8 मई 2021

वेदों और कुरान में समानता पर बहुत कुछ लिखना चाहते थे प्रो खालिद बिन यूसुफ

 


अलीगढ़ - प्रसिद्ध संस्कृत विद्वान और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय संस्कृत विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो खालिद बिन यूसुफ का 56 की उम्र में  का निधन हो गया । वे ऋग्वेद में डॉक्टरेट हासिल करने वाले पहले मुस्लिम विद्वान थे।सेवानिवृत्त होने के बाद, वह संस्कृत और वेदों पर बड़ा काम करना चाहते थे। हालांकि, उनके रिटायर होने में 6 साल थे। वह एक मानवतावादी थे, 'सर्व धर्म समभाव' के अंतिम लाभार्थी थे। वह वेदों और कुरान में समानता पर बहुत कुछ लिखना चाहते थे। उन्होंने इसके लिए बहुत सारी सामग्री भी एकत्र की। इस पर उनके कई शोध पत्र हैं। उन्होंने 'ऋग्वेद के नीति तत्व', 'इंद्र सूक्त में नीति तत्व', 'कुरान में मानवतावाद' लिखे। प्रो। खालिद ने 11 वीं कक्षा से एएमयू में अपनी पढ़ाई शुरू की और यहां प्रोफेसर बनने का मौका मिला। 

7 मई 2021

ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना के लिए सांसद बृजलाल ने LADF से दिलवाये एक करोड़ रुपये

 

लखनऊ। राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश पुलिस के पूर्व महानिदेशक बृजलाल ने सिद्धार्थनगर  जिले में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने के लिए एक  करोड़ रुपये दिए हैं।  ये उनका पैतृक जिला है।  यह सहायता स्थानीय क्षेत्र विकास निधि खाते  से देने की घोषणा की। श्री बृजलाल ने  डीएम के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने के बाद की। संसद ने   जिले में चिकित्सा स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करने और प्राथमिकता पर तुरंत ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने में सहायता का आश्वासन दिया, ताकि डॉक्टर कोविड से पीड़ित मरीजों के कीमती जीवन को बचा सकें। उन्होंने कहा हाल ही में जब वह अपने पैतृक शहर गए थे तो उन्होंने  पाया कि  भारत-नेपाल सीमा पर स्थित एक महत्वपूर्ण जिला होने के बावजूद  जिला अस्पताल में कोई ऑक्सीजन संयंत्र नहीं है।

6 मई 2021

अब तक 40 ऑक्सीज़न एक्सप्रेस ने अपनी यात्रा पूरी की

 

भारतीय रेलवे चुनौतियों से पार पाते हुए और नए उपायों की तलाश के साथ देश के विभिन्न राज्यों में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति के अपने अभियान को निरंतर जारी रख लोगों को राहत पहुंचा रहा है। रेलवे ने अब तक देश के विभिन्न राज्यों में 161 टैंकरों में लगभग 2511 मीट्रिक टन चिकित्सा उपयोग हेतु ऑक्सीजन की आपूर्ति की है।40 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपनी यात्रा पहले ही पूरी कर ली है।

भारतीय रेलवे राज्यों की मांग पर यथासंभव मात्रा में तरल मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता पर लगातार काम कर रहा है।अब तक महाराष्ट्र को 174 मीट्रिक टन, उत्तर प्रदेश को 689 मीट्रिक टन, मध्य प्रदेश को 190 मीट्रिक टन, हरियाणा को 259 मीट्रिक टन, तेलंगाना को 123 मीट्रिक टन और दिल्ली को 1053 मीट्रिक टन ऑक्सीज़न की आपूर्ति की गई ।

4 मई 2021

दिल्ली को 244 मीट्रिक टन और ऑक्सीजन की आपूर्ति

 

नई  दिल्ली -  भारतीय रेलवे चुनौतियों को दूर करते हुए और नए उपायों की पहचान करते हुए देश भर में विभिन्न राज्यों की तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की मांग पर सक्रियता से काम कर रहा है और ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है। रेलवे ने अब तक विभिन्न राज्यों में 103 टैंकरों में लगभग 1585 मीट्रिक टन चिकित्सा उपयोग हेतु ऑक्सीजन की आपूर्ति की है। 27 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपनी यात्रा पहले ही पूरी कर ली है जबकि 6 और ऑक्सीजन एक्सप्रेस 33 टैंकरों में 463 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर अपने गंतव्य की ओर बढ़ रही हैं।

