18 अक्तूबर 2021

पूर्वोत्‍तर के 6 मार्गों पर हवाई संपर्क का विस्तार

 

नई दिल्ली - केन्‍द्रीय नागर विमानन मंत्री  ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया, नागर विमानन राज्‍य मंत्री जनरल डॉ. वी. के. सिंह  ने पूर्वोत्‍तर भारत में हवाई सम्‍पर्क का विस्‍तार करते हुए आज 6 मार्गों पर विमानों को वर्चुअली रवाना किया। परिचालन शुरू करने वाले मार्ग हैं कोलकाता-गुवाहाटी, गुवाहाटी-आइजोल, आइजोल-शिलांग, शिलांग-आइजोल, आइजोल-गुवाहाटी और गुवाहाटी-कोलकाता।

केन्‍द्रीय नागर विमानन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने इस अवसर पर कहा कि इन नई  शुरू की गई उड़ानों ने कई ऐसे राज्यों को जोड़कर पूर्वोत्‍तर में हवाई सम्‍पर्क का विस्तार किया है जो अब तक उड़ानों से नहीं जुड़े हैं। क्षेत्र के मूल निवासियों कीइन मार्गों पर उड़ान कनेक्‍टीविटी की मांग काफी लंबे समय से लंबित रही है। पूर्वी भारत अपनी अद्भुत हरी भरी घाटियों, पहाड़ी नदियों, हरे भरे जंगलों, विशाल चाय बागानों, बर्फ से ढकी पर्वत चोटियों, आकर्षक नदियों, आदिवासी संस्कृति, रंग-बिरंगेमेलों और त्यौहारों के कारण पर्यटकों को लुभाता रहा है। ये उड़ानें प्रकृति प्रेमियों, यात्रियों, पर्यटकों आदि के लिए एक निर्बाध प्रवेश द्वार और सुगम हवाई पहुंच का विकल्प खोल देंगी।

विद्युत मोहन के नेतृत्व वाले इंडियन प्रोजेक्ट ने जीता ईको ऑस्कर

 

दिल्ली के श्री विद्युत मोहन के नेतृत्व वाले ताकाचर प्रोजेक्ट  "क्लियर अवर एयर" श्रेणी के  तहत  कम लागत में फसल अवशेषों को बिक्री योग्य जैव-उत्पादों में बदलने के नवाचार के लिए GBP 1 मिलियन का ' इको पुरस्कार ' का विजेता घोषित  किया गया है । लंदन में एक भव्य समारोह में दिल्ली के एक उद्यमी के कृषि अपशिष्ट पुनर्चक्रण मिशन को प्रिंस विलियम के उद्घाटन अर्थशॉट पुरस्कार  में नामित किया गया। 

विद्युत मोहन के नेतृत्व वाले ताकाचर को "क्लियर अवर एयर" वर्ग के भीतर फसल अवशेषों को बिक्री योग्य जैव-उत्पादों में बदलने के लिए कम लागत विशेषज्ञता नवाचार के लिए GBP 1 मिलियन पुरस्कार का विजेता नामित किया गया था।बता दें विश्व में प्रति वर्ष लगभग 120 बिलियन अमरीकी डालर का कृषि अपशिष्ट उत्पन्न होता है। जब किसान बेचने में विफल होते हैं, तो वे अक्सर कचरे को जला देते हैं। कचरे को जलाने से मानव स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण

16 अक्तूबर 2021

विश्व खाद्य दिवस दुनिया भर में भूख के प्रति जागरूकता

 

विश्व खाद्य दिवस पहली बार 1945 में शुरू किया गया था। विश्व खाद्य दिवस को संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन के शुभारंभ का जश्न मनाने के लिए बनाया गया था।विश्व खाद्य दिवस 2021 पूरे विश्व में 16 अक्टूबर को मनाया जाता है। दुर्भाग्य से ऐसे समय पड़ा है जब दुनिया भर के देश वायरस  महामारी के प्रभाव से जूझ रहे हैं। ये दिवस भूख के मुद्दे से निपटने के लिए दुनिया भर में जागरूकता और सामूहिक कार्रवाई का आह्वान करता है और सभी के लिए स्वस्थ आहार सुनिश्चित करता है। 

हाल के वर्षों में, विश्व खाद्य दिवस ने मछली पकड़ने के समुदायों, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता सहित खाद्य सुरक्षा और कृषि के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने के लिए उत्सव के अपने वार्षिक दिवस का उपयोग किया है। यह दिवस लोगों को जलवायु बदल रही है,खाद्य और कृषि भी चाहिए, सामाजिक सुरक्षा और कृषि,ग्रामीण गरीबी के चक्र को तोड़ना, दुनिया को खिलाना, पृथ्वी की देखभाल करना,  पारिवारिक खेती आदि जैसे मुद्दों की ओर आकर्षित करता है ।


