February 1, 2020

आस्‍ताना मैकश से सुवासि‍त बसंत और उमंग से सुवासि‍त हुआ 'आगरा'

-- शायर शाहि‍द नदीम को नवाजा गया 'नजीर अकबरावादी अवार्ड '
सम्‍मानि‍त शायर शाहि‍द नदीम और और अशोक रावत आदि के 
साथ अजमल अली शाह । फोटो : असलम सलीमी
आगरा: मेवा कटरा स्‍थि‍त आस्‍ताना मैकश हर वर्ष की भांति‍ इस साल भी 'जश्‍ने बसंत' कार्यक्रम का आयोजन कि‍या गया।इस अवसर पर सूफी -अजीम शायर हजरत अमीर खुसरो नि‍याज बेनि‍याज ,मुहम्‍मद शाह'राज', के अलावा जनकवि‍ नजीर अकबरावादी, और उल्‍लमा मैकश अकबराबादी की रचनाओं को इप्‍टा और जनकला मंच के कलाकारों द्वारा गायन व भावाभि‍नय के साथ प्रस्‍तुत कि‍या गया। 
आयोजन की शुरूआत नजीर अकबरावादी की भक्‍ति‍ रचना 'भूल ठि‍ठक संग लगा ले हठ का बैराग'से जहां कार्यक्रम शुरू हुआ वहीं और ' अज रंग है री मां रंग है'के साथ समाप्‍त हुआ। 
भगवान स्‍वरूप ने नजीर के भजन ,बंजरानामा और मेकश अकबरावादी की गजलों को स्‍वर दि‍या तो कमल गौस्‍वामी ने बुढापा ,यश उप्रैती 'जाडे की बहारे' ओर मानस रघुवंशी ने ने कोरा बर्तन पर भावअभि‍नय कि‍या। जूहीति‍वारी ने 'होली'गाकर फाग के मौसम का अहसास करवाया। सर्वश्री हैदर अली शाह 'हि‍न्‍द अकबराबादी' डा जी यू कुरैशी, शमीम अहमद शाह, श्रीमती भावना जि‍तेन्‍द्र रघुवंशी, सुश्री राधि‍का सक्‍सेना, राकेश जैन, अनि‍ल जैन, प्रमोद सारास्‍वत,
अमीर अहमद एडवोकेट, भईया जाहि‍द हुसैन,असलम पठान, चरत सि‍ह, नकी अली, शाहरुख,डा वि‍जय शर्मा आदि ने भी अपने अपने अंदाज में आयोजन सांस्‍कृति‍क एवं वैचारि‍क अभि‍व्‍यक्‍ति‍यां की।
इस अवसर पर शायर शाहि‍द नदीम को नजीर अकबरावादी अवार्ड प्रदान कि‍या गया ।कार्यक्रम के मुख्‍याति‍थि‍ और वि‍शि‍ष्‍ठ अति‍थि‍ समाज सेवी चौधरी ऐजाज उद्दीन कुरैशी को सम्‍मान स्‍वरूप स्‍मृति‍ चि‍न्‍ह भेंट कि‍ये गये।सदभवना-भाईचारा को समर्पि‍त  इस आयोजन के अवसर पर राष्‍ट्रपि‍ता महात्‍मागांधी,नाट्य पि‍तामाह राजेन्‍द्र रधुवंशी और लेखक कलाम अहमद को भी श्रद्धासुमन अर्पि‍त कर राष्‍ट्र की खुशहली की कमना की गयी।  जलसे की सदारत अजमल अली शाह नि‍याजी द्वारा की गयी जबकि‍ संचालन वि‍शाल रि‍याज के द्वारा और अभार अभि‍व्‍यक्‍ति‍ शब्‍बर अली शाह के द्वारा की गयी। पूर्व में अति‍थि‍यों का स्‍वागत मोहशि‍म अली फाइज के द्वारा कि‍या गया। कार्यक्रम की व्‍यवस्‍था में एजाज एवं सनी जावेद सहभागी थे।