव के लिये मास्‍क पहने और आपस में सोशल डिसटैंसिग के लिये पूरी सक्रियता बरतने के परामर्ष दिये जाना शुरू करने पडे हैं। हो गये हैं,  यह कहना है आगरा के प्रख्‍यात होम्‍येपैथिक चिकित्‍सक डा  प्रख्‍यात  कैलाश चन्‍द्र सारास्‍वत का। डा सारास्‍वत का कहना है कि वायु प्रदूषण के रूप में इस समय एक अतरिक्‍त चुनौती और है। दीपावली पर पटाके चलाने की परंपरा को प्रतीकात्‍मक 'ग्रीन क्रेकर ' कर काफी हद तक लोगों ने जागरूकता का परिचय दिया है किन्‍तु श्‍वांस संबधी मरीजों के लिये  सावधानी लगातार बरता जाना जरूरी है।
फरवरी 2021 तक मिलेगी राहत  
                                            फोटो: असलम सलीमी

डा सारास्‍वत ने कहा कि उम्‍मीद है कि अगले साल तक कोरोना को नियंत्रित करने के लिये वैक्‍सीन की प्रतीक्षा खत्‍म हो जायेगी। लेकिन जब तक वैक्‍सी की आधिकारिक उपलब्‍धता नहीं हो तब तक शारीरिक प्रतिरोधक क्षेमता ही संक्रमण से बचाव एक प्रभावी उपाये है। उन्‍होंने कहा कि संक्रमण की किसी भी संभावना महसूस होते ही चिकित्‍सक से जरूर परामर्ष लेलना चाहिये और अगर टैस्‍टिग के वह कहे तो इसे सर्वोच्‍च प्राथमिकता के साथ करवाना चाहिये। अगर संक्रमण से प्रभावित भी होते हैं तो 15.16 दिन कोविड सैंटर या कॉरंटीन

13 अक्तूबर 2020

आगरा के मुख्‍य बाजार रावतपाडा में गोटेवालों की हवेली बन चुकी है टूरिस्‍टों का आकर्षण

 -- दो सौ साल से गोटेवाला परिवार रहता  हैं,'बरकत्‍त ' का प्रतीक इस पांच मंजिला भवन में   

आगरा हैरीटेज वॉक का 'लैंडमार्क' गोटेवालों की पंचमिला
 हवेली । (इन्‍सेट)  में सज्‍जामय झरोखा।


 ( राजीव सक्‍सेना)  आगरा: महानगर के व्‍यस्‍ततम मौहल्‍लों में रावतपाडा मुख्‍य है।अंग्रेजों के द्वारा 1804 में आगरा का प्रशासन अपने हाथ में लिये जाने के बाद आगरा के अनेक मौहल्‍लों और कारोबार केन्‍द्रो की स्‍थतियां बदली किन्‍तु राबत पाडा के महत्‍व में कोयी अंतर नहीं पडा। समय के साथ इसका व्‍यवसायिक केन्‍द्र के रूप में महत्‍व बढता ही गया। यहां रहने वाले भी खूब तरक्‍की करते गये। बढती जरूरतों और संपन्‍नता के क्रम में यहां कई निर्माण हुए जो समय के साथ अपने आप में अब आकर्षण माने जाते हैं। 

रावतपाडा की मुख्‍य सडक पर मसालों के लिये

21 जून 2020

आगरा में यू पी और केन्‍द्रीय बोर्डों की 12वीं के परीक्षा परि‍णामों की प्रत्‍याशा में भरे दाखि‍ला फार्म कि‍ये नि‍रस्‍त

