February 21, 2020

ताजमहल के पिछवाड़े यमुना नदी का लुक सुधारने की गैर जरूरी कवायदें

झरना नाला (कारवान नदी) गंगा का  पानी ताजमहल तक ला सकने का है सहज सुलभ माध्‍यम

( स्‍व.जैकलि‍न  कैनेडी ने फर्स्‍ट लेडी के रूप में 1962 में ताजमहल के
 पि‍छवाडे में  
यमुना  का लुक सुधारने को लेकर की थी पूछताछ )
आगरा: यमुना नदी को ताजमहल के पीछे बैकड्राप सीन का अभि‍न्‍न भाग होने के कारण पानी से भरपूर दिखाए जाने के लि‍ये जो तौर तरीके अपनाये जार रहे है, उनके कारण यमुना का जलस्‍तर तो एक दो दि‍न के लि‍ये जरूर सुधर जायेगा और अमेरि‍कन राष्‍ट्रपति‍ डौनाल्‍ड ट्रंप को यह मनमोहक भी लगेगा।कि‍न्‍तु इसके तत्‍कालि‍क परि‍णामों के रूप में गंगा नदी की अपर गंगा नहर और लोअर  गंगा नहरों के जलस्‍तर प्रभावि‍त होंगे। यही नहीं इन नहरों से पोषि‍त नहरी तंत्र के रोस्‍टर भी प्रभावि‍त हुए बि‍ना नहीं रहेंगे। 

जैकललि‍न कैनेडी ने नदी पर जतायी थी चिंता  :

नदी की बदहाली को लेकर वि‍देशी महमानों के स्थायी मेजवान उ प्र शासन को हमेशा से कष्‍टकारी हालाततों का सामना करना पडा है।यह मुसीबत 1962 में अमेरि‍का के राष्‍ट्रपति‍ रहे स्‍व.जोह्न एफ कैनेडी की पत्‍नी स्‍व जैकलि‍न केनैडी की आगरा यात्रा के समय से शुरू हुई । ताजमहल

ट्रम्प के ताज भ्रमड़ के दौरान गुलेल से डराया जायेगा बंदरों को

आगरा। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी पत्नी की सुरक्षा के लिए आगरा भ्रमड़ के लिए  सरकार  कोई भी कमी नहीं छोड़ रही है। ताजमहल दीदार करने के समय बंदरों से पूर्ण सुरक्षा के स्थानीय   प्रशासन   के सामने बहुत बड़ा चेलेंज  है। इसकी चर्चा विश्वभर की प्रेस में है। ताजमहल के इर्द गिर्द  करीब 500 से 700 मैकक बन्दर हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने आगरा को सुरक्षा लॉकडाउन के तहत रखा  है।
 स्थानीय पुलिस बंदरों को डराने के लिए गुलेल से लैस होगी, लेकिन गुप्त सेवा को ट्रम्प के संरक्षण का खामियाजा दिया जाएगा। आमतौर पर बंदरों को डराने  के लिए

February 20, 2020

अखिलेश यादव के योगी सरकार पर तीखे प्रहार

लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दावा किया कि आगामी विधान सभा चुनावों में  उनकी पार्टी कम से कम 351 सीटें जीतेगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के  कुशासन लोग अब तंग से तंग हो  चुके हैं। वह लखनऊ में राज्य सपा कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। सपा अध्य्क्ष ने कहा कि जब हम सत्ता में थे उस समय हमने  किसानों को मुफ्त सिंचाई प्रदान की और समुदाय को लाभ पहुंचाने के लिए किसान दुर्जनता बीमा योजना भी शुरू की। इसके विपरीत वर्तमान भाजपा सरकार ने किसानों को  अंधी गली की ओर धकेल दिया है। राज्य में कानून व्यवस्था खराब से बदतर होती चली गई। प्रदेश में आये  दिन बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं लेकिन हमारे मुख्यमंत्रीजी  का कहना है कि अपराध नियंत्रण में है। उन्होंने आशा की कि लोग अगले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को वोट देंगे। 

February 18, 2020

लैला और सत्त गीत फिल्म बर्लिन अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भारत का आकर्षण

लैला  और सत्त गीत
20 फरवरी से 1 मार्च आरम्भ होने वाले  70 वें बर्लिन अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव  में एक भारतीय मंडप भी होगा जो विदेशी बाजार में भारतीय सिनेमा को लोकप्रिय बनाने और उसके लिए व्यापार के नए अवसरों का पता लगाने के लिए एक मंच प्रदान करेगा।
इस वर्ष बर्लिन फिल्‍मोत्‍सव के लिए तीन भारतीय फीचर फिल्मों के साथ-साथ एक लघु वृत्तचित्र का चयन किया गया है। इसमें पुष्पेन्द्र सिंह की लैला  और सत्त गीत, प्रतिमा वत्स की ईब अले ओऊ, अक्षय इन्दीकर की "महलपुराण" और एकता मित्तल का लघु वृत्तचित्र "गुमनाम दिन" शामिल हैं। बर्लिन में भारतीय मंडप का उद्घाटन विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर करेंगे।

