June 16, 2017

शहर के लि‍ये पानी को भी भरपूर यमुना जल जरूरी

--भाजपा की ओर से सि‍ंचाई वि‍भाग को सुझाया गया फार्मूला
दो बैराज फार्मूला ही 'ताज सि‍टी' के लि‍ये माकूल: मेहरा

आगरा: ताज सि‍टी  में एक नहीं, दो बैराज की आवश्यकता है- ”ताज बैराज“ और “आगरा बैराज“। ताजनगरी में पेयजल की समस्या शीघ्र दूर हो एवं ताजमहल के अप्रतिम सौंदर्य में और चार चांद लगें, इसीलिए आगरा के सांसद एवं राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष प्रो0 (डाॅ0) रामशंकर कठेरिया ने पूर्व विधायक, आगरा छावनी श्री केशो मेहरा...
को यह जिम्मेदारी सौंपी है कि श्री मेहरा जनहित में अपनी कार्यकुशलता एवं नेतृत्व क्षमता का उपयोग करते हुए बैराज निर्माण में सहयोग करें।
श्री केशो मेहरा ने इसी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए अधीक्षण अभियन्ता, सिंचाई विभाग, आगरा को एक पत्र लिखा है। पत्र में श्री मेहरा ने लिखा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी आगरा आगमन पर बैराज निर्माण की घोषणा कर चुके हैं। सिंचाई मंत्री श्री धर्मपाल सिंह ने 28 मई 2017 को सर्किट हाउस, आगरा में अधिकारियों के साथ हुई बैठक में यमुना नदी पर बैराज निर्माण हेतु विस्तृत चर्चा की थी। सिंचाई मंत्री श्री सिंह ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि रबर चैकडेम नहीं बनेंगे। साथ ही यह भी विचार हुआ कि लोअर स्ट्रीम में “ताज बैराज“ बनाने हेतु सबसे उपयुक्त स्थल समोगर रहेगा। समोगर में लगभग 6 मीटर पानी का वाटरहेड रहेगा व ताजमहल पर लगभग 3 मीटर वाटरहेड रहेगा, जिससे विश्व के नम्बर एक स्मारक ताजमहल के सौन्दर्य में बढ़ोतरी के साथ-साथ पर्यटकों की संख्या में भी वृद्धि होगी। 
श्री मेहरा ने कहा है कि महानगर की पेयजल समस्या के दीर्घकालीन हल हेतु एक बहुउद्देशीय ”आगरा बैराज“, सिकन्दरा जल संस्थान के निकट अपस्ट्रीम में स्थित गढ़ी बाईपुर के निकट बनाया जाए, जिससे वाटर वक्र्स, जीवनी मंडी व वाटर वक्र्स, सिकन्दरा को प्रचुर मात्रा में जलापूर्ति सुनिश्चित होगी, जिससे आगरा निवासियों की पेयजल की समस्या का दीर्घकालिक हल हो सकेगा। महत्वपूर्ण तथ्य यह भी है कि यह ”आगरा बैराज“ बहुउद्देशीय कार्य करेगा और यह किसानों की सिंचाई एवं भूगर्भ जलसंचयन का भी कार्य करेगा। 
श्री मेहरा का कहना है कि आगरा में पेयजल आपूर्ति सुचारु हो एवं ताजमहल के पीछे जल उपलब्ध रहे, इस हेतु दो बैराज बनाए जाएं, इस सम्बन्ध में दिनांक 9 अगस्त 2016 को श्री प्रवीण प्रकाश, आई.ए.एस., संयुक्त सचिव एवं मिशन निदेशक (एस.बी.एम.), भारत सरकार, शहरी विकास मंत्रालय ने एक पत्र श्री श्रीप्रकाश सिंह, सचिव (शहरी विकास), उत्तर प्रदेश सरकार, लखनऊ को लिखा था।
श्री मेहरा ने पत्र में आगे लिखा है कि सिंचाई मंत्री श्री धर्मपाल सिंह के आगरा दौरे को पंद्रह दिन से अधिक समय हो गया है, विस्तृत आख्या व अनुमानित लागत राशि से मंत्री जी को शीघ्र अवगत कराने का कष्ट करें, जिससे आगामी विधानसभा बजट में अनुमानित लागत राशि का प्रावधान कराया जा सके। 
इस सम्बन्ध में अधीक्षण अभियन्ता, सिंचाई विभाग, आगरा श्री एन0सी0 उपाध्याय ने श्री मेहरा को अवगत कराया कि अधीनस्थ अधिकारियों को आदेश दे दिए गए हैं कि शीघ्र प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेज दें।