11 नवंबर 2021

तराजू, बाँट,मीटर, लीटर मॉपकों पर जी एस टी , दर कम की जायें

-- बजट पूर्व सुझावों को लेकर चैंबर के अलावा आगरा में अधिकांशत उदासीनता

आगरानेशनल चैंबर आफ इंडस्‍ट्रीज ने बिना विद्युत नापतोल उपकरणों पर जी एस टी की मौजूदा दर 18प्रतिशत से कम कर करने की मांग भारत सरकार से की है. इन उपकराणों का कारोबारियों के द्वारा खरीद-  बिक्री में मापतौल के लिये इस्‍तेमाल होता है.  बिना विद्युत वाले इन नापतोल उपकरणों के तहत   तराजू, बाँट,मीटर, लीटर आदि आते हैं.इनको  उपयोग में लाने वालों में सबसे ज्‍यादा छोटे दुकानदार जैसी रेहड़ी, ठेले, फेरीवाले, छोटे दूधिये आदि होते है.

चेंबर अध्‍यक्ष मनीष अग्रवाल  के अनुसार इन उपकरणों की बिक्री से पूर्व इनके निर्माता को बांट तथा माप  विभाग से परीक्षण एवं मुद्रांकन करवाना आवश्यक होता है।  जिसका शुल्क उसकी क्षमता के अनुसार अलग-अलग होता है तथा उस शुल्क पर भी जीएसटी अठ्ठारह प्रतिशत ही जी एस टी लगाई जाती

9 नवंबर 2021

न्यायालयों में वर्चुअल सुनवाई चलाये रखने की व्यवस्था पर विचार करेंगे- विधि राज्य मंत्री

 -- कोर्ट आर्डस की जानकारी के लिये निशुल्क आफ लाइन एप की मांग भी उठायी

केन्‍द्रीय मंत्री प्रो.एस पी सिंह बघेल साथ में
हैं सीनियर एड. के सी जैन एवं सुश्री प्रमिला शर्मा.

वरआगराकेन्द्रीय राज्यमंत्री विधि एवं न्याय प्रो0 एस0पी0 सिंह बघेल ने उच्चतम न्यायलय और उच्च न्यायलयों में बर्चुअल सुनवायी की प्रक्रिया को कोरोना संक्रमण काल के बाद भी जारी रखने के  बारे में  द्वारा इस पर सकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा गया कि कोरोना महामारी के दौरान न्यायालयों में वर्चुअल सुनवाई का प्रयोग सफल रहा था जिसे बरकरार रखना चाहिए.वह विधि सेवा दिवस के अवसर पर आगरा में आयोजित एक  कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.  उन्होंने इस सम्बन्ध में आवश्यक कदम उठाने के लिए  आश्वस्त किया।

 वरिष्ठ अधिवक्ता श्री के सी जैन एडवोकेट ने कोरोना काल में विधिक प्रक्रिया को अनवरत जारी रखने के लिये सर्वोच्च न्यायालय व उच्च न्यायालयों में शुरू हुई वर्चुअल सुनवाई

यूनेस्को के सुन्दर शहरों की सूची में जुड़ा नाम श्रीनगर का

 

यूनेस्को द्वारा जारी दुनियाभर के सबसे रचनात्मक शहरों की सूची में अब जम्मू और कश्मीर की  राजधानी श्रीनगर का भी नाम जुड़ गया है। इससे पूर्व  हैदराबाद, मुंबई, जयपुर, वाराणसी और चेन्नई पहले से ही  इस सूची में शामिल थे। यूनेस्को  द्वारा श्रीनगर को उसकी शिल्प और लोक कला के लिए इस सूची में जोड़ा गया है। दुनियाभर के सबसे रचनात्मक शहरों के नेटवर्क अब 295 शहरों के साथ 90 देशों तक पहुंच गया है जो सतत शहरी विकास को आगे बढ़ाने के लिए संस्कृति और रचनात्मकता  शिल्प और लोक कला, डिजाइन, फिल्म, गैस्ट्रोनॉमी, साहित्य, मीडिया कला और संगीत में निवेश करते हैं। इस अवसर पर यूनेस्को के महानिदेशक ऑड्रे अजुली  ने कहा कि दुनिया के हर शहर में एक नया शहरी मॉडल विकसित करने की जरूरत है, जिसमें आर्किटेक्ट, टाउन प्लानर्स, लैंडस्केपर्स और नागरिक हों। 

