28 अप्रैल 2022

बढ़ते साइबर अपराधों पर रोक लगाने के लिए कटिबद्ध योगी सरकार

 

लखनऊ - उ प्र  सरकार साइबर अपराधों की पकड़ के लिए कठोर कदम उठा रही है। प्रदेश के गृह विभाग ने साइबर अपराध की जांच के लिए एक बड़ी कार्य योजना तैयार की है और सभी थानों में साइबर हेल्पडेस्क स्थापित करने का निर्णय लिया है जिससे  न केवल साइबर से जुड़े अपराधियों को पकड़ने में मदद मिलेगी, बल्कि साइबर ठगों को न्याय के कटघरे में लाने के लिए लंबित जांच में भी तेजी लाई जाएगी। इसके अलावा हर जिले में सर्टिफाइड क्राइम प्रिवेंशन स्पेशलिस्ट भी नियुक्त किये जायेंगे । जानकारी अनुसार पिछले पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश में 18 रेंज-स्तरीय साइबर अपराध स्टेशनों में 863 मामले दर्ज किए गए, जिसमें 586 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और आरोपियों से 4 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली की गई तथा  बैंक खातों में 7 अरब रुपये जमा किए गए और पीड़ितों के खातों में करीब 11 करोड़ रुपये वापस किए गए।

26 अप्रैल 2022

यमुना नदी की डीसिल्‍टिंग होगी, रबड डैम बनाये जाने को भी क्‍लीयरैंस

 --टी टी जैड की मिनिस्‍ट्री स्‍तर बैठक में लिये निर्णयों पर आयुक्‍त को जताया आभार

ताजमहल के पास होती रही है ,डी सिल्‍टिंग,डोनाल्‍ड ट्रंप  के
 ताज भ्रमण के समय भी करवायी गयी थी सिल्‍ट सफाई।

आगरा: आगरा में यमुना नदी में रबड़ चेक डैम बनने का रास्ता साफ हो गया है, नेशनल चैंबर आफ इंडस्‍ट्रीज ऐंड कामर्स यू पी आगरा ने इसे एक बडी उपलब्‍ध बता आगरा के मंडलयुक्‍त के प्रति आभार जताया है।  चेंबर के  अध्यक्ष शलभ शर्मा ने कहा है  कि मंडलायुक्‍त की अध्‍श्‍क्षता में 22मार्च को हुई बैठक में यह जानकारी दी गयी थी। दरअसल 9 मार्च 2022 को पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की सचिव महोदया श्रीमती लीना नंदन जी की अध्यक्षता में एक बैठक टीटीजेड के संबंध में दिल्ली में आयोजित की गई थी जिसमें टीटीजेड के सम्बन्ध में आगरा के हित में कुछ अहम् निर्णय लिए गए थे। इन्‍हीं में यमुना नदी पर रबर डैम बनाये जाने का प्रस्‍ताव भी था।   

चेंबर अध्यक्ष के अनुसार यमुना नदी के संबध में एक अन्‍य निर्णय में नदी की  'डी सिल्‍टिंग ' करवाये जाने को भी पर्यावरण मंत्रालय ने अनुमति

जनस्‍वास्‍थ्‍य की बैहतरी के लिये पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण और शुद्धजल सबसे अहम

 -- यू एन मानकों के परिप्रेक्ष्‍य में आगरा की सीवर समस्‍या को समझेगे मि. विगांड कोरबर 

 जल औरवायु प्रदूषण जनित जनस्‍वास्‍थ्‍य के लिये बनी चुनौतियों पर जर्मन
पर्यावरण विद्वान विगांड कोरबर ने व्‍यक्‍त किये विचार। फोटो:असलम सलीमी

