January 4, 2020

अस्पतालों में बच्चों की की मौतों का सिलसिला कब रुकेगा

पहले गोरखपुर अब कोटा, कब तक मौत होती रहेगी इस तरह अस्पतालों में बच्चों की। हाल ही में भारत के राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने राजस्थान के कोटा जिले में एक सरकारी अस्पताल में दिसंबर, 2019 के महीने में 100 से अधिक बच्चों की मौत के बारे में मीडिया रिपोर्टों का संज्ञान लिया है। 100 बच्चों में से 10 बच्चों की मृत्यु 23 से 24 दिसंबर, 2019 के बीच 48 घंटे में हो गई थीं। कथित तौर पर, अस्पताल में स्थापित 50 फीसदी से अधिक गैजेट खराब हैं और अस्पताल में गहन देखभाल और बुनियादी सुविधाओं की कमी है, अस्पताल में सफाई की कमी और आधारभूत सुविधाओं का अभाव है, जिसमें गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी शामिल है।
 आयोग ने राजस्थान सरकार के मुख्य सचिव को इस मामले में चार सप्ताह के भीतर एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने, इस मुद्दे को हल करने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में विवरण देने और यह सुनिश्चित करने के लिए नोटिस जारी किया है कि अस्पतालों में बुनियादी सुविधाओं और स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से भविष्य में बच्चों की इस तरह की मौतों की पुनरावृत्ति न हो।