Showing posts with label ब्रिटेन. Show all posts
Showing posts with label ब्रिटेन. Show all posts

April 15, 2018

नरेन्‍द्र मोदी स्‍वीडन और ब्रिटेन की पांच दिन की यात्रा पर

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी स्‍वीडन और ब्रिटेन की पांच दिन की यात्रा के दौरान पहले वह  स्‍टॉकहोम पहुंचेंगे। वहां वह  भारत-नॉर्डिक शिखर सम्‍मेलन में भाग लेंगे।स्‍वीडन में भारत की राजदूत मोनिका कपिल मोहता ने कहा  कि नरेन्‍द्र मोदी की यात्रा से निवेश, व्‍यापार और नई प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में सहयोग बढ़ने की संभावनाएं हैं। यात्रा के दूसरे चरण में वह बुधवार और बृहस्‍पतिवार को लं‍दन में राष्‍ट्रमंडल देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्षों और शासनाध्‍यक्षों की बैठक चोगम में शामिल होंगे।प्रधान मंत्री स्टॉकहोम और लंदन में सीईओ के फोरम को भी संबोधित करेंगे। साथ ही दोनों  जगहों पर प्रवासी  भारतियों को भी संबोधित करेंगे ।

May 5, 2017

ब्रिटेन के लिए बढ़ती वीजा कठिनाइयों को उठाया भारत ने

भारत ने अपने  छात्रों, कुशल पेशेवरों और भारतीय राजनयिकों के आश्रितों के सामने आ रही वीजा संबंधित कठिनाइयों के मुद्दे को उठाया। ब्रिटेन ने आश्वासन दिया कि इस बारे में ध्यान दिया जाएगा। ब्रिटेन के पक्ष ने यह उल्लेख किया कि वह दोनों देशों के मध्य लोगों की मौजूदा आवाजाही को बढ़ावा देने के लिए वीजा प्रक्रिया में सुधार लाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं।भारत और ब्रिटेन के बीच पहली गृह मंत्रालय वार्ता के दौरान इस मुद्दे को उठाया गया ।भारतीय पक्ष का नेतृत्व केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने और ब्रिटेन के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सुश्री पात्सी विलकिंसन, दूसरी स्थायी सचिव, होम ऑफिस ब्रिटिश सरकार ने किया।दोनों पक्ष राष्ट्रीयता सत्यापन के अधीन इंग्लैंड में अधिक अवधि से रह रहे भारतीयों की सहज वापसी सुनिश्चत करने के लिए भी मिलकर कार्य करेंगे। गंभीर और संगठित अपराधों से निपटने के लिए अपराधियों के डाटा साझा

June 24, 2016

ब्रिटेन ने अलविदा किया यूरोपियन यूनियन को

लंदन  फाइनेंस मार्किट में भारी गिरावट

ब्रिटेन के लोगों ने जनमत में ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए  यूरोपियन यूनियन से बाहर होने को चुना। 51.90 वोट   यूरोपियन यूनियन से आउट के समर्थन में  पड़े।  ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन से निकलने से यूरोप और ब्रिटेन में अधिकांश लोगों को बहुत बड़ा झटका लगा है खासतौर से नई पीढ़ी के युवाओं को जो कि यूरोप को मज़बूत और बड़ा देखना चाहते हैं।  प्रधान मंत्री डेविड  कैमरॉन को विजय की पूरी उम्मीद थी। इस समाचार के सुनते ही लंदन  फाइनेंस मार्किट काफी नीचे चला गया। स्टर्लिंग पोंड की कीमत काफी  गिर गई। ब्रिटेन एक्सिट की विजय के बाद  प्रधान मंत्री डेविड  कैमरॉन अपना पद छोड़ने की भी  घोषणा कर दी है। उधर स्कॉटलैंड और नार्थ आयरलैंड  यूरोपियन यूनियन में रहना चाहते हैं । इस जनमत ने ब्रिटेन में समस्याएं और  बड़ा दी हैं। उधर फ्रांस ने कहा किसी यूनियन को संगठित करना बहुत मुश्किल होता है जबकि तोडना बहुत आसान होता हैं। 

November 2, 2015

ब्रिटेन में भारत के नये उच्चायुक्त होंगे नवतेज सरना

भारत के नये उच्चायुक्त  नवतेज सरना
नई दिल्ली।  नवतेज सरना को ब्रिटेन में भारत का नया उच्चायुक्त नियुक्त किया  गया है।नवतेज भारतीय विदेश सेवा के 1980 बैच के अधिकारी हैं।सरना इस समय विदेश मंत्रालय में सचिव पश्चिम हैं। वह  ब्रिटेन में रंजन मथाई का स्थान लेंगे और उनके  जल्दी ही नया पदभार संभालने की उम्मीद है।सरना इससे पूर्व  विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता तथा इजरायल में भारत के राजदूत के रूप में काम कर चुके हैं।