आगरा। प्रदूषण लोगों के जीवन को लील रहा है। जरूरत इस बात की है कि लोग आगे आएं औऱ खासकर पेयजल को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए हर स्तर पर प्रयास करें। यह कहना है, यदि हर किसी को पीने के पानी शुद्ध मिलेगा तो कई बीमारियां लोगों से दूर रहेंगी। पीने के लिए शुद्ध पानी मिले इसके लिए स्वैच्छिक स्वयंसेवी संगठन (एनजीओ) बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।डा.मार्टिन लूथर वि वि, हाले विटेनवर्ग (जर्मनी) के विगांड कोरबर। श्री कोरबर जर्मनी से भारत आए हुए हैं।  आगरा कॉलेज , के विधि संकाय के द्वारा आयोजित  ' वाटर रिलेटेड इन्डीकेटर्स इन डोमेस्टिक पॉलिटक्स एंड लॉ विषयक संगोष्ठी ' को संबोधित करते हुए श्री कोरबर ने कहा कि संपोषित विकास के लक्ष्य के अन्तर्गत जल सम्बधी सूचकांकों में घरेलू राजनीति ओर विधि के प्रभाव एक स्‍वभाविक प्रक्रिया है और वह शुद्ध पेयजल और जनसामान्य के स्वास्थ्य पर

70 दिन छह राज्यों में पैदल चल लोगों को जागरूक किया गीता बालकृष्णन ने

नई दिल्ली - बदलते जीवन में अच्छे डिजाइन की भूमिका के बारे में जागरूकता  के उद्देश्य  के सन्देश को   घर घर तक पहुँचाया 53 वर्षीय  महिला गीता बालकृष्णन ने  पहुँचाया अपनी 1,700 किमी और छह राज्यों की  पैदल यात्रा के जरिये।  गीता बालकृष्णन ने  अपनी पैदल यात्रा भीषण गर्मी में  13 फरवरी को कोलकाता से शुरू की  और अभी हाल  रविवार को दिल्ली में संपन्न की । वह पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के रास्ते दिल्ली पहुंची। उनकी पैदल यात्रा  दिल्ली के लाल किले पर  समाप्त हुई। अपनी यात्रा के दौरान गीता जी शाम को  लोगों से उनके घरों पर मिलती थीं । वह बच्चों के साथ बातचीत करने के लिए स्कूल भी जाती थीं  और रास्ते में ढाबों और चाय की दुकानों पर लोगों को यह सन्देश देती थीं । निवासियों और यात्रियों के साथ छोटी बैठकों के माध्यम से, उन्होंने परियोजनाओं का एक दृश्य लोगों को  दिखाया जो एक वास्तुकार की सामाजिक जिम्मेदारी को परिभाषित करता है। भीषण गर्मी के कारण बालकृष्णन बहुत सारे तरल पदार्थ यात्रा के दौरान पीती थीं।  

25 अप्रैल 2022

इंटरनेट आने से किताबों की बिक्री में कमी नहीं हुई - अजय जैन

 

नई दिल्ली - अधिकांश लोग मानते हैं इंटरनेट की दुनिया में "किताबों की दुकानें बंद हो रही हैं, और किताबें नहीं बिक रही हैं," हर कोई यही कहता है। दिल्ली के अजय जैन इस बात से सहमत नहीं थे और इसे  जांचने के लिए उन्होंने  गहराई में गोता लगाया और शोध करना शुरू किया और पाया कि किताबों की बिक्री कम नहीं हुई है। उन्होंने पाया साल दर साल किताबों की बिक्री ऊपर जा रही है , महामारी के बाद भी। अजय जैन का नया प्रोजेक्ट है किताबों की दुकानों की एक श्रृंखला ह। रैपिड मेट्रो गुड़गांव और दिल्ली मेट्रो के सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन के फेज 1 से पैदल दूरी पर डीएलएफ मेगा मॉल, गुड़गांव में इसकी पहली शाखा खोली गई है। जिसे खूब सफलता मिल रही है। अब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में ऐसी चार और शाखाओं के खोलने की उनकी योजना है।

23 अप्रैल 2022

पेरिस विश्व पुस्तक मेले में स्लमडॉग मिलियनेयर के लेखक विकास स्वरूप रहे मेले का आकर्षण

 

