July 31, 2019

हेरीटेज सिटी का मूल स्वरूप रखने में लोगों का विशेष योगदान आवश्यक

हेरीटेज वाक  रिक्शों पर, विदेशियों का  नया अनुभव 
आगरा। हेरीटेज सिटी घोषित करने के सम्बन्ध में आगरा डवलपमेन्ट फाउन्डेशन की ओर से उसके सचिव के.सी.जैन ने कहा कि हेरीटेज सिटी वाले क्षेत्र के रख-रखाव व उसके मूल स्वरूप को बनाये रखने में उस क्षेत्र के लोगों का विशेष योगदान आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जिस क्षेत्र को हेरीटेज सिटी के लिये प्रस्तावित किया जा रहा है उस क्षेत्र के लोगों से विचार विमर्श अवश्य किया जाये और यदि वह सहमत हों तभी हेरीटेज सिटी के प्रस्ताव को आगे बढ़ाया जाये क्षेत्र विशेष के लोगों की सहमति के बिना हेरीटेज सिटी की अवधारणां पूरी नहीं हो सकती है। साथ ही इस बात पर जोर दिया कि  यदि हेरीटेज सिटी के क्षेत्र में निजी भवनों को हेरीटेज बिल्डिंग के रूप में चिन्हित किया जाता है तो उन्हें आर्थिक रूप से मदद देना आवश्यक है अन्यथा ऐसे भवन स्वामी हेरीटेज बिल्डिंग को बनाये नहीं रखेंगे। उनका कहना है कि हेरीटेज सिटी
के बनाये गये प्रस्ताव में ऐसे भाग भी सम्मिलित हैं जो मलिन बस्तियाँ हैं अथवा जहां कोई भी पुरातत्व महत्व का भवन नहीं है। अतः ऐसी स्थिति में हेरीटेज सिटी के प्रस्ताव में केवल वह क्षेत्र ही सम्मिलित किया जाये जो औद्योगिक या मलिन बस्ती न हो और जिसका अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पुरातत्वीय महत्व हो ताकि ऐसे क्षेत्र के प्रबन्धन या नियमन में कठिनाई उत्पन्न नहीं हो। श्री जैन ने कहा,आगरा ताज ट्रिपेजियम जोन  पुरातत्व कानून के प्रतिबन्धों से जकड़ा हुआ है हेरीटेज सिटी और अधिक प्रतिबन्धों के रूप में न बने।