December 30, 2017

आस्‍ताना आलिया कादरी पर चला फातिहा -जश्‍न

--महफिले समां में रहा इबादत का  जज्‍वा 
आस्‍ताना आलिया पर रहा अकीदमन्‍दों का दो दिनी मेला।
                                        फोटो: असलम सलीमी 

आगरा: पीराने -पीर हजरत मुहीनउद्दीन अब्‍दुल कादिर जीलानी बडे पीर सहाब रहमत तुल्‍ला हुजूर सल्‍लाहो अलेह बस्‍सलम की ग्‍यारहवीं उएसानी की फातिहा जश्‍न और शानेशौकत के साथ मनाया गया,जिसे ज्‍यादातर लोग गयारवीं शारीफ के नाम से जानते हैं। सेव का बाजार में मेवा कटरा स्‍थित आस्‍ताना आलिया कादरी के प्रांगण में दो दिन चले इस मजहबी जश्‍न में स्‍थानीय अकीदमन्‍दों के अलावा विदेश से भी आये तमाम मुरीदों
ने आस्‍था जतायी। मुरीदों के लिये 'अलम शरीफ' दर्शनार्थ प्रदर्शित किया गया जो कि इस अवसर का खास परंपरागत आकर्षण होता है। इसे 1225 हिजरी पूर्व बगदाद शरीफ से लाया गया था । 

इस मौके पर महफिले समां का भी  आयोजन हुआ जिसमें  अजमेर शरीफ से हमजा चिश्‍ती, ,फतेहपुर सीकरी से रईस मियां चिश्‍ती, ग्‍वलियर से शौकतमियां, फीरोजाबाद से गुलाम समदानी, हैदर अली शाह,,असद अली सैय्यद, मैराज उद्दीन, अलीगढ से फसीउद्दीन, सालार इरुान, अहमद सलीम,समीआगाई, अशफाक अहमद ,सिराज अहमद, मुबीन मियां, आलमअहमद जमा, महमूद जमा, ,अदीब अहमद शाह नदीम अहमद ,हाशमी मुजाहिद आदि ने शिरकत की। संचालन श्‍मीम शाह के द्वारा किया गया । इस अवसर पर लंगर का आयोजन भी किया गया । 
उल्‍लेखनीय है कि पूर्व में यह मजहबी आयोजन रेशम कटरा तजगंज मेंआयोजित होताथा बादमें इसे आस्‍ताना आलिया मावा कटरा में मौजूदा स्‍थान पर स्‍थापित किया गया तब से यह यहीं पर होरहाहै ।