-- डी ई आई (दयालबाग डीम्‍ड वि‍ वि) यू पी बोर्ड का रि‍जल्‍ट इंतजार कि‍ये बि‍ना ही गेजुएशन कोर्सों के लि‍ये ले  रहा है एडमीशन‍ टैस्‍ट 
  डी आई ई कैंपस( डीमड वि‍ वि‍ )
(राजीव सक्‍सेना) आगरा: दयालबाग डीम्‍ड वि‍श्‍व वि‍द्यालय ने दाखि‍ला प्रक्रि‍या शुरू कर दी है,  22 से 30 जून तक चलने वाली 'आनलाइन ' प्रवेश परीक्षा एवं ऑन लाइन ' इंटरव्‍यू ' में  इसके लि‍ये उन अभ्‍यर्थि‍यों के आवेदन पत्रों को खरि‍ज कर दि‍या है,जो  रि‍जल्‍ट न आने सेे पात्रता के लि‍ये न्‍यूनतम आहर्ता प्राप्‍त करने संबधी साक्ष्‍य ( खासकर अंकपत्र ) प्रवेश फार्म के साथ दाखि‍ल नहीं कर सके।  वि‍श्‍व वि‍द्यालय की इस नीति‍ के परि‍णाम स्‍वरूप ग्रेजुऐशन और उन कोर्सों में प्रवेश पाने वाले यूपी बोर्ड तथा सी बी एस ई व काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस (ICSE)  के वे परीक्षार्थी एडमीशन प्रवेश परीक्षा से बंचि‍त रह गये जि‍न्‍होंने 2019-20 के शि‍क्षण सत्र की  12 वीं क्‍लास के लि‍ये हुई फायनल परीक्षा में तो भाग लि‍या लि‍या है, लेकि‍‍‍न  कोरोना वायरस 'कोवि‍‍‍‍‍‍ड-19 '  के  मार्च में शुरू हुए संक्रमणके कारण शासन के द्वारा  परीक्षाओं को पूरा करवाने में हुए वि‍लमब

31 मार्च 2020

आगरा में पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कि‍या बीमारों का इलाज व संदि‍ग्‍धों को जांच के लि‍ये कि‍या रैफर

शरीर की संक्रमण नि‍रोधी क्षमता बढाने भर से कई शंकाये हो सकती हैं खत्‍म: डा हरि‍त

पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍यमंद्धी डा राम बाबू हरि‍त ने लोगों
में बांटे  
ऑटे के पैकि‍ट। फोटो:असलम सलीमी
आगरा: प्रदेश के पूर्व राज्‍य मंत्री डा राम बाबू हरि‍त ने कोरोना के संक्रामण की संभावनाओं यथा संभव सीमि‍त रखने के लि‍ये अनवरत सक्रि‍यता बनायी हुई है। वह मानते हैं कि‍ कोरोना पीडि‍तों को तत्‍काल लाभ पहुंचाने के लि‍ये भले ही कोयी दबा या टीका अब तक ईजाद नहीं हो सका हो कि‍न्‍तु प्रधान मंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी   के सोशल डि‍स्‍टैसि‍ग मैसेज को प्रभावी कि‍ये जाने के साथ ही लोगों में शारीरि‍क प्रति‍रोधक क्षमता को बढाकर और अधि‍क सुरक्षि‍त रहाजा सकता है।
डा हरि‍त ने कहा कि‍ वही नहीं उनके तमाम साथी डाक्‍टरों का मानना है कि‍ एलोपैथी में तमाम ऐसी पेटैंट दबाये और उपचार उपाये है जि‍नसे शरीर की कि‍सी भी वाह्य संक्रमण से प्रति‍रोधक  क्षमता बढती है। डा  हरि‍त ने कहा  कि‍ इस समय सरकारी अस्‍पतालों और कोरोना के इलाज के लि‍ये  केयर सैंटरों व आईसोलेशन के  सूचीबद्ध पर काम का

22 फ़रवरी 2020

ट्रम्प के प्रस्तवित विजिट से लगने लगा है आगरा न्यूयोर्क

आगरा की सूखी यमुना मैया भी खुश 

आगरा। अमरीकी प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी पत्नी  के प्रस्तावित ताज  विजिट ने शहर का रूप बदल दिया है। स्वछता, प्रदुषण, पेंटिंग्स, सड़कों पर गड्डे स्थानीय प्रशासन ने सबकुछ चंद दिनों में  चन्दन की तरह  चमका दिया है जिसके लिए आगरा की जनता लम्बे समय से तरस रही है। यह कहना उचित होगा कि हमारे देश में सबकुछ संभव है यदि सरकार और प्रशासन चाहें। सोशल मीडिया पर लोगों ने लिखा है कि डोनाल्ड ट्रम्प हर वर्ष आगरा आते रहें तो हमें न्यूयॉर्क घूमने के लिए जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।  यहाँ तक कि यमुना में पानी तक आ गया है , जिसके लिए स्थानीय लोगों का काफी समय से  संघर्ष चल रहा है। यमुना में से सारी  गंदगी तक  साफ  कर दी गई है। किसी ने फेसबुक पर कमेंट किया कि माननीय  अमरीकी प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प  साल में कम से कम चार बार ताज देखने आएं तो  पूरे साल यमुना में पानी तो रहेगा।