15 अक्तूबर 2021

आगरा हाईड्रोजन फैक्ट्री से उपलब्ध हो सकने वाली आक्सीजन संभावना का आंकलन करेगा स्वास्थ्य प्रशासन

-भाजपा नेता पूर्व विधायक केशोमेहरा ने सुझाया था केन्द्र को

आगराग्वालियर रोड पर बुंदू कटरा पर स्थित हाईड्रोजन फैक्ट्री के द्वारा वायुमंडल में निस्तारित की जाने वाली आक्सीजन का मैडीकल यूज की संभावनाओं का पता लगाया जायेगा. भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं विज्ञान एवं तकनीकि तकनीकि मंत्रालयों की ओर से आये निर्देशों के अनुपालन में उपरोक्त जानकारियां मुख्य चिकित्सा अधिकारी आगरा डा ए के श्रीवास्तव से पता करने को कहा है. 

अब डा श्रीवास्तव ने मौसम विज्ञान एवं पर्यावरण विभाग से इस संबध में आधिकारिक जानकारी मांगी है. इस हाईड्रोजन फैकट्री में मौसम विभाग और रक्षा प्रतिष्ठानों से संबधित जरूरतों को

14 अक्तूबर 2021

ताज सिटी में मेडिसिटी बनाने एवं एसएन हॉस्पिटल को एम्स की तर्ज पर विकसित करने की मांग

 

आगरा।नेशनल चेंबर ऑफ़ इंडस्ट्रीज एंड  कॉमर्स, यू.पी. आगरा की गृह-पत्रिका "नचिक" का विमोचन के दौरान चेंबर के अध्यक्ष मनीष अग्रवाल ने बताय कि यह पत्रिका कोविड के कारण  जान गंवाने वालों एवं  जो सहायता करने के लिए आगे आये थे और उनकी जाने चली गई हैं उनको श्रद्धांजलि के रूप में समर्पित की जा रही है।  लोगों के जीवन में स्वास्थ्य की आवश्यकता को देखते हुए चैंबर अध्यक्ष ने आगरा में मेडिसिटी को अपने एजेंडे में शामिल किया था। इसको लेकर विभिन्न मंचों पर आवाज उठाई। पीएम और सीएम को पत्र लिखे। यूपी के केबिनेट ने इसको मंजूरी दे दी है। चैंबर के सदस्य यह चाहते हैं कि इलाज के लिए लोगों को दूसरे शहर न भागना पड़े।  उन्होंने बताया कि सत्र के प्रारंभ में अध्यक्ष पद का कार्यभार संभालते हुए मन बनाया था  कि इस वर्ष आगरा की स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के प्रयास करना है क्योंकि स्वस्थ होगा आगरा तो समृद्ध होगा आगरा।  आगरा में मेडिसिटी बनाने एवं एसएन हॉस्पिटल को एम्स की तर्ज पर विकसित करने की मांग माननीय मुख्यमंत्री महोदय, माननीय प्रधानमंत्री महोदय, स्वास्थ्य मंत्री केंद्र सरकार आदि के समक्ष रखी गई।  साथ ही वेदांता हॉस्पिटल के अध्यक्ष महोदय को भी आगरा में वेदांता की ब्रांच खोलने के लिए अनुरोध किया गया। आगरा की स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाल स्थिति के संबंध में समाचार पत्रों के माध्यम से आवाज को बुलंद किया गया। जिसके परिणाम स्वरूप एसएन  हॉस्पिटल में सुपर स्पेशलिटी विंग की शीघ्र घोषणा हुई और शीघ्र मंजूरी भी मिली जो निर्माणाधीन है।  एसएन एवं लेडी लॉयल हॉस्पिटल को मिलाकर 45 एकड़ में एक मिनी मेडिसिटी बनाने की भी घोषणा हुई  और इसे कैबिनेट से पारित होने पर माननीय मुख्यमंत्री महोदय को चेंबर की ओर से

एकल उपयोग वाले प्लास्टिक पर लगेगा प्रतिबंध जुलाई 2022 से

 

नई दिल्ली - भारत में  प्लास्टिक प्रदूषण को खत्म  करने के 2019 के प्रस्ताव के तहत अधिकांश एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध 1 जुलाई, 2022 से प्रभावी होगा।भारत की केंद्र सरकार ने देश में प्लास्टिक प्रदूषण को दूर करने के अपने 2019 के प्रस्ताव के बाद इस साल अगस्त में प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। अधिकांश एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध 1 जुलाई, 2022 से प्रभावी होगा।