भारतीय रेलवे राज्यों की मांग पर यथासंभव मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने को लेकर अपनी पूर्ण प्रतिबद्धता से काम कर रहा है।दिल्ली के लिए हापा और मुंद्रा से  टन244 मीट्रिक टन ऑक्सीजन लेकर 2 और ऑक्सीजन एक्सप्रेस निकली हैं, जिनके आज दिल्ली पहुँचने

मई 2021 में निर्धारित सभी ऑफलाइन परीक्षाएं स्थगित

 

नई दिल्ली - कोविड19 की दूसरी लहर के कारण शिक्षा मंत्रालय ने मई, 2021 महीने में निर्धारित सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को स्थगित करने का आग्रह किया।उच्च शिक्षा सचिव श्री अमित खरे ने केंद्रीय वित्त पोषित संस्थानों के सभी प्रमुखों को संबोधित एक पत्र में संस्थानों से मई, 2021 महीने में होने वाली सभी ऑफलाइन परीक्षाओं को स्थगित करने का आग्रह किया है। हालांकि ऑनलाइन परीक्षाएं आदि जारी रह सकती हैं। इस निर्णय की समीक्षा जून 2021 के पहले सप्ताह में की जाएगी।

संस्थानों को यह सुनिश्चित करने की सलाह भी दी गई है कि यदि संस्थान में किसी को कोई सहायता की आवश्यकता है तो उसे हर संभव तत्काल प्रदान की जानी चाहिए ताकि वह जल्द से जल्द संकट से उबर सके। सभी संस्थानों को पात्र व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि सुरक्षित रहने के लिए सभी कोविड -19 उपयुक्त व्यवहार का पालन करें।

3 मई 2021

सरकार पर कोविड वेक्सीन की नई खरीद न करने की मीडिया रिपोर्ट गलत

 

नई  दिल्ली - हाल की कुछ मीडिया रिपोर्टों में यह आरोप लगाया गया है कि केंद्र सरकार ने कोविड-19 टीकों की नई खरीद के लिए आदेश जारी नहीं किएI इन रिपोर्टों के अनुसार इसके लिए पिछला आदेश दो वैक्सीन निर्माता कम्पनियों को मार्च 2021 में दिया गया था (जिसके द्वारा सीरम इंस्टीटयूट ऑफ़ इंडिया-एसआईआई को 10 करोड़ टीकों और भारत बायोटेक को 02 करोड़ टीकों की आपूर्ति के लिए कहा गया था) I

ये मीडिया रिपोर्टें पूरी तरह से गलत होने के साथ ही तथ्यों पर आधारित नहीं हैं Iयह स्पष्ट किया जाता है कि सीरम इंस्टीटयूट ऑफ़ इंडिया (एसआईआई) को इस वर्ष मई, जून और जुलाई महीनों में कोविशील्ड वैक्सीन की 11 करोड़ खुराकों के लिए शत प्रतिशत अग्रिम भुगतान के रूप में 1732.50 करोड़ रूपये (स्रोत पर कर कटौती के बाद 1699.50 करोड़ रूपये) इस वर्ष 28 अप्रैल 2021 को ही जारी कर दिए गए थे और कम्पनी को यह राशि उसी दिन अर्थात 28 अप्रैल 2021 को ही प्राप्त हो गई थी I कोविशील्ड वैक्सीन की 10 करोड़ खुराकों की आपूर्ति

2 मई 2021

18-44 आयु के 86 हजार लोगों ने टीके लगवाए

 

(18-44 आयु समूह के लाभार्थियों को टीका )
नई दिल्ली - 11 राज्यों में 18-44 आयु समूह के 86,023 नागरिकों  ने कोविड-19 टीके की अपनी पहली खुराक प्राप्त की।18-44 आयु समूह के तहत छत्तीसगढ़ (987), दिल्ली (1,472), गुजरात (51,622), जम्मू एवं कश्मीर (201), कर्नाटक (649), महाराष्ट्र (12,525), ओडिशा (97), पंजाब (298), राजस्थान(1853), तमिलनाडु (527) तथा उत्तर प्रदेश में (15,792) टीके लगाए गए। 

राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण आरंभ होने के साथ देश में लगाये गए कोविड 19 के कुल टीकों की संख्या आज 15.68 करोड़ से पार हो गई।इनमें 94,28,490 एचसीडब्ल्यू शामिल हैं जिन्होंने पहली खुराक ली है जबकि 62,65,397 एचसीडब्ल्यू ने दूसरी खुराक प्राप्त की