June 22, 2020

इस बार लोग बिना डर के निकले घर से बाहर सूर्य ग्रहण देखने

नई दिल्ली - मजबूत प्रयासों के साथ हालात में बदलाव हुआ और बाद में पड़े सूर्य ग्रहणों के दौरान लोगों की धारणा में व्यापक बदलाव देखने को मिला। इस बार लोगों ने बाहर निकलने और सूर्य ग्रहण के सजीव दर्शन के रोमांच का अनुभव हासिल किया, हालांकि इस दौरान सामाजिक दूरी और सतर्कता उपायों का पूरी तरह पालन किया गया।
दिल्ली में सूर्य ग्रहण 21 जून की  सुबह 10:19:58 पर दिखना शुरू हुआ और दोपहर 01:48:40 बजे तक दिखता रहा। सूर्य ग्रहण दोपहर 12:01:40 बजे सबसे ज्यादा नजर आया। थोड़े बादलों से भरे आसमान के साथ दिल्ली आंशिक ग्रहण की गवाह बनी, क्योंकि दिन काफी हद तक उजला बना रहा। कुंडल के आकार का छल्ला (एनुलर रिंग), जिसे रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है, देश के उत्तरी हिस्सों के साथ ही राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखंड

June 21, 2020

गार्मेंट हब बन सका तो तो बदल जायेगी आगरा की 'माईक्रो इकनामी'

-- न नि‍वेशकों की कमी,न कुशल कर्मि‍यों की भरपूर 'वायर'हैं मौजूद 
आगरा में हैं गार्मेंट मैन्‍यू फैक्‍चरि‍ंग हब की भरपूर संभावनायें

आगरा: उत्तर प्रदेश सरकार ने आगरा  में गारमेंट हब बनाये जाने की अधि‍कारि‍क रूप से जानकारी  को एक सकारात्‍मक कदम माना जा रहा है।  गारमेंट हब (अपैरल पार्क) अगर बननासंभव हुआ तो इसमें काफी बडी संख्‍या में दर्जी, डि‍जायनरों आदि‍ श्रमि‍कों को काम मि‍लना संभव होगा। चूकि‍ गार्मेट महि‍ला प्रधान इंडस्‍ट्री है , इस लि‍ये काफी संख्‍या में महि‍लाओं को काममि‍ल ने की संभावना है।
प्रदेश में पांच गामेंट हब बनाये जाने हैं, इनमें से आगरा के अलावा एक अलीगढ में बनायाजाना तयहो चुका है। आगरा के गार्मेंट हव के लि‍ये  के लि‍ये यू पी एस आईडी सी के द्वारा शासन की नोडल एजैंसी की भूमि‍का आद की जायेगी  और यमुना एक्‍सप्रेसवे के साइट कौरीडोरों में ओद्योगि‍क वि‍ककास के लि‍ये यमुनाएक्‍सप्रेस वे इंडस्‍ट्रि‍यल डव्‍लपमेंट अथार्टी की कि‍सी जमीन पर वि‍कसि‍त होगा। । उम्‍मीद है कि‍ उ प्र्र सरकार शीघ्र ही इसके लि‍ये फैसीबिल्टी स्टडी और डीपीआर तैयार करने के लिए जल्दी ही कंसल्टेंट

आगरा में यू पी और केन्‍द्रीय बोर्डों की 12वीं के परीक्षा परि‍णामों की प्रत्‍याशा में भरे दाखि‍ला फार्म कि‍ये नि‍रस्‍त

-- डी ई आई (दयालबाग डीम्‍ड वि‍ वि) यू पी बोर्ड का रि‍जल्‍ट इंतजार कि‍ये बि‍ना ही गेजुएशन कोर्सों के लि‍ये ले  रहा है एडमीशन‍ टैस्‍ट 
  डी आई ई कैंपस( डीमड वि‍ वि‍ )
(राजीव सक्‍सेना) आगरा: दयालबाग डीम्‍ड वि‍श्‍व वि‍द्यालय ने दाखि‍ला प्रक्रि‍या शुरू कर दी है,  22 से 30 जून तक चलने वाली 'आनलाइन ' प्रवेश परीक्षा एवं ऑन लाइन ' इंटरव्‍यू ' में  इसके लि‍ये उन अभ्‍यर्थि‍यों के आवेदन पत्रों को खरि‍ज कर दि‍या है,जो  रि‍जल्‍ट न आने सेे पात्रता के लि‍ये न्‍यूनतम आहर्ता प्राप्‍त करने संबधी साक्ष्‍य ( खासकर अंकपत्र ) प्रवेश फार्म के साथ दाखि‍ल नहीं कर सके।  वि‍श्‍व वि‍द्यालय की इस नीति‍ के परि‍णाम स्‍वरूप ग्रेजुऐशन और उन कोर्सों में प्रवेश पाने वाले यूपी बोर्ड तथा सी बी एस ई व काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस (ICSE)  के वे परीक्षार्थी एडमीशन प्रवेश परीक्षा से बंचि‍त रह गये जि‍न्‍होंने 2019-20 के शि‍क्षण सत्र की  12 वीं क्‍लास के लि‍ये हुई फायनल परीक्षा में तो भाग लि‍या लि‍या है, लेकि‍‍‍न  कोरोना वायरस 'कोवि‍‍‍‍‍‍ड-19 '  के  मार्च में शुरू हुए संक्रमणके कारण शासन के द्वारा  परीक्षाओं को पूरा करवाने में हुए वि‍लमब