24 फ़रवरी 2019

ताजमहोत्सव में शिल्पियों के सामान की तोड़फोड़ गैर जिम्मेदाराना हरकत

आगरा। कश्मीर के दर्दनाक हादसे के बाद आगरा में बहुत से लोग ताजमहोत्सव के आयोजन को स्थगित करने की मांग कर रहे थे। इस बार फेस्टिवल का उद्धघाटन उत्तर प्रदेश के  राज्यपाल ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि के साथ किया था। बहुत से लोग अब भी  ताजमहोत्सव में शिल्पियों तथा बुनकरों  के सामान को  तोड़फोड़ करके इसका विरोध कर रहे हैं।शिल्पकारों के साथ ऐसा बर्ताव क्यों  शिल्पियों के साथ इस तरह तरह की घटना का  विरोध सोशल मीडिया पर जमकर हो रहा है। शिल्पकार  तो दूर दूर से कुछ कमाने की आशाएं लेकर आये हैं आगरा में । जिस तरह से हर व्यक्ति अपनी रोटी रोज़ी कमाता है नौकरी करके, व्यापर करके , उनका भी यह रोटी रोज़ी कमाने  का साधन है। जो लोग शिल्पियों

8 जनवरी 2019

2,980 करोड़ रूपये के पैकेज के साथ आगरा की दूसरी यात्रा पर नरेन्‍द्र मोदी

आगरा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आगरा में गंगाजल परियोजना तथा अन्‍य विभिन्‍न विकास परियोजनाओं को लांच करेंगे। वह आगरा स्‍मार्ट सिटी के लिए एकीकृत कमान और नियंत्रण केन्‍द्र, एसएन मेडिकल कॉलेज उन्‍नयन के लिए आधारशिला रखेंगे।गंगाजल कार्यक्रम 2,880 करोड़ रूपये की परियोजना है यह आगरा शहर को बेहतर जल सप्‍लाई प्रदान करेगी। इससे आगरा के निवासियों और पर्यटकों को लाभ मिलेगा।
आगरा में एस एन मेडिकल कॉलेज के उन्‍नयन की परियोजना 200 करोड़ रूपये की है। इसमें महिला अस्‍पताल में 100 बिस्‍तर का मातृत्‍व इकाई बनाना शामिल है। इससे समाज

7 अक्तूबर 2018

ताज को अधिक से अधिक पर्यटक बिना असुविधा के देखें - विजन प्लान

( के.सी. जैन द्वारा )
आगरा। ताजमहल और उसके वातावरण के संरक्षण हेतु आगामी 100 वर्ष के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के क्रम में विजन प्लान बनाया जा रहा है जिसको लेकर बड़ी संख्या में स्टेक होल्डर्स ने अपने सुझाव आज आयुक्त सभागार में बैठक में दिये जिसमें विजन प्लान को बनाने वाली संस्था स्कूल ऑफ प्लानिंग ऑफ आर्किटेक्चर (एस.पी.ए.) की परियोजना हैड मीनाक्षी धोते थी। बैठक की अध्यक्षता  अनिल कुमार मण्डलायुक्त, आगरा ने की। 

बैठक में सर्वप्रथम पर्यावरणविद इजी. उमेश चन्द शर्मा ने कहा कि फाउण्ड्री उद्योग सप्ताह में केवल एक दिन चलता है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के क्रम में प्राकृतिक गैस से ही संचालित है, जिसे प्रदूषणकारी नहीं माना जाना चाहिये। ताज को अधिक से अधिक पर्यटक बिना असुविधा के देखें, ऐसा विजन प्लान हमें बनाना चाहिये।

22 सितंबर 2018

दुनिया के सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में आगरा का स्थान आठवाँ

रिसर्च साइंटिस्ट डॉ. गगनदीप कौर वालिया 
आगरा: सेंटर फॉर एन्वॉयरोंमेंट एंड एनर्जी डेवलपमेंट (सीड) ने वायु प्रदूषण और इसके स्वास्थ्य संबंधी दुष्प्रभावों पर केंद्रित एक कार्यशाला ‘‘एयर क्वालिटी क्राइसिस एंड पब्लिक हेल्थ इंपैक्ट्स’’ आयोजित की, जिसका उद्देश्य लैंसेट कमिशन की स्टडी के निष्कर्षों के प्रति सभी स्टैक्होल्डर्स के बीच चर्चा व विमर्श कर आगे की ठोस रणनीति तैयार करना है। इस स्टडी में ये निष्कर्ष सामने आये हैं कि भारत के शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण से समयपूर्व मौतों की संख्या तथा श्वास व हृदय संबंधी बीमारियां बढ़ने से पब्लिक हेल्थ संबंधी बड़ा संकट पैदा हो रहा है। इस कार्यशाला सह परामर्श बैठक में...

