August 15, 2019

भारत और भूटान एक विशेष और समय-परीक्षित संबंध साझा करते हैं

भारत के प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी भूटान के प्रधानमंत्री डॉ. लोटे त्शेरिंग के निमंत्रण पर, 17-18 अगस्त 2019 को भूटान का दौरा करेंगे। यह यात्रा भारत के भरोसेमंद दोस्त और पड़ोसी भूटान के साथ अपने संबंधों को लेकर भारत सरकार की उच्च प्राथमिकता को दर्शाती है। प्रधानमंत्री मोदी की भूटान यात्रा, अपने दूसरे कार्यकाल के शुरू में, भारत सरकार की अपनी "पड़ोसी पहले वाली नीति" पर निरंतर जोर देने के अनुरूप है।

यात्रा के दौरान, प्रधानमंत्री की महामहिम जिग्मे खेसर नामग्येल वांगचुक, भूटान के राजा और महामहिम जिग्मे सिंग्ये वांगचुक, भूटान के चौथे राजा और भूटान के प्रधानमंत्री डॉ. लोटे त्शेरिंग के साथ बातचीत की उम्मीद है।


भारत और भूटान एक विशेष और समय-परीक्षित संबंध साझा करते हैं, आपसी समझ और सम्मान के जुड़ाव के साथ और एक साझा सांस्कृतिक विरासत और लोगों से लोगों के मजबूत संबंधों द्वारा प्रबलित करते हैं।

यह यात्रा दोनों देशों के बीच नियमित उच्च स्तरीय आदान-प्रदान की परंपरा को ध्यान में रखते हुए है और दोनों पक्षों को आर्थिक और विकास सहयोग, जल-विद्युत सहयोग, लोगों से लोगों के बीच संबंधों सहित द्विपक्षीय साझेदारी को और मजबूत करने और विविधता लाने के तरीकों पर चर्चा करने के साथ ही क्षेत्रीय मामलों और आपसी हित के अन्य मुद्दों पर विचार साझा करने का अवसर प्रदान करेगी।