18 सितंबर 2021

'सरताज -ए -आगरा' हज़रत सय्यदना शाह अमीर अब्बुलउला का कुल शरीफ

-- कोरोना संक्रमण की एतिहात के चलते आयोजन में सीमित रही भागीदारी

'अब्बू लाला का दरगाह' पर अकीदमन्‍दों ने की अमन चैन की दुआ
आगरा:भाईचारा और सदभावना की अपने आप में मिसाल माने जाने ताज सिटी में आस्था के प्रमुख स्थान 'अब्बू लाला का दरगाह' पर , हजरत अमीर अब्बुलउला दरगाह (अब्बू लाला ),के 382 वें उर्स के अवसर अमन चैन की दुआओं के साथ परंपरागत चादर पोशी की रस्म संपन्न हुई । बेगम डयोढी़ पाए चौकी  से सूफी बुंदन मियां के नेतृत्व में परंपरागत चादर रवाना हुई | बडी भागीदारी के साथ होने वाली इस रस्म में करोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपेक्षाओं को दृष्टिगत  अकीदतमनदों सीमित भागीदारी रही।  इस अवसर पर सर्वश्री सूफी शमीम मियां (दानापुर वाले ) सैय्यद इरफान सलीम, समी आगाई, पंडित नवीन चंद्र शर्मा , भेष बंसल एडवोकेट , हाजी शेख शब्बीर, हाजी सरफराज प्रमुख रूप

कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत हमें पूरी सजगता बरतनी चाहिए - बघेल

 

आगरा - केन्द्रीय विधि  राज्यमंत्री  एस0पी0 सिंह बघेल द्वारा एसएन मेडिकल कालेज में पी एम केयर अन्तर्गत स्थापित पी एस ए संयंत्र का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में एस0एन0 मेडिकल कालेज का महत्वपूर्ण स्थान है, यहॉ पर आगरा के साथ निकटवर्ती जनपद यथा- मथुरा, मैनपुरी तथा फिरोजाबाद सहित अन्य जनपदों के मरीज भी इलाज के लिये आते हैं। आक्सीजन संयंत्र के लग जाने से मरीजों को सुविधायें प्राप्त होंगी तथा उन्हें अन्य स्थान पर नहीं जाना पड़ेगा। इसके साथ ही उनके द्वारा जिला अस्पताल में अक्सीजन संयंत्र का भी उद्घाटन किया गया। उन्होंने बताया कि कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत हमें पूरी सजगता बरतनी चाहिए। हम सभी का यह कर्तव्य है कि इस सम्बन्ध में पूरी तैयारी कर लें, जिससे जनता को किसी प्रकार की कठिनाई न हो।इस अवसर पर जिलाधिकारी  प्रभु एन सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।


17 सितंबर 2021

प्रधानमंत्री को मिले उपहारों और स्मृति-चिन्हों की ई-नीलामी

 

नई दिल्ली - भारत सरकार का संस्कृति मंत्रालय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को प्राप्त उपहारों और स्मृति-चिन्हों की ई-नीलामी का आयोजन कर रहा है। स्मृति-चिन्हों में पदक जीतने वाले ओलंपियन और पैरालिंपियन के स्पोर्ट्स गियर और उपकरण, अयोध्या राम मंदिर की प्रतिकृति, चारधाम, रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर, मॉडल, मूर्तियां, पेंटिंग, अंगवस्त्र आदि शामिल हैं।व्यक्ति/संगठन 17 सितंबर से 7 अक्टूबर, 2021 के बीच वेबसाइट  के माध्यम से ई-नीलामी में भाग ले सकते हैं।ई-नीलामी से प्राप्त धनराशि गंगा के संरक्षण और कायाकल्प के उद्देश्य से नमामि गंगे मिशन को दी जाएगी।

पिछले सप्ताह खोज में मिले गुप्त काल के मंदिर पर मिली शंखलिपि क्या है जानें

 

उत्तर प्रदेश के एटा जिले के एक गाँव में गुप्त काल (5 वीं शताब्दी) के एक प्राचीन मंदिर के अवशेषों की एएसआई द्वारा पिछले सप्ताह  खोज की गई थी । जहाँ शंखलिपि भी मंदिर की दीवार पर मिली थी । इस लिपि का   उपयोग विद्वानों द्वारा अलंकृत सर्पिल वर्णों का वर्णन करने के लिए किया जाता है जिन्हें ब्राह्मी व्युत्पन्न माना जाता था  जो या शंख की तरह दिखते हैं।वे उत्तर-मध्य भारत में शिलालेखों में पाए जाते हैं और चौथी और आठवीं शताब्दी के बीच के  हैं।ब्राह्मी  और शंखलिपि दोनों ही शैलीबद्ध लिपियाँ हैं जिनका उपयोग मुख्य रूप से नाम और हस्ताक्षर के लिए किया जाता था । शंखलिपि नामों या सिंबल या दोनों का का संयोजन दिखती है। 


15 सितंबर 2021

'स्वस्थ आगरा ,समृद्ध आगरा ' : नेशनल चैबर

-- माईसैम के सात दिवसीय कैंपों में डेढ हजार को कोविशिलङ वैक्सिनेशन

शिविर में चैंबर अध्यक्ष मनीष अग्रवाल  एवं  माईसैम के
सी एफ ए 
अनिल वार्ष्णेय आदि।

