Showing posts with label सूरजकुंड शिल्प मेला. Show all posts
Showing posts with label सूरजकुंड शिल्प मेला. Show all posts

January 31, 2020

सूरजकुंड शिल्प मेला बना दुनिया का सबसे बड़ा क्राफ्ट फेयर

अंतरराष्ट्रीय पर्यटक कैलेंडर पर गर्व का स्थान होने के कारण सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेले के  पखवाड़े के दौरान एक लाख से अधिक आगंतुक तथा  हजारों विदेशी पर्यटक इसे देखने आते  हैं। सूरजकुंड मेला अद्वितीय है क्योंकि यह भारत के हस्तशिल्प, हथकरघा और सांस्कृतिक कपड़े की समृद्धि और विविधता को दर्शाता है, और यह दुनिया का सबसे बड़ा शिल्प मेला बनता जा रहा   है। इस वर्ष इसका आयोजन 1 से 16 फरबरी तक किया गया है। 

इस मेले का आयोजन सूरजकुंड मेला प्राधिकरण और हरियाणा पर्यटन द्वारा केंद्रीय पर्यटन, कपड़ा, संस्कृति और विदेश मंत्रालय के सहयोग से किया जाता है। 34 वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला -2020 के लिए, हिमाचल प्रदेश राज्य को थीम राज्य के रूप में चुना गया है। मेला में कम से कम 20 देश और भारत के सभी राज्य भाग लेंगे। थीम देश इसबार उज्बेकिस्तान है।