August 6, 2017

समाज की शराब से रक्षा करने का संकल्प लें

-- वायोबृद्ध  गांधीवादी नेता को ‘जी जी नर्सिग होम’ में भर्ती करवाया 
स्‍वतंत्रता सेनानी चि‍म्‍मन लाल जैन जी जी नर्सि‍ग होम  में
आगरा: ‘नशाखोरी सबसे बडी चुनौती है , समाज को इससे बचायें ‘ यह कहना है प्रख्यात गांधीवादी- सर्वोदयी नेता श्री चि‍म्मन लाल जैन का जो कि‍ रक्षाबंधन की पूर्व वेला में देश की मौजूदा स्थिति‍ पर बोल रहे थे। उम्र के नि‍न्या‍नवें साल में भी खादी के प्रति‍ स्वादेशी  और शराब की आदत को अभि‍शाप मानने का जज्बा रखने वाले वायोबृद्ध नेता का कहना है कि‍ सरकार शराब को खजाने को राजस्व जुटाने का माध्यम बनाये रखकर समाज में वि‍संगति‍यां बढा रही है।
श्री चि‍म्मन लाल पि‍छले दो दि‍न से पुलि‍स की नि‍गरानी में संजय प्लेस
स्थिा‍त जी जी नार्सि‍ग होम में भर्ती रहे।शराब बंदी के प्रवल पक्षधर श्री जैन सरकार के द्वारा खुद अपने मानकों अनदेखा कर चलने दी जा रही शराब की दूकानों को लेकर खास तौर पर खफा हैं। अस्पताल में भर्ती करवाये जाने से पूर्व दो दि‍न तक वह घर पर शराब बंदी आंदोलन के क्रम में अपने पथवारी स्थिा‍त नि‍वास पर अन्न  जल त्याग कर नि‍राहर उपवास पर थे। प्रशासन ने उनके उपवास को संज्ञान में लेकर पुलि‍स की नि‍गरानी में पहले सरकारी अस्प‍ताल मे भर्ती करवाने का प्रयास कि‍या कि‍तु बाद में उम्र अधि‍कता और स्वास्थ्‍य  की नाजुक स्थिति‍ को दृष्टिा‍गत जी जी नर्सिंग  होम में भर्ती हो जाने दि‍या । गांधी जी के नेतृत्व में वि‍देशी सामान की होली जलाने और शराब की दूकानों के सामने पि‍कैटि‍ग करने के अनुभवी श्री चि‍म्मन लाल सेंटपीटर्स कालेज सहि‍त जनपद के सौ से ज्यादा स्कूलों में नशे बन्दी के खि‍लाफ सभाये कर चुके हैं तथा दर्जनों गांवों गांवों शराब वि‍रोधी प्रदर्शन व सत्संग  कर चुके हैं।अस्‍पताल में उनकी देख रेख करं रहीं उनकी पुत्रबधुु श्रीमती मंजू   जैन ने बताया कि‍ हालत मेंं लगातार  सुुुुधार हो रहा है।   सूरस्‍मारक मंडल के सचि‍व श्री भुवनेश श्रोत्रि‍य ने मुलाकात के दौरान उनके दीर्घ जीवन की कामना कर अन्‍नजल त्‍याग जेसे संकल्‍पों से अपने को दूर रखने का आग्रह कि‍या।