  आगरा:आगरा: 'जब हमारा पूरा आगरा स्वस्थ होगा तभी आगरा समृद्ध होगा' ,यह कहना है, नेशनल चैंबर आफ  इंडस्ट्रीज एंड कामर्स  यू पी आगरा के अध्यक्ष श्री मनीष अग्रवाल का, जो कि  माईसैम सीमेंट कंपनी के सहयोग से कोविशिलङ वेक्सिनेशन शिविर के समापन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे

उन्होंने कहा कि  विडशील्ड वेक्सीनेशन संक्रमण को रोकने में  जहां सक्षम है, लेकिन सामाजिक दूरी सहित अन्य प्रचलित हिदायतों का पालन करना फिलहाल सामायिक आवश्यक्ता है।श्री अग्रवाल ने कहा कि हर्ष का विषय है आयोजन के तहत 200 से अधिक लोगों ने प्रथम एवं द्वितीय खुराक के टीकाकरण कराने का लाभ प्राप्त किया है, आज के दौर में जो परिस्थियाँ बन रही हैं उनके चलते वेक्सिनेशन बहुत ही जरुरी है। हमें श्रमिक वर्ग में टीकाकरण कराने के लिए और अधिक जागरूक होना पड़ेगा। कहने का तात्पर्य यह है कि

14 सितंबर 2021

उत्तर प्रदेश एक उभरता आकर्षक स्थान निवेशकों के लिए

 

अलीगढ़ - प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी के जीवन से हमें अदम्य इच्छाशक्ति, अपने सपनों को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जाने की इच्छा रखने की सीख देता है। उन्होंने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी भारत की आजादी चाहते थे और अपने जीवन का एक-एक पल उन्होंने इसी के लिए समर्पित कर दिया था। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें आज यह देखकर बहुत खुशी होती है कि जिस उत्तर प्रदेश को देश के विकास में एक रुकावट के रूप में देखा जाता था, वही उत्तर प्रदेश आज देश के बड़े अभियानों का नेतृत्व कर रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अलीगढ़, जो अपने प्रसिद्ध ताले से घरों और दुकानों की रक्षा के लिए जाना जाता था, अब देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले उत्पादों के निर्माण के लिए भी जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि

पूर्व विधायक बदन सिह एवं राजबहादुर सिह 'राज' को नागरी प्रचारिणी सभा ने किया सम्‍मानित

--हिन्‍दी की वैश्‍विक स्‍वीकारिता , समझना सहज :प्रो दीक्षित 

नागरी प्रचारिणी सभा में पूर्व विधायक बदन सिह के पुत्र ने पिता
की ओर से ग्रहण किया ,राज बहादुर राज का भी सम्‍मान।

  आगरा,नागरी प्रचारिणी सभा,आगरा द्वारा हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पूर्व विधायक और प्रतिष्ठित साहित्यकार चौधरी बदन सिंह को पंडित जगन प्रसाद रावत,नागरी प्रचारिणी सभा,आगरापुरस्कार से सम्मानित किया गया।

      समारोह में वरिष्ठ साहित्यकार श्री राजबहादुर सिंह राजको हिन्दी साहित्य की सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया।डा शलभ शर्मा ने प्रख्‍यात हिन्‍दी विद्वान एवं सभा के पूर्व सभापति स्‍व. रमेश कुमार शर्मा की स्‍मृति में सभा को मल्‍टी मीडिया ’  दिये जाने की घोषणा भी अपने पारवारिक ट्रस्‍ट की ओर से की। 

सरस्वती वन्दना का पाठ श्री भगवान सहाय द्वारा किये जाने के साथ  सभापति रानी सरोज गौरिहार की अध्‍यक्षता में कार्यक्रम संपन्‍न हुआ।

 समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय हिन्दी संस्थान के आचार्य एवं अध्यक्ष प्रो.उमापति दीक्षित

चेंबर के पूर्व अध्यक्ष एसपी फरसैया की धर्मपत्नी श्रीमती राज फरसैया निधन

--नेत्रदान और देहदान कर अनुकरणीय मिसाल छोड गयी हैं गयीं हैं श्रीमती राज फरसैया

स्‍व.श्रीमती राज फरसैया

आगरा सामाजिक सरोकारों के प्रति प्रतिबद्धता रखने वाली  श्रीमती राज फरसैया का निधन हो गया ,उनकी इच्छा के अनुसार उनके नेत्रों का दान कर दिया गया तथा बाद में  उनकी मृत देह को भी उनकी इच्छा के अनुरूप एसएन मेडिकल कॉलेज के एनोटॉमी विभाग को दान कर दिया गया ।अब जहां उनके नेत्रों से दो व्यक्तियों को दुनियां देखने का अवसर मिलेगा,वही मृत काय मैडीकल के छात्र - छात्राओं अध्ययन के काम आयेगी। 

 श्रीमती फरसैया प्रख्यात आयकर अधिवक्ता एवं नेशनल चैबर के पूर्व अध्यक्ष श्री श्री सत्य प्रकाश फरसैया की पत्नी थीं । चेंबर अध्यक्ष मनीष अग्रवाल ने श्रीमती राज फरसैया के निधन पर शोक व्यक्त किया है। निधन से चैम्बर परिवार में शोक की लहार दौड़ गई। पूर्व अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों ने आयोजित शोक सभा में बताया कि यह परिवार बरसों पूर्व सिरसागंज से आकर आगरा में बसा था और श्री एसपी फरसैया ने