देश की अपशिष्ट प्रबंधन विशेषज्ञ स्वाति सिंह सम्ब्याल ने कहा कि प्रतिबंध का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए हमें अपने सिस्टम को मजबूत करना होगा। साथ ही यह भी  सुनिश्चित करना होगा कि इस अधिसूचना को उद्योग और विभिन्न हितधारक मजबूती  से लागू कर रहे हैं । पर्यावरण एक्टिविस्टों का मानना है कि  हमें महत्वपूर्ण संरचनात्मक मुद्दों जैसे कि प्लास्टिक विकल्पों के उपयोग को विनियमित

11 अक्तूबर 2021

ऑफलाइन मोड में पैंसों की लेनदेन जल्द होगी शुरू

 

नई  दिल्ली - भारत  में अधिकांश अब छोटे-बड़े भुगतान करने के लिए लोग मोबाइल ऐप का ही अक्सर इस्तेमाल करते हैं।  इंटरनेट न होने की  वजह से कई बार डिजिटल भुगतान संभव नहीं हो पाता है। किन्तु रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया एक ऐसा फ्रेमवर्क  तैयार कर रहा है जिसके तहत ऑफलाइन डिजिटल भुगतान भी संभव हो सकेंगे। जिन स्थानों पर  इंटरनेट कनेक्टिविटी में दिक्कत है  है या उपलब्ध नहीं है वहां भी ऑफलाइन मोड में डिजिटल भुगतान किये जा सकेंगे। इस सम्बन्ध में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा कि जल्द ही पूरे भारत में ऑफलाइन मोड में खुदरा डिजिटल भुगतान के लिए एक रूपरेखा पेश की जाएगी। श्री दास  ने कहा कि हमारा मानना है कि इससे उन लेन-देन में मदद मिलेगी जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी कम है। उन्होंने बताया कि सितंबर 2020-जून 2021 तक भारतीय रिजर्व बैंक ने प्रौद्योगिकी के तीन सफल पायलटों का संचालन किया जो दूरस्थ क्षेत्रों में भी डिजिटल भुगतान को सक्षम कर सकते हैं।

10 अक्तूबर 2021

डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रैडरिक्सन ने किया ताज के सौंदर्य का अवलोकन

 

आगरा। डेनमार्क की   प्रधानमन्त्री  मेटे फ्रैडरिक्सन एवं उनके साथ आये अन्य अतिथियों ने  देश के सुप्रसिद्ध  सांस्कृतिक धरोहर ताजमहल तथा  आगरा किला का भ्रमण किया।डेनमार्क की प्रधानमंत्री भारत की अपनी पहली राजकीय यात्रा पर हैं। उनके साथ उनके पति भी ताजमहल अवलोकन के लिए आये थे। वह शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी पहुंचीं थीं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

उनकी उम्र  43 वर्ष है। डेनमार्क के  इतिहास में वह सबसे कम उम्र की महिला प्रधान मंत्री हैं।  वह  इस पद को संभालने वाली केवल दूसरी महिला हैं । ताज भ्रमड़ के  अवसर पर माननीया प्रधानमंत्री ताज के सौंदर्य से अभिभूत दिखीं। उन्होंने ताजमहल के प्रत्येक क्षेत्र का अवलोकन किया एवं सम्बंधित अधिकारियों से उसकी ऐतिहासिक विरासत के बारे में जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने वहाँ पर उपस्थित अधिकारियों के साथ फोटो भी खिंचवाए। इसके पश्चात उन्होंने आगरा किला का भी अवलोकन किया तथा इसकी निर्माण एवं स्थापत्य कला की प्रशंसा की। 

भारतीय आगुन्तकों के लिए यूके ने किया कोविशील्ड को अनुमोदित

 

भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने ट्वीट में कहा  कि यू के  में भारत के ब्रिटेन आने वाले यात्रियों के लिए 11 अक्टूबर से पूरी तरह से कोविशील्ड या यूके-अनुमोदित वैक्सीन के साथ कोई संगरोध अवधि से नहीं गुजरना  पड़ेगा।यूके सरकार द्वारा जारी एक प्रेस नोट में कहा गया है कि  यदि आगंतुक को यूके सरकार द्वारा कोविशील्ड सहित अन्य मान्यता प्राप्त टीकों में से एक पूरी तरह से टीका नहीं लगाया गया है, तो व्यक्ति को प्री डिपार्चर टेस्ट प्रस्तुत करना  होगा  तथा  COVID-19 परीक्षण करना होगा  तथा  10 दिन  के लिए आत्म-पृथक करना होगा । यूके सरकार  भारत के साथ साथ  टर्की और घाना  के यात्रियों को भी  प्रवेश देगी।

