May 26, 2020

ट्रेसिंग ऐप ' अरोग्य सेतु ' के इस्तेमाल करने वालों की संख्या भारत में पहुंची 114 मिलियन

भारत ने ब्लूटूथ आधारित संपर्क ट्रेसिंग तथा संभावित हॉटस्पॉट्स के मानचित्र को सक्षम करने और COVID19 के बारे में प्रासंगिक जानकारी के प्रसार के उद्देश्य से COVID19 के प्रसार को रोकने  में मदद  के लिए  2 अप्रैल 2020 को अरोग्य सेतु मोबाइल ऐप लॉन्च किया था । 26 मई को ऐप के 114 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं, जो दुनिया में किसी भी अन्य संपर्क ट्रेसिंग ऐप से अधिक हैं । App 12 भाषाओं में और Android, iOS और KaiOS प्लेटफार्मों पर उपलब्ध है। देश भर के नागरिक स्वयं, अपने प्रियजनों और राष्ट्र की रक्षा के लिए आरोग्य सेतु का उपयोग कर रहे हैं। कई युवा सेतु को अपना अंगरक्षक भी कहते हैं। आरोग्य सेतु के स्रोत कोड को अब खुला स्रोत बना दिया गया है। लगभग 98% आरोग्य सेतु उपयोगकर्ता एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर हैं।

खुशहाली की बहाली की दुआओं के साथ ईद भी मनाई गयी लॉक डाउन' ताज सि‍टी में

-- सेवई,सौहार्द,सोशल डि‍स्‍टैंसि‍ग रही हर गली नुक्‍कड पर 
ईद पर की गयीं भाईचारा,खयाहाली की बहाली की दुआऐं
आगरा: सामन्य रूप से अमन और भाईचारे की दुआ को समर्पित रहता आया हंसी खुशी से भरपूर त्योहार ' ईद उल फितर ' पर आवाम की सेहदबन्दी की दुआओं भी की गयी। व्यंजन,कपडों और मेल मुलाकातें की रबायत से हटकर दुआ सलाम की प्रतीकात्मक रस्मों तक ही सीमित रहा। कोरोना संक्रमण से बचने के लिये अमल  में लायी जा रही हिदायतो का  देश के दूसरे हिस्सों की तरह ताज सिटी के हर गली मौहल्ले में अमल किया गया। 
 महानगर पिछले दो महीने से लॉकडाउन में है और अगर लोग स्वयं सेवी भाव से सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सचेत नहीं हैं तो पुलिस उनका पालन करवा रही है।

May 25, 2020

शाही लीची और जर्दालु आम डाक द्वारा पहुंचेंगे घर तक


लॉकडाउन के कारण लीची और आम के उत्पादकों को फलों को बेचने के लिए परिवहन की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।भारत सरकार के डाक विभाग और बिहार सरकार के बागवानी विभाग ने लोगों के दरवाजों तक शाही लीची और जर्दालु आम की आपूर्ति करने के लिए हाथ मिलाया है। बिहार पोस्टल सर्किल ने बिहार सरकार के बागवानी विभाग के साथ मुजफ्फरपुर से शाही लीची और भागलपुर से जर्दालु आम की लॉजिस्टिक्स करने तथा इसकी लोगों के दरवाजों तक प्रदायगी करने के लिए एक करार किया है।
ऑनलाइन बुकिंग तथा दरवाजों तक प्रदायगी की सुविधा उत्पादकों तथा किसानों को सीधे तौर पर इस नए बाजार में अच्छा लाभ अर्जित करने में मदद करेगी। ग्राहकों को भी कम कीमत पर अपने दरवाजों तक इन ब्रांडेड फलों को प्राप्त करने

आगरा के उद्योगपति पूरन डावर ने अविष्कार की ' साईकल पर चाय की दुकान '

( पूरन डावर , रविंद्र पाल सिंह   के साथ )
आगरा के प्रमुख शू निर्यातक व समाजसेवी पूरन डावर  ने   ऐसी  भविष्य की साईकल डिज़ाइन की है  जिसके द्वारा  बहुत से बेरोज़गार लोग अपनी  कमाई  का साधन बना  सकते  हैं। स्वास्थ्यकारी नियमों के पालन करने वाली   इस साईकल में विभिन्न प्रकार की चाय कॉफ़ी के साथ बिस्कुट,समोसे रखने की  आकर्षण  व्यवस्था है, साथ ही इस  साईकल की कीमत भी अधिक नहीं है, ताकि कर्मठ लोग इसके जरिये छोटा सा व्यापार शुरू कर सकते हैं। आगरा के प्रमुख  फुटवियर निर्माता तथा उद्योगपति श्री डावर एक व्यापक रूप से यात्रा करने वाले व्यक्ति हैं और तीन दशकों से अधिक समय से जूता उद्योग से जुड़े हुए हैं। उन्होंने COVID-19 राहत कोष में 90 लाख रुपये का दान भी दिए थे । उन्होंने वायरस के कठिन समय में  जरूरतमंदों की मदद करने की भरपूर कोशिश कर रहे हैं।    

