Showing posts with label मुलायम सिंह यादव. Show all posts
Showing posts with label मुलायम सिंह यादव. Show all posts

December 10, 2017

अगले लोकसभा चुनाव में मैनपुरी होगा मुलायम का चुनाव मैदान

समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव ने 2019 के चुनावों में  अपने होम सिटी  मैनपुरी में वापस जाने का फैसला किया है। सपा नेता ने रविवार को मैनपुरी में एक शादी समारोह के दौरान अपनी पारंपरिक सीट पर लौटने की घोषणा की। मुलायाम के  इस निर्णय के बाद वर्तमान  सांसद, तेज प्रताप के वहविष्य  के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने  कहा, हम देखेंगे कि उन्हें  कहाँ से  एडजस्ट किया जाये।  तेज प्रताप  लालू प्रसाद के दामाद भी हैं। बतादें उत्तर प्रदेश के  नागरिक निकाय चुनावों सपा को बुरी हार का सामना करना पड़ा। सोलह मेयर की सीटों में से सपा एक भी सीट हांसिल कर सकी। मुस्लिम वोट का झुकाव अब मायावती की पार्टी बसपा की ओर ज्यादा है। अलीगढ़ और मेरठ में  बसपा के मेयर चुनाव जीतने में सफल रहे। 

October 16, 2017

सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित,मुलायम सिंह को कोई स्थान नहीं

सपा की घोषित 55 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी  में संस्थापक मुलायम सिंह यादव का नाम नदारत है। कार्यकारिणी की घोषणा अखिलेश यादव ने की। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में  नरेश अग्रवाल, आजम खां ,इंद्रजीत सरोज समेत दस  महासचिव, संजय सेठ कोषाध्यक्ष राजेंद्र चौधरी, कमाल अख्तर और अभिषेक मिश्र समेत दस  सचिव, जया बच्चन, अहमद हसन तथा रामगोविन्द चौधरी समेत 25 सदस्य तथा छह विशेष आमंत्रित सदस्यों के नाम  हैं। साथ ही किरणमय नंदा को उपाध्यक्ष बनाये रखा गया है। मुलायम सिंह के बारे में पार्टी  के प्रांतीय प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि इस बारे में वह कुछ नहीं कह सकते। राजेंद्र चौधरी बताया  इतना जरूर है कि हमारी पार्टी के संविधान में संस्थापक पद का कोई प्रावधान नहीं है। 

October 8, 2017

काफी समय बाद अखिलेश और मुलायम एक साथ बैठे दिखाई दिए

सपा संरक्षक  मुलायम सिंह यादव पार्टी के राष्ट्रीय सम्मलेन में तो नहीं आये थे किन्तु उनके पुत्र अखिलेश यादव  सपा के फिर से  अध्यक्ष बनने के बाद लखनऊ में अपने पिता से  मिले। अब तक दोनों के बीच  सम्बन्ध ठन्डे चल रहे थे। किन्तु अखिलेश ने अपने पिता से इस मीटिंग का फोटो ट्विटर पर साझा भी  किया।  ट्विटर पर साझा की गई  इस फोटो से ऐसा लग रहा है कि अब पार्टी में सब कुछ ठीक होने जा रहा है। बताया जाता है कि  तीन महीने बाद अखिलेश और मुलायम सिंह एक साथ बैठे दिखाई दिए हैं । मुलायम के आगरा में आयोजित  राष्ट्रीय अधिवेशन में आने की पूरी उम्मीद  थी लेकिन अंतिम समय पर  उनका मूड बदल गया ।

September 29, 2017

अखिलेश मनाने में लगे हैं मुलायम को, दिख सकते हैं एक साथ मंच पर आगरा में

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने  अपने पिता मुलायम सिंह यादव को  सपा की  आगरा में आयोजित  राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में आमंत्रित किया है । सपा के एमएलसी, सुनील सिंह साजन ने कहा कि हमें  पूरी उम्मीद है कि नेताजी इस बैठक में अवश्य  शामिल होंगे। । यदि मुलायम सिंह ने अखिलेश का  निमंत्रण स्वीकार कर लिया है, तो शायद यह पहली बार हो सकता है जब  मुलायम सिंह और अखिलेश दोनों एक साथ  मंच पर दिखाई दें। 25 राज्यों के लगभग 15,000  कार्यकर्ताओं के राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में भाग  लेने की उम्मीद की जा रही है। इस बैठक में अखिलेश यादव को अगले पांच सालों तक सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना जाएगा। मार्च में आयोजित  विधानसभा चुनाव के तुरंत बाद, उन्होंने राज्य और राष्ट्रीय प्रमुख की अवधि तीन वर्ष  से बढ़ाकर  पांच वर्ष  संशोधित की थी।

