Showing posts with label शिवपाल सिंह यादव. Show all posts
Showing posts with label शिवपाल सिंह यादव. Show all posts

July 7, 2019

शिवपाल फिर गठबंधन की तलाश में

शिवपाल सिंह यादव की पार्टी 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए सपा  के साथ गठबंधन करने की संभावना है। इसके  संकेत उन्होंने दिए कि  कि उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव के लिए सपा के साथ गठबंधन कर सकती है। किन्तु उन्होंने   12 उप्र विधानसभा सीटों पर उपचुनावों में उनकी पार्टी सपा को समर्थन देगी या नहीं, पर टिप्पड़ी नहीं की। शिवपाल ने कहा कि हम  समाजवादी पार्टी में वापस नहीं जाएंगे किन्तु  हम उन लोगों से अवश्य  बात करेंगे जो हमारे साथ सहयोगी बनना चाहते हैं।  ऐसी अटकलें भी  थीं कि सपा यूपी विधानसभा चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर सकती है। हालांकि, दोनों दलों, जिन्होंने लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए हाथ मिलाया था, चुनाव हारने के बाद अलग हो गए।

October 7, 2018

हम धर्म निरपेक्ष लोग हैं और हम हमेशा से भाजपा के खिलाफ रहे - शिवपाल

समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा के नेता शिवपाल सिंह यादव ने इन अटकलों को बिलकुल गलत बताया कि उनके  भाजपा में शामिल होने के सम्भवना है। उन्होंने  कहा  हम धर्म निरपेक्ष लोग हैं, भाजपा में शामिल होने का कोई प्र्शन  ही नहीं उठता। मुलायम सिंह के चुनाव में खड़े होने के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि मैंने उन्हें समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा के उम्मीदवार के रूप में मैनपुरी से चुनाव लड़ने की पेशकश की है। आगे उन्होंने कहा नेताजी जिस भी पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, मोर्चा उनका खुलकर समर्थन करेगा। 

September 30, 2018

शिवपाल ने 30 और अध्यक्ष नियुक्त किए जिसमें ज्यादातर यादव और मुस्लिम समुदाय के

शिवपाल सिंह यादव के  सेक्युलर समाजवादी  मोर्चे ने 30 और जिले  और शहर इकाइयों के अध्यक्ष नियुक्त किए हैं । इनमें से अधिकांश लोग समाजवादी पार्टी के महत्वपूर्ण  पूर्व नेता हैं। इन पदाधिकारियों में अधिकांश लोग यादव और मुस्लिम समुदाय के हैं जोकि अखिलेश यादव की सपा का  आधार  माना जाता है। शिवपाल ने कहा कुछ ही दिनों में हमारी  पार्टी सभी 75 जिलों के अध्यक्ष नियुक्त हो जाएंगे। उन्होंने कहा हमारा मोर्चा  मैनपुरी  को छोड़कर सभी 80 सीटें पर चुनाव लड़ेगा। मोर्चा पंजीकरण के लिए चुनाव आयोग को  आवेदन कर चुका है । चुनाव आयोग  जल्द ही हमारी  नई पार्टी को मंजूरी दे सकता है।

December 9, 2017

अखिलेश के ईवीएम के आरोप में दम नहीं, हार का कारण कमजोर पार्टी संगठन - शिवपाल

उत्तर प्रदेश के सपा नेता और 'चाचा' शिवपाल सिंह यादव ने  अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा  स्थानीय निकाय चुनावों में के हार के लिए ईवीएम को दोषी  ठहराने  के आरोप को गलत बताते हुए  कहा सपा की हार का कारण कमजोर पार्टी  संगठन है। उन्होंने कहा  ईवीएम से छेड़छाड़ करने का कोई सबूत  नहीं है, यह सब जंगली आरोप हैं । शिवपाल सिंह ने कहा यदि  विधानसभा चुनावों के दौरान ईवीएम में कोई छेड़छाड़ हुई थी, तो मैंने जसवंतनगर सीट से भाजपा के उम्मीदवार को पराजित कर एक विशाल अंतर  जीत कैसे हांसिल की।  उन्होंने हाल के चुनावों पराजय का कारण पार्टी द्वारा  कमजोर उम्मीदवारों को मैदान में उतारना भी बताया। शिवपाल ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश  में बीजेपी सरकार सहकारी संस्कृति को नष्ट कर चुकी है। इससे स्पष्ट होता है कि यह लोकतंत्र में विश्वास नहीं करती  है।

June 4, 2017

शिवपाल नहीं चाहते थे अमर सिंह की सपा में बापसी

सपा के वरिष्ठ नेता  शिवपाल सिंह यादव  ने कुछ खुलकर बातें कहीं। बता दें  नेताजी मुलयम सिंह  के करीब माने वाले   राज्यसभा सदस्य अमर सिंह हमेशा पार्टी की आंतरिक  खींच तान में  कई बार अपमानित हो चुके हैं। 2016 में शिवपाल अमरसिंह की  सपा में वापसी के पक्ष में नहीं थे। शिवपाल ने बताया  कि मैंने अमर सिंह को सपा में न आने की सलाह दी थी। क्योकि मुझे अनुमान था कि उन्हें पार्टी में सम्मान मिलने वाला नहीं था। मैं सोचता हूँ कि जिस जगह रेस्पेक्ट न मिले वहां से दूर रहना चाहिए। अगले महीने शिवपाल सिंह समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने जा रहे हैं। क्या अमर सिंह भी इस मोर्चे में शामिल होंगे पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। मोर्चा के चुनाव मैदान में कूदने के बारे में उन्होंने साफ़ किया की लोकसभा चुनाव अभी दूर हैं, अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। 

June 2, 2017

चुगलखोरी और चापलूसी ने तोड़ा सपा परिवार को

नयी पार्टी समाजवादी सेक्यूलर फ्रंट बनाने  की शीघ्र घोषणा करने वाले हैं सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंहयादव।अपने बड़े भाई मुलायम सिंह  के  क़दमों पर चलने वाले शिवपाल सिंह ने कहा कि जहाँ मुलायम सिंह खड़े हो जाते हैं वहीँ से आरम्भ होता है समाजवाद। उन्होंने अपने भतीजे पर अखिलेश यादव पर निशाना साधा और साथ में यह भी कहा कि मैं उनसे बात करने को तैयार हूँ किन्तु हमारे नेता मुलायम सिंह से छीना सम्मान उन्हें बापिस लौटना होगा। उन्होंने कहा यदि वह इस फॉर्मूले पर  तैयार हैं  तो मैं उनसे बात कर सकता हूँ। शिवपाल ने कहा चुगलखोरी और चापलूसी ने परिवार में यह झगड़ा खड़ा किया है। सपा का भविष्य उज्वल है सिर्फ हमें पारवारिक झगड़े समाप्त कर एक साथ चलना होगा। बताया गया है कि आगामी छह जुलाई को समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का गठन किया जायेगा और  मुलायम सिंह यादव इस मोर्चे के अध्यक्ष होंगे।