1 सितंबर 2018

ताजनगरी की सड़कें चमकेंगी लैड लाइटों से

आगरा की मुख्य  सड़कें  लैड लाइट द्वारा प्रकाशित होंगी। आगरा विकास प्राधिकरण  शहर के 6300
पॉइंट्स पर लैड लाइट लगाएगा। जिसमें महात्मा  गाँधी मार्ग , यमुना साइड  और फतेहाबाद रोड भी शामिल हैं। प्राधिकरण 400 वाट की सोडियम लाइट के स्थान पर 190 वाट के लैड बल्ब लगाएगा। साथ ही  250  वाट की सोडियम लाइट के स्थान पर 110 वाट के लैड बल्ब लगाए जायेंगे। 85 वाट सोडियम लाइट  के स्थान पर 45 वाट लैड बल्ब  लगाए जायेंगे। 

6 जून 2018

आगरा में ट्रांसफर पर स्‍टे किये दो डिप्‍टी चीफ एडीटराेें तक को नहीं करवाया जा सका ज्‍वाइन

सेवा योजक ' दैनिक जागरण ' ने लेबर डिपार्टमेंट के इंस्‍पैक्‍टर को बैरंग लौटाया 
अवध प्रकाश बाजपेयी एडवोकेट:न्‍याय
तो मिल चुका बस क्रियान्‍‍‍‍‍वयन होना हैै।  
आगरा: मजीठिया बेज बोर्ड वाद के मामलों में पत्रकारों और गैर पत्रकारों को कोयी बडी राहत मिलना तो दूर लेबर डिपार्टमेंट के इंस्‍पैक्‍टर अपने विभाग के आदेश की कंप्‍लांइंस के रूप में दैनिक जागरण के आगरा एडीशन में  चीफ सब एडीटर सुनयन शर्मा और डिप्‍टी चीफ सब एडीटर रूपेश चौधरी को ज्‍वाइन तक नहीं करवा सके। 
जब लेबर इंस्‍पैक्‍टर श्री राम मिलन  विभागीय आदेश लेकर उक्‍त दोनों के साथ सिकंदरा इंडस्‍ट्रियल स्‍टेट स्‍थित समाचार पत्र के कार्यालय पहुंचे तो गेट पर रोक दिया गया। बाद में केवल इंस्‍पैक्‍टर को ही अंदर आने दिया गया । कार्यालय में पहुंचेन पर बताया गया कि महाप्रबंधक एवं स्‍थानीय संपादक आफिस में नहीं हैं। बाद में टैलीफोन पर संपर्क करने पर प्रबंधन की ओर से बताया गया कि दोनों के संबध में वाद लंबित हैं। इस लिये उन्‍हे काम पर वापस लेना मुमकिन नहीं है। 
एक अन्‍य सीनियर सब एडीटर श्री नरेन्‍द्र प्रताप को भी विभागीय आदेश के तहत लेबर इंस्‍पैक्‍टर ने ज्‍वाइन करवाने का

30 मई 2018

हिन्‍दी पत्रकारिता को चुनौतियां नहीं हुयीं कम

-- पत्रकारिता की नर्सरियों को उजाड रहे हैं बडे मीडिया हाऊस :विनोद भारद्वाज  
हिन्‍दुस्‍तान के सिटी इंचार्ज मनोज मिश्रा और फोटो जर्नलिस्‍ट 
असलम  सलीमी सहित कई हुए सम्‍मानित ।

आगरा: पत्रकारों से जिन मानकों पर खरा उतरने की अपेक्षा समाज करता है, उनके लिये पृष्‍टभूमि किसी प्रशिक्षण कार्यशाला में नहीं नहीं होती है, आपितु अपने खुद के तजुर्बों  से ही इसके लिये तैयार होता है, जो कि अक्‍सर उनछोटे प्रतिष्‍ठानों के प्रकाशनों के साथ काम करते हुए हांसिल होती है। किन्‍तु दुर्भाग्‍य से  ये प्रतिष्‍ठान एक एक करके बन्‍द होते जा रहे हैं। यह कहना है अमर भारती के संपादक श्री विनोद भारद्वाज का जो कि हिन्‍दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर मदिया कटरा स्‍थित होटल वैभव पैलेस में ' उ प्र पत्रकार परिषद( उ प्र) ' के द्वारा आयोजित कार्यक्रम को मुख्‍य वक्‍ता के रूप में संबोधित