September 24, 2017

मुलायम की नयी पार्टी बनने से सपा में दम नहीं रहेगी

मुलायम सिंह यादव  का  लोकदल के साथ मिल कर एक नयी पार्टी की घोषणा करना प्राय तय सा नज़र आ रहा है। लोकदल के अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि नेताजी सोमवार को लोहिया ट्रस्ट में एक प्रेस कांफ्रेंस में  लोकदल के साथ मिलकर  एक नयी पार्टी बनाने  की घोषणा करेंगे। उधर सपा  के राज्य स्तरीय सम्मेलन के पोस्टरों से मुलायम सिंह और शिवपाल यादव  के फोटों का  गायब होना इस बात का साफ इशारा था कि अब सपा  में उनके लिए कोई स्थान  नहीं बचा  है। समाजवादी नेता स्व. चरण सिंह द्वारा बनाई  लोकदल पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त पार्टी है। मुलायम सिंह यादव  इसके संस्थापक सदस्य थे। पार्टी के पास अपना  पुराना चुनाव चिन्ह  खेत जोतता किसान है। 

August 16, 2017

हमारा सबसे बड़ा खतरा चीन - मुलायम

इटावा :  पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि चीन पाकिस्तान से मिलकर भारत पर आक्रमण कर सकता है। उन्होंने कहा चीन युद्ध की तैयारी में नज़र आता है। मुलयम ने कहा कि इन दोनों देशों का गठबंधन भारत के ही में नहीं  है। सपा नेता दोहराया  कि आजादी में राम मनोहर लोहिया, जेपी और अन्य समाजवादियों का विशेष  योगदान रहा है।  मुलायम ने कहा कि समाजवादी जो कहते हैं, वह करके दिखाते हैं। उन्होंने फिर दोहराया कि चीन  लड़ाई की तैयारी में है।

June 2, 2017

चुगलखोरी और चापलूसी ने तोड़ा सपा परिवार को

नयी पार्टी समाजवादी सेक्यूलर फ्रंट बनाने  की शीघ्र घोषणा करने वाले हैं सपा के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंहयादव।अपने बड़े भाई मुलायम सिंह  के  क़दमों पर चलने वाले शिवपाल सिंह ने कहा कि जहाँ मुलायम सिंह खड़े हो जाते हैं वहीँ से आरम्भ होता है समाजवाद। उन्होंने अपने भतीजे पर अखिलेश यादव पर निशाना साधा और साथ में यह भी कहा कि मैं उनसे बात करने को तैयार हूँ किन्तु हमारे नेता मुलायम सिंह से छीना सम्मान उन्हें बापिस लौटना होगा। उन्होंने कहा यदि वह इस फॉर्मूले पर  तैयार हैं  तो मैं उनसे बात कर सकता हूँ। शिवपाल ने कहा चुगलखोरी और चापलूसी ने परिवार में यह झगड़ा खड़ा किया है। सपा का भविष्य उज्वल है सिर्फ हमें पारवारिक झगड़े समाप्त कर एक साथ चलना होगा। बताया गया है कि आगामी छह जुलाई को समाजवादी सेक्युलर मोर्चे का गठन किया जायेगा और  मुलायम सिंह यादव इस मोर्चे के अध्यक्ष होंगे। 

May 7, 2017

कांग्रेस ने हमारे जीवन को बर्बाद किया - मुलायम सिंह यादव

सपा की  उत्तर प्रदेश  चुनाव में हार के लिए पार्टी के  कांग्रेस के साथ गठबंधन को जिम्मेदार बताया वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव ने।मैनपुरी में विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उनके जीवन को बर्बाद करने में कोई कसर बकाया नहीं रखी थी। मेरी अखिलेश को ऐसा न करने की  सलाह के बावजूद उसने नहीं माना और अपनी मनमानी की और इसका खमियाज़ा भुगता। मुलायम सिंह यादव पहले भी समाजवादी पार्टी की  हार के लिए अखिलेश की हरकतों  को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। सपा  वरिष्ठ नेता कहा था कि उनके पुत्र  ने उनका अपमान किया था। इसका  मतदाताओं ने महसूस किया कि जो अपने पिता का नहीं है वह किसी और का विश्वासपात्र कैसे  हो सकता।   

April 1, 2017

मुलायम का अखिलेश के प्रति गुस्सा कम नहीं हुआ

मुलायम सिंह यादव ने अपने पुत्र पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खिलाफ बयान में  कहा कि जो बेटा अपने पिता का नहीं हो सकता है, वह आपका क्या होगा। वह मैनपुरी में लोगों को संबोधित कर रहे थे। लगता है आंतरिक झगड़ा अभी समाप्त नहीं हुआ है। मुलायम ने जो अपमान महसूस किया उसकी गर्मी अभी नहीं उतरी है। उनकी नाराज़गी अभी भी जारी  है। क्योंकि उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों  में मेरा इतना बड़ा  अपमान नहीं हुआ। उन्होंने पार्टी की आंतरिक लड़ाई को अखिलेश की हार का जिम्मेदार बताया।  

