November 5, 2019

सि‍वि‍ल एन्‍कलेव के मामले में कुछ जनप्रति‍नि‍धि‍यों ने आगरा को भारी धक्‍का पहुंचाया

आगरा। पर्यटन सत्र शुरू हो चुका है कि‍न्‍तु आगरा को जन पहुंच सहज करने को 2012 से बनाये जाने को प्रस्‍तावि‍त नया सि‍वि‍ल एन्‍कलेव नहीं मि‍ल सका है। आश्‍चर्य और आगरा वासि‍यों के लि‍ये सबसे अफसोस  जनक तथ्‍य यह है कि‍ प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने दि‍ल्‍ली की गद्दी पर बैठने के पूर्व शहरवासि‍यों को भ्रमि‍क कि‍या था कि‍ आगरा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट होना चाहि‍ये लेकि‍न सत्‍तासुख लगातार छै साल  भोगने के बावजूद अपने वायदे और आगरा की जरूरत को भूल चुके है। मोदी है तो मुमकि‍न है नारा  कम से कम आगरा के परि‍प्रेक्ष्‍य में तो नि‍हायत गलत साबि‍त हुआ है। इस सम्बन्ध में सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा द्वारा आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में सोसाइटी के पदाधिकारियों शिरोमणि सिंह,  राजीव सक्सेना, अनिल शर्मा,श्रीमती मनोज दीक्षित ने आरोप लगाया कि सि‍वि‍ल एन्‍कलेव को वायुसेना स्‍टेशन से बाहर कर धनौली मे लेजाय जाने की योजना को आगरा के  कुछ जनप्रति‍नि‍धि‍यों ने भी भारी धक्‍का पहुंचाया है।