9 अक्तूबर 2021

ताज सिटी का प्रियलाल फोटो स्टूडियो 1878 में एक छोटे से कमरे में हुआ था शुरू

 

आगरा।  वर्ष 1878 में ताजमहल के शहर, आगरा के एमजी रोड में एक छोटे से कमरे में शुरू हुई थी प्रिया लाल एंड संस की फोटो स्टूडियो फोटोग्राफी यात्रा। बाद में इसने नवीनतम उपकरणों और प्रौद्योगिकी के साथ शीर्ष पेशेवर प्रतिष्ठान के रूप लिया । फोटोग्राफी के  इतिहास में आगरा के  खंडेलवाल परिवार का महत्पूर्ण योगदान रहा है । प्रिया लाल ने ताज सिटी की कई तस्वीरें क्लिक कर इंग्लैंड की महारानी को भी उपहार के रूप में दी थीं। 

इस  फोटो स्टूडियो का 136 साल का  इतिहास  आगरा के लोगों को ताज सिटी की यादें हमेशा ताज़ा करता रहेगा । शटरबग प्रिया लाल खंडेलवाल ने उस समय अपने इस स्टूडियो की नींव रखी थी जब भारत में फोटोग्राफी की कला  अपनी प्रारंभिक अवस्था में थी। उस समय बिजली तक हीं थी। फोटोज  को दर्पणों से सजे एक अंधेरे कमरे के अंदर क्लिक किया जाता  था और स्टूडियो  में पर्दे की स्थिति को बदलकर प्रकाश की मात्रा को समायोजित किया जाता  था।

7 अक्तूबर 2021

15 नवंबर से पर्यटक वीजा मिल सकेगा विदेशी टूरिस्टों को

 

नई दिल्ली - कोविड-19 महामारी के कारण  विदेशी लोगों को दिए गए समस्‍त वीजा पिछले साल निलंबित कर दिए गए थे। यही नहीं, कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा अंतर्राष्ट्रीय यात्रा पर कई अन्य पाबंदियां भी लगाई गई थीं। हालांकि, कोविड-19 की ताजा स्थिति पर विचार करने के बाद  विदेशी लोगों को भारत में प्रवेश करने और ठहरने के लिए पर्यटक वीजा के अलावा किसी भी प्रकार के अन्‍य भारतीय वीजा को प्राप्‍त करने की अनुमति दी गई।

हालांकि, विदेशी पर्यटकों को भारत आने की अनुमति देने के लिए गृह मंत्रालय को कई राज्य सरकारों के साथ-साथ पर्यटन क्षेत्र के विभिन्न हितधारकों की ओर से पर्यटक वीजा भी देना शुरू करने के लिए निरंतर ज्ञापन प्राप्त हो रहे थे। इसे ध्‍यान में रखते हुए गृह मंत्रालय ने सभी प्रमुख हितधारकों जैसे कि स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, पर्यटन मंत्रालय और उन राज्य सरकारों से परामर्श किया जहां विदेशी पर्यटकों के आने की उम्मीद है।

4 अक्तूबर 2021

भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्यापार मेला 2021,14 से 27 नवंबर तक नई दिल्ली में

 

नई दिल्ली - भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) का भव्य कार्यक्रम भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ) का 40वां संस्करण इस वर्ष अपनी थीम ‘ आत्मनिर्भर भारत‘ प्रदर्शित करेगा जिसमें अर्थव्यवस्था, निर्यात क्षमता, अवसंरचना आपूर्ति श्रृंखला, मांग तथा जीवंत जनसांख्यिकी पर फोकस होगा। इस मेले का आयोजन महामारी के प्रकोप को रोकने के लिए बचाव संबंधी उपायों के अनुरूप किया जाएगा।

यह मेला व्यवसाय समुदाय की अटूट भावना को भी प्रदर्शित करता है जिन्हें महामारी के कारण जबर्दस्त चुनौतियों का सामना करना पड़ा। महत्वपूर्ण बात यह है कि यह थीम ब्रांडों की उत्कृष्टता प्रदर्शित करने तथा कृषि, सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम, (एमएसएमई), बिजली, पर्यटन आदि जैसे सेक्टरों में विकास तथा आत्मनिर्भरता अर्जित करने के लिए नए अवसरों को सृजित करने के उनके संकल्प को भी प्रदर्शित करती है।