May 24, 2020

विदेशों में फंसे भारतीय अब लौट सकेंगे घर


नई  दिल्ली - देश के बाहर फंसे भारतीय नागरिक तथा  भारत में फंसे  लोगों की अब आवाजाही  हो सकेगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस सम्बन्ध में एक मानक परिचालन प्रोटोकॉल (एसओपी) जारी किया है।  जो जरूरी कारणों से विदेश यात्रा करने के इच्छुक हैं। यह आदेश इसी विषय पर एमएचए के 05 मई, 2020 के आदेश का अधिक्रमण करेगा यानी उसका स्‍थान लेगा। ये एसओपी भूमि सीमाओं के जरिए आने वाले यात्रियों पर भी लागू होंगे।
कोविड-19 महामारी के फैलाव को रोकने के उद्देश्‍य से लॉकडाउन उपायों के तहत यात्रियों की अंतर्राष्ट्रीय यात्रा पर पाबंदी लगा दी गई है। उपलब्ध सूचनाओं के अनुसार, ऐसे कई भारतीय नागरिक हैं जो रोजगार, अध्ययन,इंटर्नशिप, पर्यटन एवं व्यवसाय  जैसे विभिन्न उद्देश्यों से लॉकडाउन लागू

May 23, 2020

कोविड-19 से लड़ने के लिए कांगड़ा चाय पियें

कोविड-19 से लड़ने के लिए संशोधित प्रोटोकॉल में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) द्वारा प्रतिरोधक क्षमता में सुधार और उपचार के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (एचसीक्यू) के स्थान पर एचआईवी-रोधी दवा के उपयोग की संभावना व्यक्त की जा रही है। दूसरी ओर, अब कहा जा रहा है कि एचआईवी-रोधी दवाओं की तुलना में चाय रसायन भी प्रतिरक्षा बढ़ाने और कोरोना वायरस गतिविधि को अवरुद्ध करने में अधिक प्रभावी हो सकते हैं। हिमाचल प्रदेश के पालमपुर में स्थित हिमालय जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान (आईएचबीटी) के निदेशक डॉ संजय कुमार ने इस तथ्य का खुलासा किया है। कांगड़ा चाय के बारे में बोलते हुए यह बात उन्होंने अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के मौके पर आईएचबीटी में आयोजित एक वेबिनार के दौरान कही है।

May 22, 2020

ओसीआई कार्डधारकों को भारत वापस आने की अनुमति

नई दिल्ली - केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोविड-19 के मद्देनजर लगाई गई वीजा और यात्रा पाबंदियों में ढील देते हुए विदेश में फंसे कुछ श्रेणियों के ओसीआई (भारत के प्रवासी नागरिक) कार्डधारकों को भारत वापस आने की अनुमति दे दी है। विदेश में फंसे  ऐसे छोटे बच्चे, जिनका जन्‍म विदेश में भारतीय नागरिकों के यहां हुआ है और जो ओसीआई कार्ड धारक हैं।
ऐसे ओसीआई कार्डधारक जो परिवार में मृत्यु जैसी आपात स्थितियों के कारण भारत आना चाहते हैं। ऐसे जोड़े जिनमें से एक यानी पति या पत्नी ओसीआई कार्डधारक है एवं दूसरा भारतीय नागरिक है और उनका भारत में एक स्थायी निवास है।
विश्वविद्यालयों के ऐसे विद्यार्थी जो ओसीआई कार्डधारक हैं (कानूनी रूप से नाबालिग नहीं हैं), लेकिन जिनके माता-पिता भारत में रहने वाले भारतीय नागरिक हैं।

May 21, 2020

खादी मास्क की विदेशी बाजारों में दस्तक

व्यापक रूप से लोकप्रिय खादी फेस मास्क वैश्विक होने के लिए तैयार है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा सभी प्रकार के गैर-चिकित्सा, गैर-सर्जिकल मास्क के निर्यात पर प्रतिबंध हटा लिए जाने के बाद, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) अब विदेशों में खादी कॉटन और रेशम फेस मास्क के निर्यात की संभावनाओं का पता लगा रहा है। 

यह कदम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान को ध्यान में रखते हुए स्थानीय से वैश्विक आह्वान के कुछ दिनों बाद उठाया गया है। कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान फेस मास्क की अत्यधिक मांग को ध्यान में रखते हुए, केवीआईसी ने क्रमशः दो स्तरीय और तीन स्तरीय कॉटन के साथ-साथ सिल्क फेस मास्क को विकसित किया है, जो पुरुषों के लिए दो रंगों में और महिलाओं के लिए कई रंगों में उपलब्ध है।