पेरिस - विकास स्वरूप का पहला उपन्यास क्यू एंड ए  के आधार पर बनी  फिल्म "स्लमडॉग मिलियनेयर" ने दुनिया के फिल्म जगत में सनसनी मचा दी थी। इस पुस्तक में विकास स्वरूप ने मुंबई के जुहू झुग्गियों के रहने वाले 18 साल के जमाल मलिक की कहानी को बड़ी कबूलियत से प्रस्तुत किया था । श्री स्वरुप ने  भारतीय साहित्य की समृद्ध विविधता के बारे में  पेरिस के विश्व पुस्तक मेले में भारत की ओर से उपस्थित  थे। उन्हें दुनिया भर में उपन्यास क्यू एंड ए के लेखक के रूप में जाना जाता है, जिसे फिल्म में स्लमडॉग मिलियनेयर के रूप में रूपांतरित किया गया, अकादमी पुरस्कार, गोल्डन ग्लोब अवार्ड्स और BFTA  अवार्ड्स में वर्ष 2009 के लिए सर्वश्रेष्ठ फिल्म का विजेता घोषित किया गया था। महामारी के कारण पेरिस पुस्तक  फेस्टिवल की दो वर्ष बाद फिर  बापसी  हुई है। 

18 अप्रैल 2022

नेशनल चैंबर पुन: उठायेगा जोधपुर झाल जलाशय पुर्नस्‍थापना का मुद्दा

 -- तथ्यात्मक जानकारी नहीं पहुंच पाने से लौटी है योजना: शलभ शर्मा 

(चैंबर अध्‍यक्ष शलभ शर्मा)

आगरा: नेशनल चेंबर आफ इंडस्‍ट्रीज ऐंड कामर्स यू पी आगरा के  अध्यक्ष शलभ शर्मा ने बताया कि जोधपुर झाल को पंडित दीनदयाल उपाध्याय सरोवर के रूप में विकसित करने के लिए शुरू किए गए प्रयासों को पुनः बल दिया जाएगा। उनका मानना है के पंडित दीनदयाल सरोवर योजना लोक महत्व की है। इसलिए इसको लेकर प्रयास प्रारंभ हुए थे, महज तथ्यात्मक भ्रम के कारण शासन के द्वारा अस्वीकृत करने मात्र से ही नहीं छोड़ा जा सकता। वस्तु स्थिति यह है कि योजना केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय एवं उत्तर प्रदेश जल शक्ति मंत्रालय के भूगर्भ जल सुधार कार्यक्रम के अनुरूप है।  मथुरा और आगरा जनपद के सैकड़ों गांवों के भूजल स्तर को साधने

कोरोना संक्रमण के उपचार में 'होम्‍यौपैथी ' जनमानस में खूब रही प्रचलित

  -- उपचार संबधी डाटा का हो रहा है संकलन शीघ्र होंगे   सार्वजनिक:निदेशक                                          

स्‍टेट होम्‍यौपैथी डिपार्टमेंट के निदेशक डा आनंद कुमार चतर्वेदी,डा.कैलाश
सरास्‍वत सहित आगरा के कुछ वरिष्‍ठ चिकित्‍सकों के साथ।फोटो:असलम सलीमी

आगरा: कोविड काल जनस्‍वास्‍थ्‍य के लिये एक बडी चुनौती लेकर आया था, जिसमें लोगों को संक्रमण से बचाने और उपचार में होम्‍यौपैथी की अहम भूमिका रही।यह कहना है राज्‍य होम्‍यौपैथी विभाग के निदेशक डा आनंद कुमार चतुर्वेदी का,उन्‍होंने कहा कि 'आर्सेनिक एल्‍बम' एक प्रभावी मैडीसन साबित हुई,जहां जहा भी होम्‍यौपैथी क्‍लीनिक हैं, वहां वहां कोविड संक्रिमतो की संख्‍या नगण्‍य रही। संख्‍या को सीमित किये रखने में  'आर्सेनिक एल्‍बम' का प्रिस्‍क्रिप्‍शन में शामिल किये रखना एक बडा कारण रहा। 