7 नवंबर 2021

श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का प्रमुख हवाईअड्डा घोषित

 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को देश का एक प्रमुख हवाई अड्डा घोषित किया है। यह हवाई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा अब  संयुक्त अरब अमीरात जुड़ गया है। हाल ही में यात्रियों की संख्या में  वृद्धि  देखते हुए भविष्य  में श्रीनगर से और अधिक अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने की सरकार की योजना है। सरकारी अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर से अन्य उड़ानें शुरू करने के लिए खाड़ी देशों के साथ चर्चा चल रही है। सरकार ने आने वाले दिनों में श्रीनगर हवाई अड्डे पर 1500 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना बनाई है।आंकड़ों अनुसार  इस वर्ष सितंबर में कुल उड़ानों की संख्या 2,152 थी , जबकि पिछले साल इसकी संख्या  1,093 थी। पिछले वर्ष  2,500 दैनिक यात्रियों की तुलना में इस वर्ष हवाई अड्डे पर लगभग 12,000-13,000 दैनिक यात्रियों की संख्या देखी गई है।


6 नवंबर 2021

दुबई एक्सपो 2020 के भारत मंडप में दो लाख रिकॉर्ड आगंतुक पहुंचे

 

भारत मंडप ने एक्सपो 2020 दुबई में अपना पहला महीना सफलतापूर्वक पूरा करते हुए दो लाख से अधिक आगंतुकों का स्वागत किया। भारत मंडप 3 नवंबर तक भारत की विकास रूपरेखा पर चर्चा करने के लिए विभिन्न सेक्टरों तथा राज्य विशिष्ट सत्रों के साथ दो लाख से अधिक आगंतुकों की मेजबानी कर चुका है। इसने देश के लिए निवेश अवसर भी प्राप्त किए हैं और आगंतुकों को आकर्षित करने के लिए कई सांस्कृतिक समारोहों का आयोजन किया है।

अक्टूबर महीने में भारत मंडप में दशहरा तथा नवरात्रि समारोहों के दौरान कई प्रकार की सांस्कृतिक गतिविधियों का भी आयोजन किया गया। इनमें अनगिनत आगंतुकों एवं गणमान्य व्यक्तियों के लिए लोक नृत्य, कहानी सुनाना तथा संगीत आयोजन शमिल थे। भारत मंडप में दीवाली के जारी समारोहों में रंगारंग प्रतिष्ठान, स्वरंगोली या एलईडी रंगोली के रूप में लाइटिंग, पटाखों के वर्चुअल प्रदर्शन तथा भारत और दुबई से सलीम-सुलेमान, ध्रुव और रूह बैंड जैसे विख्यात कलाकारों के प्रदर्शन शामिल थे।

आगंतुकों के उत्साह के परिणामस्वरूप भारत मंडप एक्सपो 2020 दुबई में सबसे अधिक अवलोकन किए जाने वाले मंडपों में से एक बन गया। अक्टूबर के दौरान कार्यकलापों तथा कार्यक्रमों का हजारों आगंतुकों ने बड़े उत्साह और उत्सुकता के साथ अवलोकन किया।


3 नवंबर 2021

सौ करोड निवेश का आगरा लैदर पार्क प्रोजेक्‍ट समाया हुआ है ठंडे बस्ते में

 --चैंबर ने लैदरपार्क प्रोजेक्ट पर सांसद से मुख्यमंत्री के समक्ष उठाने का किया अनुरोध

आगरानेशनल चेंबर आफ कामर्स ऐंड इंडस्ट्रीज आगरा के  अध्यक्ष मनीष अग्रवाल ने लेदर पार्क में औद्योगिक विकास की बंद गतिविधियों को पुनः चालू की जरूरत पर जोर दिया हैइसके लिये उन्होंने फतेपुर सीकरी क्षेत्र के सांसद  राजकुमार चाहर को एक पत्र भी लिखा है.  चेंबर अध्यक्ष के अनुसार आगरा में फतेहपुर सिकरी रोड पर  बसपा शासनकाल में यूपी सरकार ने तहसील किरावली में गांव महुअर पाली सदर बड़ोदा सदर, में यह लैदर परियोजन  चालू की थी।

 2010 में इस परियोजना के लिए 100 करोड़ की धनराशि भी स्वीकृत हुई थी जिससे उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम द्वारा इस परियोजना के लिये 111. 9 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण की गई थी.  बाद में  चिन्हित जमीन को विकसित किए जाने का कार्य प्रारंभ किया गया था। चेंबर द्वारा लेदर पार्क में ही आगरा के (अनुकूल टीटी जेड क्षेत्र के अनुकूल) प्रदूषण रहित आईटी उद्योग की स्थापना करने के लिए इस परियोजना में

