April 27, 2017

विनोद खन्ना चले गए, छोड़ गए गुरदासपुर की जनता की आँखों में आंसू ही आंसू

कौन भूल सकता है विनोद खन्ना की  मेरा गांव मेरा देश,मेरे अपने, जेल यात्रा, मुकदर का सिकंदर, इंकार, अमर अकबर एंथनी, राजपूत, कुर्बानी, खुदरत और दयावान उनकी यादगार फिल्‍मे,जिनमें किये गये उनके अभियन को लोग हमेशा याद रखेंगे।  विनोद खन्‍ना भारतीय जनता पार्टी से पिछले 20 वर्षों से जुड़े रहे। वाजपेयी जी की सरकार में वे केन्‍द्रीय मंत्री भी रहे। वर्तमान में गुरदासपुर से सांसद  खन्‍ना के निधन से भारतीय जनता पार्टी और गुरदासपुर की जनता को बहुत हानि पहुंची है।सूचना एवं प्रसारण मंत्री नायडू ने विनोद खन्‍ना की मौत को  अपूरणीय क्षति बताया ।
प्रसिद्ध सिनेमा कलाकार और सांसद विनोद खन्‍ना का जन्‍म एक व्‍यापारिक परिवार में छह अक्‍टूबर 1946 को पेशावर में हुआ, लेकिन देश के विभाजन के बाद उनका परिवार मुंबई आकर बस गया। विनोद खन्‍ना ने अपने फिल्‍मी सफर की शुरूआत 1968 में

April 26, 2017

भाईचारा, तहजीब की मिसाल थे ‘मैकश अकबराबादी’

--सैय्यद इख्तिजयार जाफरी किये गये सम्मानित 

मैकश अकबरा बादी का मनाया गया 25वां स्‍मृति समारोह
                         फोटो:असलम सलीमी
आगरा:प्रख्याहत सूफी शायर मैकश अकबराबादी का साहित्य  आमलोगों की सहज पहुंच के लायक बनाया जाये और इसका अनवरत प्रकाशन हो, यह कहना है डा जहांगीर खान अलवी का जो कि  की पच्चीासवीं पुण्यम तिथि पर संजय प्लेकस स्थिात यूथ हॉस्टि ल में जनकला मंच के तत्वावधान में


April 25, 2017

रामदेव का स्वास्थ बिल्कुल ठीक,एक्सीडेंट वाली तस्वीर पुरानी

योग गुरु बाबा रामदेव  सुरक्षित और स्वस्थ हैं।रामदेव ने  अपने एक्सीडेंट की सोशल मीडिया पर फैली खबर का ट्विटर पर खंडन किया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर छपे अपने स्ट्रेचर पर लेटे चित्रों को फर्जी बताया है।  रामदेव के प्रवक्ता ने कहा वह बिलकुल ठीक ठाक हैं और उन्हें  हरिद्वार के   योग शिविर में  सम्बोधित करते हुए भी देखा गया। उनके प्रवक्ता ने कहा  बाबा रामदेव के एक्सीडेंट वाले फोटो  को सोशल  शेयर किया जा रहा था इसकी वास्तविकता कुछ और है , यह  पुरानी तस्वीर है। यह तस्वीर बाबा रामदेव के अनशन के समय की  है। रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारवाला ने बताया कि वॉट्सऐप और फेसबुक वायरल हो रही खबर अफवाह है और उनका स्वास्थ  बिल्कुल ठीक है।

April 24, 2017

हिंदी थोपने के आरोप निराधार - नायडू

सरकार का किसी भी व्यक्ति पर कोई भाषा थोपने की मंशा नहीं है कहा सूचना और प्रसारण मंत्री  वेंकैया नायडू ने। उन्होंने कहा "मुझे कुछ समाचार पत्रों में छपी  रिपोर्टों को पढ़कर दुख हुआ है। इन खबरों में डीएमके नेता श्री एन. के. स्टालिन का हवाला देते हुए आरोप लगाया गया है कि केंद्र सरकार हिंदी थोप रही है" .श्री स्टालिन का हवाला देते इन खबरों में कहा गया कि संसदीय समिति (राजभाषा) ने हिंदी जानने वाले संसद सदस्यों और केंद्रीय मंत्रियों के लिए भाषणों और लेखों में हिंदी के उपयोग को अनिवार्य बनाने का प्रस्ताव किया। खबरों में आगे आरोप लगाया गया है कि इस संबंध में अध्यादेश जारी किया गया है यानी सरकार हिंदी थोप रही है।

अखिलेश को अध्यक्ष पद से हटाने की उठती आवाजें

सपा का उत्तर प्रदेश में करारी हार के बाद अखिलेश को अध्यक्ष पद से  हटाने की  अंदुरनी  मांग बढ़ती जा रही है। जबकि अखिलेश यादव अपने पद को छोड़ने को कतई तैयार नहीं हैं। सपा के बहुत से लोग फिर से मुलायम को इस पद पर बापिस लाना चाहते हैं।  किन्तु समाजवादी में अखिकेश समर्थक इस बात पर बिलकुल सहमत नहीं हैं और अपनी चुप्पी साधे हुए बैठे हुए हैं। अखिलेश के चाचा  शिवपाल का मानना है कि पार्ट की भारी हार के बाद उन्हें स्वयं ही इस पद को छोड़ देना चाहिए। शिवपाल कहते हैं यदि अखिलेश यादव यदि अपने पिता को मुलायम  सिंह यादव को लौटा दें तो सपा फिर से जीवित हो सकती है। अब  देखना है कि अखिलेश को हटाने की आवाज़ में कितनी ताकत है।