July 10, 2020

भारत बना ब्रिटेन में निवेश का दूसरा सबसे बड़ा स्रोत

लंदन -ब्रिटेन के  अंतर्राष्ट्रीय व्यापार यूके के लिए विभाग के आंकड़े बताते हैं कि भारत अब यूके का दूसरा सबसे बड़ा निवेश का स्रोत बन गया है। अमेरिका ब्रिटेन में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का अब भी  प्रथम  स्रोत बना हुआ है। भारत ने यूके में 120 परियोजनाओं में निवेश किया और वहां  5,429 नई नौकरियां पैदा कीं। अमरीका 462 परियोजनाओं में निवेश  तथा  20,131 नौकरियां उपलब्ध करा  रहा है। अमरीका और  भारत के बाद  जर्मनी, फ्रांस ,चीन और हांगकांग के निवेशकों का नंबर आता है । ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने  72 परियोजनाओं में निवेश किया है ।फोर्ब्स की 2019 की रिपोर्ट में व्यापार  के लिए ब्रिटेन को शीर्ष देश पाया गया। किसी देश को  यह  रैंकिंग  वहां की  संपत्ति के अधिकार से लेकर निवेशक संरक्षण तक 15 विभिन्न फैक्टर्स  पर आधारित होती है ।