विकलांगता नियंत्रण को दबा से भी कहीं जरूरी है शुद्ध पानी की उपलब्धता

 -- वाटर हार्वेस्टिंग अभियान सक्रिय रहे  विष्णू कपूर ने मनाया अपना छियासी वां जन्म दिवस

विकलांगों के सदाबाहर मित्र विष्‍णू कपूर ने परिजनों
के साथ मनाया जन्‍म दिवस.फोटो : असलम सलीमी

आगराप्रख्यात समाज सेवी विष्णू कपूर ने कहा
 कहा हैकि आगरा सहित अनेक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जनपदों में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था में अपेक्षित सुधार करना चाहिये, इस बात को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता कि सुरक्षित एवं उपयुक्त गुणवत्ता वाला पानी नागरिकों की आधारभूत जरूरत है. वह छियासीवें अपने जन्म दिवस के अवसर आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर परिजनों के बीच बोल रहे थे. उन्होंने अपने पांच दशकों तक विकलांगों के बीच किये सेवा कार्यों का स्मरण करते हुए कहा कि दुर्घटाओं के कारण होने वाली विकलांगता को तो नहीं रोका जा सकता है किन्तु प्रदूषण युक्त तथा मानकों से अधिक रासायनों की मौजूदगी वाले  पानी के उपयोग से बचा जा सकता है.

पल्स पोलियों अभियान

2 नवंबर 2021

पारवारिक हितों वाली पार्टियां हैं बसपा सपा और कांग्रेस - शाह

 

लखनऊ - केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि  भाजपा के  2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले किए गए 90 प्रतिशत वादे पूरे हो चुके हैं , शेष बचे  10  प्रतिशत अगले तीन महीनों में पूरे किये जायेगे। उन्होंने आरोप लगाया कि  बसपा ,सपा और कांग्रेस  पारिवारिक हितों की सेवा करने वाले राजनीतिक संगठन हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी ने हमेशा देश के लोगों की परवाह की है और पूरे देश को अपने परिवार के रूप में स्वीकार किया है।  केंद्रीय गृह मंत्री  ने योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल के लिए लोगों द्वारा  समर्थन मांगते हुए कहा इससे नरेंद्र मोदी  के तीसरे कार्यकाल की नींव बनेगी। केंद्रीय गृह मंत्री  ने कहा कि हम लोगों के सहयोग से 2022-27 के कार्यकाल के लिए पार्टी का घोषणा पत्र तैयार करेंगे और इसे समय पर पूरा करने का वादा करेंगे। 

31 अक्तूबर 2021

योगेंद्र दुबे के मंचिय तेवरों को याद किया कलाकरों और मीडिया मित्रों ने

 -- मंच और मित्रों की मुश्‍किलों को अपनी निजि चुनौती के रूप में लेते थे दुबेज

वरिष्‍ठ रंग कर्मी अनिल शुक्‍ला स्‍व योगेन्‍द्र दुबे के साथ
बिताये समय की याद ताजा की.
आगरा। लोक नाट्य विकास और रंग कला के जिन कार्यों को वह अधूरा छोड़ गए हैं, उन्हें पूरा करने के संकल्प के साथ आगरा के कलाप्रेमियों और पत्रकारों ने वरिष्ठ रंगकर्मी और पत्रकार योगेंद्र दुबे को नम आँखों से श्रद्धांजलि दी। नाट्य संस्था 'रंगलीला' द्वारा 'हरियाली वाटिका' में आयोजित एक बड़ी शोक सभा में मौजूद शहर के अनेक प्रमुख संस्कृतिकर्मियों, साहित्यकारों, लेखकों और पत्रकारों ने भगत, थिएटर और पत्रकारिता के क्षेत्र में श्री दुबे के योगदान को याद किया। शोक सभा की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज ने की।

वरिष्ठ साहित्‍यकार एवं नवलोक टाइम्‍स के प्रकाशक रहे डा. अखिलेश श्रोत्रिय ने श्री दुबे की लोक नाट्य 'भगत' की भूमिकाओं पर विस्तार से प्रकाश

भारत का मौजूदा स्‍वरूप पटेल,के राष्‍ट्रीय एकीकरण को लेकर रहे नजरिये से ही हो सका संभव

 --रियासतो के विलीनी करण और पटेल की माईक्रो इकनामी को लेकर रही समझ पर भी हुई चर्चा

राष्‍ट्रीय एकता दिवस कार्यक्रम को प्रो सुगम आनंद ने किया संबोधित, डा. माला भदौरिया, राज किशोर राजे आदि भी थे थे वक्‍ताओं में शामिल.

