January 24, 2018

' विद्वता और सहजता की प्रतिमूर्ति थे हिन्‍दी को प्रतिबद्ध प्रो सुरेश चन्‍द्र शर्मा '

--नागरी प्रचारिणी सभा केपूर्व सभापति डा सुरेश चन्‍द्र शर्मा की श्रद्धांजलि 
(स्‍व प्रो.सुरेश चन्‍द्र शर्मा)
आगरा:प्रो सुरेश चन्‍द्र शर्मा  न केवल हिन्‍दी की सेवा करने के साथ साथ उन संस्‍कारों के प्रचार और व्‍यापक बनाने में भी लगेरहे जिन्‍हें विश्‍व भारतीयता की विशिष्‍ठ पहचान केरूपमें जानता है , यह कहना था उन साहित्‍यकार,शिक्षा विदों तथा हिन्‍दी सेवियों का जोकि नागरी प्रचारिणी सभा के मानस भवन सभागार में उन्‍हें श्रद्धासुमन अर्पित कर रहे थे। 
प्रबुद्धजनों  ने अपनी स्‍मृतियों को ताजा कर उन्‍हें एक ऐसी सख्‍शियत बताया जो कि शहर में रहने के बावजूद  ग्रामीण संस्‍कृति से कभी दूर नहीं हो सके । अपनी सादगी,स्‍पष्‍ट विचार और दूसरों की मदद करने को तत्‍पर रहना उनके व्‍यक्‍तित्‍व में शामिल थीं। प्रख्‍यात कवि श्री सोम ठाकुर एवं  सभा के उपाध्‍यक्ष डा गिरीश चन्‍द्र शर्मा की
संयुक्‍त अध्‍यक्षता में तीन घंटे तक चली सभा में चौधरी सुखराम सिंह, सैंटजोंस कॉलेज की हिन्‍दी विभागाध्‍यक्ष डामधुरिमा शर्मा,आगराकॉलेज के पूर्व प्राचार्य डा मनोज रावत, श्री नरेन्‍द्र सिंह यादव डा श्री भगवान शर्मा,आर बी एस कॉलेज के आसुतष द्विवेदी,डा मधु भारद्वाज आदि ने प्रो शर्मा के शिक्षा जगत से जुडी उन यादों को ताज किया जो वे अपने लिये लिये न भूले जा सकेने वाले अनुभव मानते हैं।
सर्वश्री डा देवी सिंह नरवार,डा सूरजमुखी, डा रामदयाल कटारा,राजकुमार पथिक, फकीरचन्‍दशर्मा,अजीत सिंह फौजदार,डीपी एस के श्री  विश्‍वनिधि आनन्‍द गौतम,डा राकेश सक्‍सेना,सुनीता रानी अनीता अग्रवाल,रमेशश पंडित, डा सुनीता रानी,डा 
अखिलेश श्रोत्रिय,राज किशोर सिंह,डा अमी आधार निडर आदि भी श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में शामिल थे।सभा के  मंत्री एवं डा सुरेश चन्‍द्र शर्मा के पुत्र डा चन्‍द्रशेखर शर्मा एवं अन्‍य परिवारीजन मौजूद रहे।
सभा का संचालन सभा के उपाध्‍यक्ष  डा खुशीराम शर्मा द्वारा किया  गया ।