Showing posts with label Black Money control. Show all posts
Showing posts with label Black Money control. Show all posts

December 15, 2016

कैशलेस भुगतान बना सकता है आपको करोड़पति

कैशलेस भुगतान करने पर अब आप करोड़पति भी बन सकते हैं। मोदी सरकार  डिजिटल भुगतान करने के प्रचार के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रही है। सरकार ने अब कैशलेस भुगतान करने वालों के लिए लॉटरी शुरू की है जिसमें लोग  25 लाख रुपए से 1 करोड़ रुपए जीत सकते हैं। इसके अतरिक्त  15 हजार ग्राहकों को हर रोज 1000 रुपए का इनाम देने की भी  नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने घोषणा की है। उन्होंने बताया  कि नोटबंदी के बाद डिजिटल भुगतान में  95 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है । डिजिटल पेमेंट्स करना अभी आम आदमी की आदत में नहीं है। इसके बढ़ावे के लिए   340 करोड़ रुपये का  बजट रखा गया है।  सरकार की घोषणा अनुसार  एनपीसीआई 25 दिसंबर से अगले 100 दिन तक 15,000 विजेताओं की घोषणा करेगा।

December 13, 2016

डिजिटल लेन-देन से लगाम लगेगी टैक्स चोरों पर - जेटली


डिजिटल लेन-देन से भविष्य में देश के टैक्स चोर आयकर के जाल में आ सकते हैं, जिससे टैक्स चोरी पर लगाम लगाई  जा सकेगी । विमुद्रीकरण से कांग्रेस  सबसे ज्यादा परेशान है। वित्त मंत्री जेटली ने कहा सरकार लोगों की समस्याओं को खत्म करने  में लगी  है,प्र्त्येक  दिन रिजर्व बैंक के  बैंकिंग सिस्टम में बड़ी  मात्रा में कैश डाला जा  रहा है और स्थिति  सामान्य हो रही है । दूसरी ओर  पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने विमुद्रीकरण को लेकर मोदी  सरकार के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा था कि पूरे भारत को लेसकैश इकोनॉमी बनाना  बहुत कठिन  है। वित्त मंत्री ने कहा कि कैशलेस इकॉनमी से भ्रष्टाचार, कालेधन और आतंकवाद के लिए प्रयोग  होने वाले पैसे पर स्वयं ही  लगाम लग जाएगी।

November 12, 2016

पुराने नोटों पर रोक लगाने से क्या काला धन प्रणाली में दुबारा वापस नहीं आएगा - केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि  500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों को रोकने   की जानकारी भाजपा के लोगों को पहले ही थी। इसी कारण  जुलाई से सितंबर तक बैंकों में काफी तादाद में  रुपया जमा हुआ था। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री की घोषणा से जिन लोगों को दिक्कत हुई  है वह है  आम आदमी जो परेशानी से रोजाना  अपनी रोटी रोज़ी कमाता है।  केजरीवाल का कहना है कि पुराने नोटों पर रोक लगाने  से काला धन प्रणाली में वापस नहीं आएगा यह वास्तविकता से परे है। अरविंद केजरीवाल ने इसे आम नागरिक  की छोटी बचत पर सर्जिकल स्ट्राइक  बताया। किसानों, रिक्शाचालकों, दुकानदारों और मज़दूरों को इस परिवर्तन से बहुत नुकसान हुआ है। पैसे वाले और काले धन वाले लोग तो कोई न कोई तरीका निकाल ही लेते हैं। बताया जाता है  जैसे  काले धन वाले लोग 60,000 रुपए प्रति तोला की कीमत पर नकदी देकर सोना खरीद रहे हैं।