डा चतुर्वेदी ने कहा कि होम्‍यौपैथी ट्रीटमेंट अपनाने वाले मरीज जहां अधिकतम पांच दिन में ठीक हो गये ,वहीं एलोपैथी

15 अप्रैल 2022

बृज साहित्‍य महोत्‍सव 17अप्रैल को , सांस्‍कृतिक अभिरुचि का बौद्धिक वर्ग होगा सहभागी

 -- सम्‍मान समारोह, साहित्‍य सम्‍मेलन सत्रों के अलावा वैचारिक अभिव्‍यक्‍ति 'मुझे जी लेने दो' की नाट्य प्रस्‍तुति 

आगरा: ब्रज साहित्‍य महोत्‍सव का आयोजन 17अप्रैल को सूर सदन में हो रहा है, एक दिवसीय यह आयोजन 'ताज लिट्रेचर क्‍लब के तत्‍वावधान में होगा। हाल के दशकों में हिन्‍दी और उसकी अभिवृद्धि की रीढ 'देवनागरी'  को लेकर तो कई आयोजन बज क्षेत्र खासकर आगरा में हुए किन्‍तु ठेठ ब्रज साहित्‍य को समर्पित अपने किस्‍म का पहला आयोजन है। ताज लिट्रेचर क्‍लब की संस्‍थापिका श्रीमती भावना बरदान शर्मा पिछले काफी समय से क्‍लब के माध्‍यम से साहित्‍य एवं संस्‍कृति क्षेत्र में अभिरुचि रखने वालों को सक्रिय रखने तथा स्‍थानीय महत्‍व के आयोजन करती रही हैं, किन्‍तु ब्रज साहित्‍य महोत्‍सव ' ब्रज लिट्रेचर फीस्‍ट 'के रूप में हो रहा ब्रज साहित्‍य महोत्‍सव अपने आप में समूचे ब्रज क्षेत्र और साहित्‍य जगत के लिये  महत्‍ता का आयोजन है।

आयोजन के संरक्षण मंडल के सदस्‍य श्री बृजेश अग्रवाल ने महोत्‍सव 17अप्रैल को सांय 6 बजे से शुरू होगा, इसके तहत औपचारिक उद्घाटन कार्यक्रम के अतरिक्‍त  सम्‍मान समारोह,साहित्‍य सम्‍ममेलन आदि सत्र होंगे, इन्‍हीं के क्रम में नाट्य प्रस्‍तुति 'मुझे जी लेने दो' होगी। इस नाटक को श्री पम्‍मी सरदाना ने ही लिखा व निर्देशित किया है और आयोजन से अध्‍यक्ष के रूप में भी परोक्ष रूप से जुडे हुए हैं।उन्‍होंने बताया कि संरक्षक के रूप में उनके साथ ही श्री महेश चन्‍द्र शर्मा, डा.राम प्रकाश चतुर्वेदी, इा.राजकुमार शर्मा भी सक्रिय सहभागी हैं। 
श्री अग्रवाल ने बताया कि 'ताज लिट्रेचर क्‍लब ' जैविक संक्रमण के रहे दो साल के नकारात्‍मकताओं से भरपूर रहे दौर में भी सक्रिय रहा और अब पांच स्‍वर्णिम वर्ष पूरे कर चुका है,'ब्रज साहित्‍य महोत्‍सव ' इसी कालखंड को स्‍मरणीय बनाये रखने को समर्पित है।आयोजन के माध्‍यम से उन सभी को अपनी सांस्‍कृतिक अभिरुचि की अभिच्व्‍यक्‍ति अनुरूप  सक्रिय सांस्‍कृतिक पटल से जुडने का अवसर है,जो अब तक इसकी जरूरत महसूस करते रहे हैं।
संस्‍थापिका अध्‍यक्ष भावना बरदान शर्मा ने आयोजन के पूर्व