June 20, 2020

भारत से नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें कब

नई दिल्ली -  भारतीय  नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एक ट्वीट में कहा कि हम नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें तभी  शुरू कर सकते हैं जब हमारा घरेलू यातायात लगभग 50-60% तक पहुंच जाता है। कई देशों ने  वर्तमान स्थितियां को नजर अंदाज करते हुए  अंतरराष्ट्रीय यातायात खोल दिए  हैं। उन्होंने कहा  जब स्थिति इस दिशा मैं विकसित हो जाएगी तो हम एक कैलिब्रेटेड ओपनिंग पर विचार करेंगे। यह नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी का  उन लोगों के लिए  जवाब था, जो नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने की मांग कर  रहे हैं।

June 19, 2020

भारतीय सेनाएं सीमाओं की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  सर्वदलीय बैठक में सभी राजनीतिक दलों को फिर से आश्वस्त किया है कि भारत की सेनाएं, सीमाओं की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं। सेनाओं को यथोचित कार्रवाई के लिए पूरी छूट दी गई है।उन्होंने आज सार्वजनिक रूप से पूरी स्थिति स्पष्ट कर दी । भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राजनीतिक मतभेदों के बावजूद देश में राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर आम सहमति और एकजुटता की परम्परा रही है।  यह   सर्वदलीय बैठक इसी लोकतांत्रिक परंपरा को ध्यान में रखते हुए की गयी थी। बैठक में भाग लेने और अपने विचारों से अवगत  कराने के लिए सभी दलों के प्रति  रक्षा मंत्री ने आभार व्यक्त किया ।

June 18, 2020

चीन के खिलाफ गुस्से में ताजनगरी

ताजनगरी आगरा में जगह जगह  चीन के प्रति भारी गुस्सा देखा गया।  इस मुद्दे पर शहर की अधिकांश राजनैतिक पार्टियों के नेता एक मत नज़र आ रहे हैं।  आगरा के शाह मार्केट में चाइनीज़ कम्पनियों के बोर्ड उतार कर  फेंके गए। ताजनगरी में चीन के खिलाफ लोग  गुस्सा  प्रकट कर रहे हैं।  उत्पादों की निम्न गुणवत्ता, मानवाधिकार के मुद्दे,  यूलिन डॉग मीट फेस्टिवल और हाल ही में चीनी सरकार के  COVID-19 महामारी का कथित कुप्रबंधन को लेकर पहले भी समय समय पर  चीन  के  उत्पादों बहिष्कार होता रहा है, किन्तु  हाल ही में लद्दाख में हुई  घातक सीमा झड़पों के बाद  चीनी सामानों के बहिष्कार का आह्वान  पूरे देश में जोरों पर है ।चीन के नेता शी जिनपिंग के पुतलों को जलाने के साथ साथ  चीन विरोधी प्रदर्शन पूरे भारत में फैल गए हैं। गुजरात में लोगों द्वारा अपने बालकनियों से  चीनी निर्मित टेलीविजन फेंके गए ।

June 16, 2020

दिल्ली के अस्पतालों में कोविड से जान गंवाने वालों के अंतिम संस्कार में विलंबता नहीं

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री  अमित शाह के निर्देशानुसर दिल्ली के सभी  अस्पतालों ने  केंद्रीय गृह मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार कोविड संक्रमण से अपनी जान गंवाने वाले लोगों के अंतिम संस्कार को गति देने का काम किया और इस क्रम में सभी अस्पतालों ने कोविड की वजह से जान गँवाने वाले अधिकतम लोगों का उनके परिजनों और रिश्तेदारों की सहमति तथा उपस्थिति में अंतिम संस्कार कर दिया। मात्र 36 मृतकों का अंतिम संस्कार उनके निकटतम संबंधी के दिल्ली में न होने की वजह से शेष है जो की कल तक कर दिया जाएगा ।इसके बाद

ग्रीष्‍म की तपन से जूझते आगरा में श्रीनाथ जल सेवा की 25 प्‍याऊ एक साथ शुरू

-- जलसेवक मास्‍क दस्‍ताने पहनेंगे, सैनेटाईजेशन और सोशल डि‍स्‍टैंसि‍ग का भी पालन होगा
आगरा: श्रीनाथ जल सेवा के द्वारा जैवि‍क आपदा संक्रमण 'कोवि‍ड 19' के चल रहे दौर के बीच ग्रीष्‍म कालीन शुद्ध शीतल प्‍याऊ संचालन की अर्धशती पूरी कर चुकी परंपरा को सुचारू रखा है। औपचारि‍क उद्घटन के क्रम में महानगर के प्रमुख बाजारों सहि‍त कई अन्‍य जन -आवाजाही के 24 स्‍थानों पर इन्‍हे शुरू कि‍या गया है। आपदा प्रबंधन के तहत अपेक्षि‍त व्‍यवस्‍था के तहत प्‍याऊ पर तैनात जल सेवक   या सेवि‍का  सैनेटाइज मास्‍क का अनि‍वार्य रूप से उपयोग करने के साथ ही दस्‍ताने भी पहनेगे । 
  प्‍यऊ संचालन संबधी इंतजामो में सहयोगि‍यों मे वि‍ख्‍यात सर्जन डा ज्ञानप्रकाश, अधि‍वक्‍ता अनि‍ल गोयल, वासु भाई, अशोक गूतडा,दलजीत सि‍ह ,अशोक बाबू, आदि‍ उद्घाटन कार्यक्रम शामि‍ल थे। डा ज्ञान प्रकाश