June 1, 2015

नयनमोनी ने अपने 18 साल के बेटे से ज्यादा मार्क्स हासिल किए

गुवाहटी। पिछले हफ्ते ही असम में 12वीं बोर्ड (एचएस) का रिजल्ट घोषित हुआ। असम में 12वीं बोर्ड की  परीक्षा  में एक 37 वर्षीय माँ  नयनमोनी बेजबरूह ने अपने 18 साल के पुत्र  से अधिक  मार्क्स हासिल किए। नयनमोनी ने एचएस आर्ट्स में 69.8 प्रतिशत के साथ  प्रथम श्रेणी पर रहीं ।
इस माँ  को अपने फर्स्ट डिवीजन हासिल करने से ज्यादा इस बात पर दुख जतय  कि उनका पुत्र अंकुर बड़ी मुश्किल से थर्ड डिवीजन ही  पास हो पाया। अंकुर चार बच्चों में सबसे बड़ा है और अपने पिता के साथ सब्जी बेचता  है। नयनमोनी ने बताया कि उसे परीक्षा पास करने की बहुत इछा थी इसी कारण वह रात को अपने सबसे छोटे बच्चे को सुलाने के बाद पढ़ाई करती थी। वे सुबह 4 बजे उठकर घर का सारा खत्म करती थी और फिर 12 किलोमीटर
दूर साइकिल से स्कूल जाती थी। स्कूल के प्रिंसिपल सोनतोरा गोगोई का कहना है कि नयनमोनी उन महिलाओं के लिए प्रेरणा है जो अपने परिवार के लिए पढ़ाई का त्याग कर देती हैं।