January 17, 2017

माह गठंबधन बनने से उ प्र में भाजपा के लिए बढ़ती मुश्किलें

मुलायम सिंह से उनकी पार्टी छिनने के बाद  गर्मी  कम होती नज़र आ रही है। अब कोई चारा भी नहीं रहा है। अब पिता और पुत्र  के बीच मिलने का सिलसिला जारी है। अब खेल अखिलेश के हाथ में पहुँचने के कारण शिवपाल और मुलायम के मुँह बंद हो चुके हैं। मुलायम अब कोशिश में हैं कि कम से कम अखिलेश उनके आदमियों को टिकट अवश्य दे दें। इसके लिए उन्होंने 38  उम्मीदवारों की लिस्ट भी दी है। लिस्ट में शिवपाल का नाम भी बताया जाता है। शिवपाल के नाम पर अखिलेश का  सहमत होना मुश्किल नज़र आता है। क्योंकि बाप बेटे के बीच झगडे का मुख्य  कारण शिवपाल ही  रहे हैं। उधर माह गठबधन  होने पर कांग्रेस और अजीत सिंह की पार्टी  के लोगों को भी लिस्ट में एडजस्ट करने में परेशानियां कम नहीं आएंगी।  

आइएमए के डॉक्टरों ने मनाया राष्ट्रीय काला दिवस

- राजधानी के आइएमए के डॉक्टरों ने काला फीता बांधकर किया काम
इलहाबाद में डाक्‍टरों ने  जुलूस निकाल जताया आक्रोष ।
आगरा : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के आह्वहन पर  देश के अन्‍य बडे शहरों के डाक्‍टरों सहित आगरा के डाक्‍टरों ने भी इलहाबाद के जीवन ज्योति नर्सिगहोम के डॉ.एके बंसल की गोली मारकर हत्या कर की घटना को लेकर राष्ट्रीय काला दिवस मनाया । डाक्‍टर ड्यूटी  से तो विरत नहीं रहे किन्‍तु काला फीता बांधकर काम किया और विरोध जताया।
उल्‍लेखनीय है कि 12 जनवरी को इलाहाबाद में डॉ.एके बंसल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी,जिससे संपूर्ण उत्‍तर प्रदेश में ही नहीं देशभर के डाक्‍टरों में आक्रोष की स्‍थिति बनी हुई है। इसके बाद से चिकित्सकों की सुरक्षा को लेकर

रैन बसेरों में खिचडी और गजक का वितरण

आगरा: श्रीनाथ जी निशुल्को जल सेवा के तत्वावधान में संचालित रैनबसेरों में मकर संक्रांति पर्व कार्यक्रमों के क्रम में खिचडी और तिल की गजक के वितरण का किया गया।मुख्य आयोजन सुभाष पार्क पर सेठ काशीनाथ ज्वैखलर्स के सामने एम जी रोड स्थित रैन बसेरे पर संपन्न हुआ। प्रख्याात सर्जन डा रवी सब्बनरवाल ने द्वीप प्रज्वलित किया तथा शिवालिक ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस

कैशलेस लेन-देन प्रक्रिया को बढ़ाने में भोपाल आया आगे

कैशलेस लेन-देन को प्रोत्साहित करने के लिए भारत सरकार के नीति आयोग के निर्देशानुसार भोपाल  में 19 जनवरी को डिजि-धन मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस  मेले में कैशलेस लेन-देन की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने और इस संबंध में जन-सामान्य में जागरूकता के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 
जन साधारण को नगदी रहित लेन-देन की प्रक्रिया की जानकारी देने हेतु आयोजित डिजि-धन मेले में आम नागरिक कैशलेस लेन-देन और इसके लिए रुपे कार्ड, यूएसएसडी, यूपीआई आदि के उपयोग की प्रक्रियाओं के संबंध में बैंक पदाधिकारियों से जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। मेले में उपभोक्ताओं के लिए संचालित लकी ग्राहक योजना और व्यापारियों के लिए संचालित डिजि-धन व्यापार योजना के ड्रा भी निकाले जाएंगे।

कांग्रेस सपा गठबंधन का नेतृत्व करेंगे अखिलेश यादव

उ प्र चुनाव में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के गठबंधन की घोषणा कर दी है गुलाम  नबी आजाद ने। यहाँ तक  शीला दीक्षित ने अपनी मुख्यमंत्री की उम्मीदवारी को बापिस लेने की भी घोषणा की है। उनका कहना है मुख्यमंत्री पद के दो उम्मीदवार होने पर गठबंधन संभव नहीं है। अब असली समाजवादी पार्टी अखिलेश की है और उन्हीं को साइकिल मिली है।आजाद ने कहा कि यूपी चुनाव में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन होगा और इसका  नेतृत्व अखिलेश यादव करेंगे। इसके बारे में  अधिक जानकारी आने वाले दिनों में बता दी जाएंगी। उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव होने हैं। सभी राज्यों के  चुनाव के नतीजे 11 मार्च को घोषित किये जाएंगे। 

January 16, 2017

मुस्लिम वोट अबभी जुड़ा है मुलायम के साथ

चुनाव आयोग द्वारा अखिलेश की सपा  को असली सपा घोषित करने का कारण उनके पक्ष में सारे दस्तावेज देना था। मुलायम सिंह ने आखिरी तक अपने पक्ष में पूरे दस्तावेज़ नहीं प्रस्तुत किये। यदि मुलायम का पक्ष मज़बूत होता तो साइकिल चुनाव चिन्ह फ्रीज किया जा सकता था। चुनाव आयोग के 42 पेज के आदेश  से यह बात साफ होती है कि मुलायम की दावेदारी में ज्यादा ताकत नहीं थी। अखिलेश द्वारा सर्मथकों के शपथपत्रों से उनका दावा काफी  मजबूत हुआ जबकि मुलायम सिंह यादव के गुट  की ओर से सिर्फ यही कहा जाता रहा कि सपा  पर अब भी नेताजी  की पकड़ है और वे ही पार्टी के सर्वे सर्वा हैं।चुनाव आयोग अनुसार अखिलेश यादव की ओर से जमा किये गये शपथपत्रों की सत्यता पर मुलायम सिंह ने  सवाल तो  उठाये लेकिन इस  आपत्ति को लेकर चुनाव आयोग कभी संतुष्ट नहीं किया। बताया जाता है उत्तर प्रदेश का मुस्लिम वोट को मुलायम सिंह से हटाना अखिलेश के लिए आसान काम नहीं है।