November 13, 2016

आगरा से इंटरनेशनल एयरपोर्ट छीनने के मकसद को सुर्खियों में लाने की छुपी कोशिश


आम जनता के लिये 22 नवम्‍बर से खुल जायेगा लखनऊ – आगरा एक्‍सप्रेस वे     
आगरा : लखनऊ आगरा एक्‍सप्रेस वे 22 नवम्‍बर से आम जनता के लिये खुल जायेगा, उद्घाटन कार्यक्रम से एयर शों को जोडे जाने से सपा सरकार के द्वारा आगरा में बनने को प्रस्‍तावित इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्रोजेक्‍ट को मैनपुरी के सैफई गांव ले जाये जाने की छुपी कोशिशों को सुर्खियों में लाये जाने का प्रयास भी होगा।
मुख्य मंत्री अखिलेश यादव दीपावली मनाने अपने गांव सैफई जाते समय इसका उपयोग खुद कार ड्राइवर के रूप में इसकी गुणवत्‍ता के प्रति आश्‍वस्‍त हो चुके हैं। जनता के लिये औपचारिक रूप से इसे जनता के लिये खोले जाने की औपचारिकता वह 21 नवम्‍बर को उन्नाव जिले के गंज मुरादाबाद आयोजित उद्घाटन कार्यक्रम में करेंगे। 11 फाइटर प्लेन एक्सप्रेस-वे पर उतारे जाएंगे। वायुसेना के मध्य कमान के चीफ एयर मार्शल राजेश इस्सर से यू पी सरकार के कई वरिष्‍ठ
अधिकारी मिल आये हैं।
अगर वायु सेना के द्वारा सुझाये गये सभी मानक पूरे हुए तो एयर शो होना तय है। केन्‍द्र सरकार प्रदेश सरकार के हर मामले में रोड़े लगाती है किन्‍तु एयर शों के मामले में पूरी उदार है।केन्‍द्रीय पर्यटन राज्‍य मंत्री महेश शर्मा की इस आयोजन को लेकर खास तत्‍परता मानी जा रही है। मुख्‍यमंत्री एक्‍सप्रेस वे के निर्माण से सैफई हवाई पट्टी को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाये जाने की महत्‍वकांक्षी योजना को परोक्ष और अपरोक्ष रूप से जोडे रखने का अहसास करवाने का कोई मौका नहीं छोडना चाहते हैं। वहीं केन्‍द्रीय पर्यटन मंत्री की मनसा भी इंटरनेशनल एयर पोर्ट प्रोजैक्‍ट आगरा से खिसकवाकर सैफई या किसी भी एसे  अन्‍य स्‍थान ले जाये जाने के प्रयासों को आंतरिक रूप से बल प्रदान किये जाने की है। जिससे कि जैबर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनवाये जाने के प्रयास में आगरा के कारण मिनीमम एरियल डिस्‍टैंस 150 कि मी के प्रतिबंध की सीमा का अब तक चलता रहा संशय समाप्‍त हो सके। 
उल्‍लेखनीय है कि लखनऊ से आगरा के बीच इस एक्‍सप्रेस वे की दूरी  302 किलोमीटर है। एक्‍सप्रेस वे  के  मुख्‍य उद्घाटन कार्यक्रम का स्‍थान जरूर  गंज मुरादाबाद  चुना गया हैवैसे अन्‍य कई स्‍थानों पर भी सपाई स्‍थानीय प्रशासन के सहयोग से इस अवसर को सैलीब्रेट करने की योजना बनाये हुए हैं।