July 26, 2019

आगरा के पब्लिक पार्कों में प्रवेश टिकट की घोषणा का जनता द्वारा जबदस्त विरोध

शहरवासी कानूनी लड़ाई के लिए  तैयार

आगरा। ताज सिटी  के नागरिक  शहर में नए पब्लिक  पार्कों की मांग काफी समय से कर रहे  हैं। नए पार्क बनाने के स्थान पर दो पुराने  पालीवाल व शाहजहां पार्क में  15 सितंबर से  सरकार  द्वारा प्रवेश टिकट लगाने का निर्णय लिया गया है।एक तरफ प्रधानमंत्री मोदीजी योग करने का डंका बजा  रहे हैं और दूसरी तरफ पब्लिक पार्कों में प्रवेश टिकट लगाने की बात , यह दोनों बात विपरीत हैं। आगरा के सोशल मीडिया पर इसका जमकर विरोध किया जा रहा है । आगरा में सरकार की स्वास्थ सेवाएं कितनी स्वस्थ हैं ,यह सब जानते हैं। प्रवेश टिकट लगने पर  शहर का आम आदमी इन पार्कों से वंचित हो जायेगा। सोशल मीडिया पर  इसका जमकर विरोध चल रहा है। लोगों का कहना है कि  सरकार  अच्छे हॉस्पिटल नहीं दे सकती है  तो कम कम खुली हवा  लेने के लिए  पार्क तो गरीबों और उनके परिवारों को साँस लेने के छोड़ दे ।शहरनिवासी श्री विनोद भारद्वाज का कहना है  कि इसका  हर स्तर पर कड़ा प्रतिरोध होना चाहिए ! जरूरत पड़े तो  हाईकोर्ट जाकर इनके मनसूबे ध्वस्त किया जाना  चाहिए । श्री जगत नारायण शर्मा ने कहा कि  दरअसल जो  टिकट  लगाने की योजना बनाने में लगे हैं वे सरकारी हैं, परदेसी हैं, अपनी काबलियत दिखाना चाहते हैं, आज हैं  कल चले जाएंगे, इन्हें शहरवासियों की जरूरत और परेशानियों की
क्या परवाह। उन्होंने कहा कि  जरूरत है शहरवासियों के एकजुट होने की, इनके सामने विरोध प्रकट करने के कारगर तरीके से निपटना होगा, कानूनी लड़ाई के लिए भी तैयार रहना पड़ेगा।श्री नानक टोनी ने कहा कि  लगता है अब यह शहर  रहने लायक नहीं रहा इस शहर को छोड़ देना चाहिए कैसे लोगो के हाथ

मे कमान है। जो दो पार्क साँस लेने के लिए बचे थे उसपर भी  सरकार प्रवेश टिकट लगा रही है। उन्होंने आगे कहा आगरा नगर निगम की पालिसी समझ से परे है इधर सब को बोल रहे है कि व्रक्ष लगाओ उधर पार्को को बंद कर रहे है हमने तो आज तक इतने सालों में पालीवाल पार्क को कोई नुकसान होते देखा है हद है सब छीन लो पब्लिक से वैसे ही शहर जाम से झूझ रहा है