‘‘द आगरा ताज कार रैली’’ में ,इस बार दुबई से भी सहभागिता

 -मेजवान ' मोटर स्‍पोर्टस क्‍लब' कई नये आकर्षण जोडने को अनवरत प्रयासरत

मोटर स्‍पोर्टसक्‍लब के अध्‍यक्ष राजीव गुप्‍ता,एडीएम सिटी अंजनी कुमार
राम मोहन कपूर आदि।
आगरा: ‘‘द आगरा ताज कार रैली’’ कोरोना संक्रमण के कारण स्‍थगित होने के बाबजूद दो साल के अंतराल के बाद भले ही हो रही हो किन्‍तु उसके प्रति जो जोश खरोश है, वह इस बात का प्रमाण है कि आगरा अब जनस्‍वास्‍थ्‍य को लेकर बनी रही आशंकाओं से पूरी तरह से उन्‍मुक्‍त हो ,पर्यटन और मनोरंजन व सहासिक गतविधियों के लिये तेयार है। जिला प्रशासन, उ0प्र0 पर्यटन एवं मोटर स्पोर्ट क्लब आगरा के संयुक्त तत्वाधान में ‘‘द आगरा ताज कार रैली’’ का आयोजन अपने

सीवेज पानी को साफ पानी में बदलने में सफलता पाई दिल्ली की स्मिता सिंघल ने

 

नई  दिल्ली। हमारे देश में पानी की  दो विपरीत छवियों को देखा जा सकता है , एक तरफ  प्रतिदिन भारी मात्रा में सीवेज का पानी लगातार उत्पन्न होना  और दूसरी ओर स्वच्छ पानी की कमी। दिल्ली की स्मिता सिंघल इसका हल निकला है। उनके द्वारा स्थापित एब्सोल्यूट वाटर  नामक  सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट कंपनी इस मुद्दे को बड़े पैमाने पर संतुलित करने की कोशिश कर रही है। स्मिता सिंघल की  कंपनी रोजाना 1 लाख लीटर सीवेज पानी को स्वच्छ पानी में बदलती है।

उनका  सौर ऊर्जा से चलने वाला  सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट  पीने और खाना पकाने के लिए साफ पानी का उत्पादन करता है। एब्सोल्यूट वाटर्स  घरेलू, नाली, औद्योगिक सीवेज, स्प्रे तालाब के पानी और रसोई के अपशिष्ट जल को फिल्टर करके साफ पानी में परिवर्तित कर सकता है।

14 अप्रैल 2022

अमेरिकी फैशन में भारतीय खादी की दिन प्रतिदिन बढ़ती लोकप्रियता

 

अमेरिका के फैशन ब्रान्ड पैटागोनिया ने खादी डेनिम कपड़ा खरीदने के लिए एक बार फिर ऑर्डर दिया है। यह आदेश खादी के विश्वस्तरीय उत्पाद की गुणवत्ता तथा सप्लाई ऑर्डर पूरा करने में समयबद्धता के पालन की वैश्विक प्रशंसा है। पैटागोनिया ने इस वर्ष मार्च महीने में कपड़ा बनाने वाली प्रसिद्ध कंपनी अरविन्द मिल्स के माध्यम से गुजरात के राजकोट स्थित खादी संस्थान खादी भारती से लगभग 80 लाख रुपये मूल्य के 17,050 मीटर खादी डेनिम कपडा खरीदने का आदेश दिया। यह रिपीट ऑर्डर 1.08 करोड़ रुपये मूल्य के खादी डेनिम कपड़े के 30,000 मीटर के पिछले आदेश के सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद मिला है।

जुलाई, 2017 में खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने पूरे विश्व में खादी डेनिम उत्पादों का व्यापार करने के लिए अरविन्द मिल्स लिमिटेड, अहमदाबाद से एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। तब से अरविन्द मिल्स गुजरात के केवीआईसी द्वारा प्रमाणित खादी संस्थानों से प्रत्येक वर्ष बड़ी मात्रा में खादी डेनिम कपड़े खरीद रही है। इस नए आदेश के साथ पैटागोनिया द्वारा कुल खादी डेनिम की खरीद 1.88 करोड़ रुपये मूल्य के 47,000 मीटर हो गई है।