September 13, 2019

आगरा के महाराष्‍ट्र समाज ने परंपरागत गणेशोत्‍सव मनाया

अगले वर्ष फि‍र से आने की कामना सहि‍त प्रति‍मा का कि‍या वि‍सर्जन 
गणेशोत्‍सव के अंत में शोभा याात्रा नि‍काल प्रति‍मा का कि‍या
वि‍सर्जन, फोटो:असलम सलीमी  
 आगरा-श्री छत्रपति शि‍वाजी गणेश ट्रस्‍ट के तत्‍वावधान में परंपरागत गणेशोत्‍सव मनाया गया। इस आयोजन की परंपरा 35 वर्ष पूर्व महाराष्‍ट्र मूल के आगरा वासि‍यों के द्वारा की गयी थी। शुरू के वर्षों में यह अपने आप में आगरा वासि‍यों के लि‍ये अलग  कि‍स्‍म का  आयोजन था ,जबकि‍ बाद के वर्षों में बडे पैमाने पर स्‍थानीय स्‍तर पर गणेश पूजा आयोजन शुरू हो गये । लेकि‍न   इसके बावजूद महाराष्‍ट्र मूल के शहरवासि‍यों के द्वारा शुरू की गयी परंपरा अब तक अपनी वि‍शि‍ष्‍ठ पहि‍चान के साथ जारी है।   
  2 सि‍तम्‍बर से शुरू हुए इस आयोजन का समापन 12 सि‍तम्‍बर को प्रति‍मा वि‍सर्जन की रस्‍म के साथ हुआ। बडी संख्‍या में जनभागीदारी वाला यह जुलूस  मदन मोहन गेट मि‍लन वाटि‍का से प्रारंभ होकर फुल्‍लट्टी , सेव का बाजार, कि‍नारी बाजार, रावत पाडा, दरेसी बाजार होता हुआ यमुना कि‍नारे पहुंचा और वहां नगर नि‍गम के द्वारा ईको फ्रेंडली वि‍सर्चन व्‍यवस्‍था के तहत बनवाये गये पवि‍त्र कुंड में 'अगले वर्ष
फि‍र से आना ' की मनौती के साथ प्रतमा का वि‍सर्जन कर दि‍या गया।
श्री सुभाष पाडुरंग वेलकर 
ट्रस्‍ट के अध्‍यक्ष श्री सुभाष पाडुरंग वेलकर चेतक वाले के नेतृत्‍व में सर्वश्री दि‍लीप सर्जेराव देेश मुख, लाला सो महि‍द, मुरलीधर,रवि‍न्‍द्र ,सुनील पाटि‍ल, संजय पवांर, मोहन महाडीक हि‍तेश नि‍कम, तानाजी, मोकाशी, संभाजी पाटि‍ल, अर्जुन नि‍कम आदि‍ प्रमुख रूप से सम्‍मलि‍त थे।