पत्रकार व्‍यवसायिकता से प्रभावित न हों : डा दिनेश शर्मा

-- हिन्‍दी पत्रकारिता दिवस कार्यक्रम में उप मुख्‍यमंत्री के समक्ष रखी गयी कई मांगे
उप मुख्‍यमंत्री डा दिनेश शर्मा को भारतीय राष्‍ट्रीय पत्रकार महासंघ के
जिलाध्‍यक्ष अनूप जंदल ने एक मांग पत्र भी दिया।

आगरा: प्रदेश के  उप मुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा ने आह्वहान किया है कि पत्रकार व्‍यवसायिकता से अपने को प्रभावित नहीं होने दे और वही लिखे जो कि समाज के लिये सकारात्‍मक हो। वे संजय प्‍लेस स्‍थित पी एल पैलेस होटल में  भारतीय राष्‍ट्रीय पत्रकार महासंघ के  तत्वाधान  में आयोजित 192 वें  हिन्‍दी पत्रकारित दिवस कार्यक्रम को सम्‍बोधित कर रहे थे। । उन्‍होंने कहा कि 30मई का पत्रिकारिता के क्षेत्र में खास महत्‍व है, इसी दिन 1826 में पहले हिन्दी समाचार पत्र ' उतण्ड मार्तण्ड ' का कलकत्‍ता से प्रकाशन हुआ था।  प्रख्‍यात साहित्‍यकार भारतेन्दु हरीश्चन्द्र  सामाजिक, धार्मिक, शैक्षिक तमाम परिवर्तनों का उल्लेख

28 मई 2018

उप मुख्‍यमंत्री डा दिनेश शर्मा 30 मई को आगरा में हिन्‍दी पत्रकारिता दिवस कार्यक्रम में भाग लेंगे

प्रेस से जुड़े अहम मुद्दों पर मीडिया कर्मियों से सीधा संवाद संभव

उप  मुख्‍यमंत्री डा दिनेश शर्मा
अगरा: प्रदेश के उप मुख्‍यमंत्री एवं आगरा जनपद के प्रभारी मंत्री डा दिनेश शर्मा  आगरा आ रहे हैं, वह भारतीय राष्‍ट्रीय पत्रकार महासंघ के  तत्वाधान  में आयोजित 192 वें  हिन्‍दी पत्रकारित दिवस कार्यक्रम में भाग लेंगे।  
  संगठन के जिला अध्‍यक्ष अनूप जिंदल के अनुसार  कार्यक्रम संक्षिप्‍त जरूर है किन्‍तु पूर्व उन्‍हें आगरा की प्रेस से संबधित  मूलभूत समस्‍याओं से अवगत करवाया जा चुका । सत्‍ता परिवर्तन के बाद आगरा में शासन के प्रतिनिधि से मीडिया कर्मियों से उन्‍हीं से जुडे मसलों पर  सीधे संवाद का संभवत: पहला अवसर होगा।

27 मई 2018

ताजगंज में अभूतपूर्व जलसंकट, अधिकांश सबमर्सेबिल पंप तक बने शोपीस

'पार्क माईनर' के जीर्णोद्धार से ही संभव हो सकता है स्‍थायी समाधान
ताजगंज में गंभीर जल संकट:बूंद बूंद पानी के लिये मौहताजी
आगरा: ताजगंज क्षेत्र में पानी के संकट की अभूतपूर्व स्‍थिति बन चली है, ज्‍यादातर सबमर्सेबिल पंप 200 फुट तक की गहरायी वाले थे, पानी देना बन्‍द कर चुके हैं। केवल डीप बोरिंग वाले पंप ही संचालित रह  गए हैं जो कि न्यूनतम  200 फीट से अधिक गहरायी कर लगाये गये हैं। दरअसल ताजगंज में जल संरक्षण के सापेक्ष जल दोहन 120 से 130 गुना तक है।  समूचे ताजगंज क्षेत्र में जलस्‍तर तेजी के साथ गिर रहा है।
योंतो  पूरे महानगर में ही जस्‍तर तेजी के साथ गिरता जा रहा है किन्‍तु जब भी 600 मि मी तक भी वर्षा हुई है, इस में सुधार होता रहा हे किन्‍तु ताजगंज इसका अपवाद

