July 3, 2018

मुम्‍बई में अंधेरी स्‍टेशन के निकट रोड ओवर ब्रिज का एक हिस्‍सा रेल की पटरियों पर गिरा

पश्चिमी रेलवे के मुम्‍बई डिवीजन के विले पार्ले-अंधेरी सेक्‍शन में  प्रात: लगभग 7:30 बजे अंधेरी रेलवे स्‍टेशन के निकट स्थित रोड ओवर ब्रिज,जिसे पैदल यात्रियों की आवाजाही के लिए बनाया गया है,का एक हिस्‍सा ढहने के बाद रेल की पटरियों पर गिर गया जिससे किलोमीटर 21/7 पर स्थित ओवरहेड इलेक्‍ट्रि‍क लाइनें क्षतिग्रस्‍त हो गईं। इस हादसे की वजह से गोरेगांव और बांद्रा स्‍टेशनों के बीच दोनों ही तरफ से रेलगाडि़यों की आवाजाही थम गई। इस हादसे में 5 लोग घायल हो गए हैं। घायलों को तुरंत कूपर अस्‍पताल में भर्ती करा दिया गया है। रेलवे के डॉक्‍टरों की विशेष मेडिकल टीम घायलों की देख-रेख में जुट गई है। एनडीआरएफ, आपदा प्रबंधन टीम, अग्नि शमन, पश्चिमी रेलवे के अपर महाप्रबंधक, मुम्‍बई डिवीजन के मंडल रेल प्रबंधक और रेलवे के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारीगण इस रूट पर रेल सेवाओं को बहाल करने के लिए घटनास्‍थल पर पहुंच गए हैं।

इस हादसे की वजह से पश्चिमी उपनगरीय रूट के यातायात को गोरेगांव स्‍टेशन और बांद्रा स्‍टेशन के बीच रोक दिया गया है। वि‍रार एवं गोरेगांव स्‍टेशनों और बांद्रा एवं चर्चगेट स्‍टेशनों के बीच लोकल ट्रेनों की आवाजाही सामान्‍य रूप से हो रही है। इस हादसे के कारण ओवर हेड इक्‍वि‍पमेंट (ओएचई) लाइनें क्षतिग्रस्‍त हो गई हैं। पश्चिमी सर्किल के आयुक्त रेलवे सुरक्षा (सीआरएस) को इस हादसे की जांच की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। बोरीवली-बांद्रा स्टेशनों के बीच फंसे पड़े यात्रियों की सुविधा के लिए पश्चिमी रेलवे द्वारा 27 बसों की व्‍यवस्‍था की गई है। इन यात्रियों के लिए खाने-पीने का भी इंतजाम किया गया है। पश्चिमी रेलवे एफएम चैनलों, सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्मों जैसे कि ट्विटर, फेसबुक के जरिए यात्रियों को इस बारे में अद्यतन जानकारी सुलभ करा रही है। इस खंड पर अपराह्न 14:00 बजे तक हार्बर लाइनों (अंधेरी-विले पार्ले) के अवरोध मुक्‍त हो जाने की आशा है जिसके बाद गोरेगांव एवं चर्चगेट और गोरेगांव एवं सीएसएमटी के बीच रेलगाडि़यों की सीधी आवाजाही शुरू हो जाएगी। दोनों ही तरफ से रेलगाडि़यों की आवाजाही के लिए द्रुतगामी (फास्‍ट) लाइनों और सबअर्बन ट्रैक एवाउडिंग (एसटीए) लाइनों के शाम 19:00 बजे तक खुल जाने की आशा है। इसी तरह दोनों ही तरफ से रेलगाडि़यों की आवाजाही के लिए धीमी लाइनों के मध्‍यरात्रि के खुल जाने की आशा है। इस हादसे की वजह से लंबी दूरी की कुछ रेलगाडि़यों का परिचालन प्रभावित हुआ है और इन्‍हें विनियमित/रद्द कर दिया गया है।