आगरासरदार बल्‍लभ भाई पटेल का जन्‍म दिवस  राष्‍ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया गया.इस अवसर पर आगरा के क्षेत्रीय अभिलेखागार पर आयोजित कार्यक्रम में सरदार बल्‍लभ भाई पटेल से संबधित उन अभिलेखों पर चिस्‍तार से चर्चा कर उन्‍हें राष्‍ट्र पेम के लिये  धरोहर बताया गया .कार्यक्रम के मुख्‍यातिथि डा.भीम राव अम्‍बेडकर इतिहास विभाग प्रो.भाग के प्रो. डा.सुगम आनंद ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक व्‍यवस्‍था का मौजूदा स्‍वरूप सरदार पटेल की ही सूझ बूझ और अनुभव की ही देन है.उन्‍हों ने कहा कि रियासतों का विलीनीकरण  उनका कूटनीति, बलप्रयोग तथा संवैधानिक उपायों से किया गया एक ऐसा कार्य है जिसे समूचे विश्‍व ने उनकी दृढ इच्‍छाशक्‍ति के परिचायक के रूप में 

नौकरी छोड़ झीलों को नया जीवन दे रहे हैं आनंद मल्लिगावड

 

ग्लासगो में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन कोप  26  के दौरान बेंगलुरु के भतपूर्व इंजीनियर  आनंद मल्लिगावड विशेष चर्चा में हैं। 

आनंद  बेंगलुरु शहर में एक झील संरक्षणवादी और जल नायक हैं। उन्होंने एक पूर्णकालिक झील संरक्षणवादी बनने के लिए अपनी नौकरी छोड़  निरंतर प्रयासों के माध्यम से,बेंगलुरु में लगभग पांच झीलों को पुनर्जीवित किया है और शहर में बढ़ते जल संकट को कम करने के लिए 2025 तक लगभग 45 और झीलों को फिर से जीवंत करने की योजना है। आनंद का कहना है बेंगलुरु में हर साल 1,300 मिमी से 1,400 मिमी वर्षा होती है, लेकिन हम उस पानी को नालों में बहने देकर बर्बाद कर रहे हैं। हमें इस वर्षा जल को संग्रहित करने और इसका पुन: उपयोग करने के साथ-साथ वर्षा जल संचयन का अभ्यास करने की आवश्यकता है। इसके अलावा, हमें बेंगलुरु शहर में मौजूदा झीलों और जलाशयों को फिर से जीवंत करने की जरूरत है।

बेंगलुरु एक ऐसा शहर था जो अपनी झीलों और जलाशयों के लिए जाना जाता था। वर्षों से, तेजी से शहरीकरण ने बेंगलुरु को झीलों के शहर से कंक्रीट के शहर

बटेश्वर मेला जहाँ बिकते हैं ऊंट घोड़े बैल हाथी और बकरी

 

आगरा। बटेश्वर मेला देखने के लिए काफी देशी-विदेशी पर्यटक, पर्यटन विभाग व अन्य संस्थाओं द्वारा बटेश्वर नाथ लाये जाते है। इस मेले में जानवरों की खरीद फरोक्त देखकर बहुत ही प्रफुल्लित व आकर्षित होते हैं। यह मेला दिनाँक 02 नवम्बर 2021 से 24 नवम्बर 2021 तक आगरा की बाह तहसील में लग रहा है। 

बटेश्वर मेला उत्तर प्रदेश राज्य के मेलों और त्योहारों की सूची में सबसे ऊपर है। त्योहार का नाम उसी स्थान से उत्पन्न हुआ है जहां यह बटेश्वर मनाया जाता है, जो आगरा से 70 किमी की दूरी पर स्थित है।

बटेश्वर मेले की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता इस आयोजन में लगने वाला लाइव स्टॉक मेला है क्योंकि यहां बड़ी संख्या में लोग जानवरों को खरीदते और बेचते हैं। मेले में बड़ी संख्या में ऊंट, घोड़े, बैल, हाथी, बकरी और अन्य मवेशियों के साथ बाजार शामिल है।

आगंतुकों के लिए जानवरों के बाजार के अलावा बहुत सारी दुकानें हैं जैसे विभिन्न दुकानें फर्नीचर, हस्तशिल्प और सौंदर्य प्रसाधन से लेकर पारंपरिक खाना पकाने के बर्तन और मसालों तक विभिन्न प्रकार के