ताज के रखरखाव पर सुप्रीम कोर्ट ने की एएसआई की फिर खिंचाई

आगरा। ताजमहल की सुरक्षा के लिए  सुप्रीम कोर्ट ने एएसआई की फिर खिंचाई  की है। अब जिला प्रशासन 1 जून से 'विशेष सफाई अभियान' शुरू करने  जा रहा है। माना जा रहा है कि ताज की पीछे यमुना नदी   कीड़ों का प्रजनन स्थल बन गया है, इसी कारण ताज की दीवारों का रंग हरा होता जा रहा है। स्थानीय प्रशासन अब ताज के इर्दगिर्द  दो किलोमीटर के क्षेत्र  में फैली   यमुना  को  साफ़ करने के लिए  करीब दो सौ मज़दूरों को  को तैनात करने की योजना बना रहा है। इससे पूर्व नदी की  सफाई का दायरा 500 किलोमीटर्स था। 

26 मई 2018

एयर कार्गो सेवा को लेकर सिविल सोसायटी पहुची हाईकोर्ट

चार हेक्‍टेयर जमीन का इंतजाम करने से बचने को कार्गो प्रोजेक्‍ट को ही सरकाया ठंडे बस्‍ते में 
राजीव,डा शिरोमणी ,डा संजय,एवं अनिल,फोटो :असलम 
आगरा: पं दीन दयाल उपाध्‍याय सिविल एयर एन्‍कलेव की मूल योजना में ' एयर कार्गो ' सेवा का प्राविधान है और इसे महज इस लिये हटाये जाने की तैयारी है क्‍यो कि राज्‍य सरकार इसके लिये सिविल एन्‍कलेव की चिन्‍हित जमीन में से चार हेक्‍टेयर जमीन खरीदने से बचना चाहती है। अब तक एयर कार्गो के मामले पर केवल जवानी जमा खर्च चल रहा था किन्‍तु जब सिविल  एन्‍कलेव प्रोजेक्‍ट के प्रति गंभीर रूप से
प्रासरत 'सिविल सोसायटी आगरा' को आर टी आई एक्‍ट के तहत मांगी जानकारियों से भी स्‍थिति स्‍पष्‍ट नहीं हो सकी तो सोसायटी के द्वारा इसे लेकर  कोर्ट का दरवाजा खटखटा दिया है।

1 मार्च 2018

ताज इंटरनेशनल एयरपोर्ट के एवज में भुगतान किये जाने वाले मुआबाजे पर पर्देदारी

आडिट का काम शुरू भू अधिग्रहण की फाइलें की तलब


 आगरा:ग्रेटर नोयडा मे बनने को प्रस्‍तावित इंटरनेशनल एयरपोर्ट अथार्टियों के लिये सबसे ज्‍यादा मुश्‍किल भरा पेच है। जितनी जमीन चाहिये उसके अधिग्रहण और प्रभावितों के पुनर्वास के लिये धन नहीं है ।पूरी तरह से सरकारी अनुदान पर ही मामला टिका हुआ है। राज्‍य सरकार तीन हजार करोड की राशि पिछले बजट में इस प्रोजैक्‍ट के लिये आवंटिक कर चुकी है। निजी निवेशकों की इस प्रोजैक्‍ट में कम से कम अब तक तो कोई रुचि इस कार्य में खुलकर सामने नहीं आ

28 फ़रवरी 2018

यमुना नदी में फ्रेश वाटर के पड़ने जा रहे हैं ' लाले '

‘ताजेवाला’  से राजस्‍थान खोदेगा नहर ‘आगरा कैनाल ’  मे बढेगी हिस्‍सेदारी 

अब खुदेगी ताजेवाला से बीकानेर तक नहर
आगरा : यमुना नदी में आगरा –दिल्‍ली के बीच मोटर वोटें चलें या नहीं किन्‍तु अगर नदी के लोअर बेसिन के जल प्रबंधन की मौजूदा स्‍थिति में सुधार नहीं किया गया तो गोकुल बैराज (मथुरा जनपद )के डाउन स्‍ट्रीम में पचनदा के बीच पडने वाले आगरा , फीरोजाबाद , शिकोहाबाद और इटावा जनपदो को भारी पेयजल किल्‍लत का सामना करना पड जायेगा। अभी हाल मे ही दिल्‍ली में यमुना नदी रिव्यू कमिटी की मीटिंग में 1994  के  हरियाणा, यूपी,