March 7, 2017

आखिर मुलायम सिंह की पत्नी साधना यादव ने खोली खामोशी

मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना यादव आखिर कुछ बोले बिना नहीं रह सकीं। उन्होंने कहा कि  अखिलेश बागी हो गया। इसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी। अखिलेश को जरूर किसी ने भड़काया है। वह नेताजी का हमेशा सम्मान करता है। हमारे परिवार को तोड़ने की कुछ लोगों ने पूरी कोशिश की। अखिलेश को मैंने  हमेशा अपने बेटे के समान  माना। यह मेरी कल्पना से बाहर था  कि अखिलेश नेताजी के जीते ऐसा कर सकेगा। मुझे पूरा अनुमान है कि  अखिलेश को कुछ लोगों ने भड़का दिया है जिससे मैं भारी दुखी हूँ। उधर मैं समझ नहीं पा रही हूँ कि  रामगोपाल को भी  क्या हो गया है। चाहें कुछ भी हो मेरी इच्छा है कि समाजवादी फिर से जीत कर प्रदेश में सरकार बनाए। 

August 15, 2016

सपा में शिवपाल के खिलाफ साजिश - मुलायम

कई मंत्रियों पर सुविधाखोर होने का भी  आरोप लगाया मुलायम ने 

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा कि शिवपाल के खिलाफ साजिश चल रही है। यह उन्होंने पन्द्रह अगस्त के कार्यक्रम के बाद सपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं की मीटिंग को संबोधित करते समय कहा।कई मंत्रियों पर सुविधाखोर होने का आरोप भी  लगाया।  शिवपाल को सपा के लिए बहुत महत्वपूर्ण बताया। मुलायम ने कहा कि उनके जाने से  पार्टी में  दरार पड़ सकती है। 

July 8, 2016

मुलायम ने फटकारा कार्यकर्ताओं को, आंतरिक झगड़े सत्ता खो सकते हैं

समाजवदी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव अपनी पार्टी के आंतरिक झगड़ों से परेशान हो चुके हैं। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से  कहा कि उन्हें सुधर जाना चाहिए। यदि वे नहीं सुधरे तो आने वाले चुनावों में सत्ता हमारे हाथों से चली जाएगी। उन्होंने कहा सारी पार्टियां यू पी में चुनाव जीतने के लिए मज़बूत प्रयत्न कर रहे हैं। मुलायम ने कार्यकर्ताओं को  फटकारते हुए कहा अगर अब भी नहीं बदले तो  हम सत्ता को बापिस नहीं हांसिल कर सकेंगे। बता दें  कि प्रदेश सरकार में मंत्री और मुख्यमंत्री के चाचा शिवपाल यादव से भी अखिलेश के मनमुटाव के समाचार चर्चा में हैं। 

April 17, 2016

मुलायम सिंह यादव को देश का अगला पी एम चुना जाये : अखिलेश


लखनऊ:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को देश का  अगला प्रधानमंत्री चुने जाने की इच्छा व्यक्त की। अखिलेश की इच्छा  है कि देश का अगला प्रधानमंत्री समाजवादी हो। ये विचार उन्होंने ‘स्पीच्स इन पार्लियामेंट बाई चंद्रशेखर’ किताब के  विमोचन के समय कहे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश  सरकार द्वारा किये विकास कार्यों का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की जयंती के अवसर  पर कहा कि उन्होंने समाजवाद को हमेशा  आगे बढ़ाया और इसको  मजबूती प्रदान की।
उल्‍लेखनीय है कि गत दिवस ही सपा मुखिया के

October 12, 2015

नितीश और लालू के धोखे से नाराज मुलायम ने भाजपा की तारीफों का पुलंदा बांधा

लखनऊ - समाजवादी पार्टी के नेता  मुलायम सिंह यादव  भविष्यवाणी करने में नहीं चुके  कि बिहार में भाजपा की लहर है और प्रदेश के  लोग यहाँ की राजनीति में परिवर्तन  चाहते हैं।  मुलायम  ने  कहा कि हवा भाजपा  के पक्ष में है।  समाजवादी पार्टी के नेता ने कहा कि हम चाहते हैं कि बदलाव हो। उन्होंने   भाजपा के अच्छे कामों की प्रशंसा  भी की.मुलायम सिंह के इस बयान ने  राजनीति को  नयी दिशा दी  है।  इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सपा नेता  की तारीफ की थी।  बिहार विधानसभा चुनाव में मुलायम ने भाजपा की तारीफ कर दी है.सपा नेता  मुलायम सिंह  का यह बयान भाजपा का मनोबल बढ़ाएगा।