February 16, 2020

ट्रम्प की सुरक्षा के लिए ड्रोन कैमरे उड़ेंगे आगरा में

आगरा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की 24 फरवरी की यात्रा से पूर्व मंगलवार को सुरक्षा आदि की व्यवस्थाओं का जायजा लेने खुद आ रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी  मेलानिया ट्रम्प भी ताजमहल का अवलोकन करेंगी। निगरानी के लिए आगरा में  ड्रोन कैमरों का भी उपयोग किया जाएगा। नगर निगम  आयुक्त अरुण प्रकाश  अनुसार डोनाल्ड ट्रम्प के स्वागत तथा सुरक्षा व्यवस्थाएं जोरों पर हैं। 18 फरवरी के  सीएम के प्रस्तावित निरीक्षण से पहले ही  सभी अतिक्रमणों, अनधिकृत होर्डिंग्स को हटा दिया जाएगा। सड़क की मरम्मत का काम जोरों पर  है जोकि  बहुत जल्द पूरा हो जाएगा। शहर के  वीवीआईपी मार्ग को मेहमानों के स्वागत के लिए व्यवस्थित रूप से बनाए रखा जाएगा और सजाया जाएगा। 

आगरा में 'आई टी पार्क ' प्रोजैक्‍ट की घोषणा एक सुखद संयोग

डि‍फेंस कॉरीडोर प्रोजेक्‍ट को दृष्‍टि‍गत और अधि‍क प्रवल संभावनाये

' पी एम ग्रीवास पोर्टल ' जि‍सने धूल साफ करवायी आई टी पार्क प्रोजेक्‍ट की फाइल से।
आगरा: हो सकता है कि‍ यह सुखद संयोग ही हो   कि‍न्‍तु 'टी टी जैड ए' की पाबंदि‍यों की भेंट चढे आगरा के वि‍कास के तमाम प्रोजेक्‍टों में से 'आई टी पार्क' प्रोजेक्‍ट के लि‍ये नयी संभावनाये बन गयी हैं। 'आगरा समाचार ' न्‍यूज पोर्टल के एडीटर की ओर से इस सम्‍बन्‍ध में कई संबधि‍त सरकारी एजैसि‍यों से लगातार पूछताछ कर जानकारी लेने का प्रयास कि‍या जाता रहा कि‍न्‍तु 'जबाव देही से बचने की आदत के अभ्‍यस्‍तों से जब कुछ भी सामने नहीं आ सका तो 'पी एम ग्रीवांस पोर्टल' को माध्‍यम बनाकर इस प्राजेक्‍ट के ममाले को उठाया गया था। 

February 15, 2020

राजेंद्र कुमार तिवारी नियुक्त हुए उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव

लखनऊ। राजेंद्र कुमार तिवारी को उत्तर प्रदेश के  मुख्य सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है । वह  1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी  हैं।  अनूप चंद्र पांडे की सेवानिवृत्ति के बाद 1 सितंबर, 2019 से तिवारी मुख्य सचिव के रूप में कार्य कर रहे हैं। श्री तिवारी  कृषि उत्पादन आयुक्त और अतिरिक्त मुख्य सचिव (उच्च शिक्षा) का पद भी संभाल रहे थे।वह  अब तक के एकमात्र IAS अधिकारी हैं, जिन्होंने मुख्य सचिव के रूप में पाँच महीने से अधिक समय तक कार्य किया है।उन्होंने  उच्च और माध्यमिक शिक्षा, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स, वाणिज्यिक कर, श्रम आदि में भी  काम किया है। वह अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) रह चुके हैं  और इससे पहले आगरा, सुल्तानपुर और मिर्जापुर के जिला मजिस्ट्रेट के रूप में भी  कार्य किया था।

February 13, 2020

उत्तर प्रदेश के सभी मंत्री इस्तेमाल करेंगे I - Pad

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश में दफ्तरों को  पेपरलेस  करने के लिए  दस्तावेजों और अन्य कागजों को डिजिटल रूप में परिवर्तित करने पर सख्त कदम उठा रहा हैं । प्रदेश में  ई-ऑफिस प्रणाली शुरू करने और विभिन्न विभागों में ऑनलाइन कामकाज को बढ़ावा देने के बाद अब  उत्तर प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री कार्यालय को कागज रहित बनाने के लिए पूरी तरह  तैयार है।  सभी कैबिनेट मंत्रियों को भी  आई पैड दिए जा रहे हैं । बताया जाता है कि अगले हफ्ते होने वाली कैबिनेट की बैठक पेपरलेस होगी ,इसमें  सभी मंत्री आई-पैड्स का इस्तेमाल  करेंगे ।मुख्यमंत्री  के निर्देश पर सभी कैबिनेट मंत्रियों को आई-पैड दिए जाएंगे तथा  बैठकें कागज रहित होंगी और कागजों के बजाय आई-पैड का उपयोग किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  भी  सम्मेलनों और बैठकों में  अक्सरअपने  आई-पैड का उपयोग करते हुए देखे जाते हैं।