March 7, 2019

यमुना नदी में दिल्ली से प्रयागराज के बीच जलमार्ग परियोजना की रिपोर्ट तैयार

लखनऊ -केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने  ₹एक लाख 25 हजार करोड़ की लागत वाली विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इनमें 1 लाख 10 हजार करोड़ लागत की 5972 किलोमीटर लंबी परियोजनाएं भी शामिल है।  इस अवसर पर वाराणसी से हल्दिया के बीच एक हजार 86 किलोमीटर लंबे जलमार्ग के सफल संचालन की चर्चा करते हुए केंद्रीय परिवहन  नितिन गडकरी ने  कहा कि यमुना नदी में दिल्ली से प्रयागराज के बीच जलमार्ग तैयार करने के लिए 12  हजार करोड़ रुपए की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की गई है।गृहमंत्री ने गोमती सहित पांच नदियों को प्रदूषण मुक्त करने के लिए 14 शहरों का समावेश करने वाली 1 हजार 970 करोड रुपए की मल जल शोधन परियोजना का भी शिलान्यास व लोकार्पण किया।
  
कुंभ मेले के दौरान गंगा नदी में प्रचुर मात्रा में स्वच्छ जल उपलब्ध होने की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि गंगा जल प्रदूषण की मात्र 30 प्रतिशत की परियोजनाओं की पूरा होने पर भी ऐसी स्थिति है, जब सभी परियोजनाएं पूरी हो जाएंगी तो क्या स्थिति होगी।
 उत्तर प्रदेश की नदियों में जल्दी ही एयरबोट सेवा शुरू करने की योजना की जानकारी देते हुए आशा व्यक्त की इस से उत्तर प्रदेश पर्यटन के क्षेत्र में नंबर वन राज्य बन सकेगा।


  सभा में अपने विचार व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश के पिछले 23 महीनो के दौरान केंद्र सरकार तथा श्री गडकरी के सहयोग और उत्तर प्रदेश सरकार के प्रयासों से राज्य की सड़कों का जबरदस्त कायाकल्प हुआ है। प्रयागराज कुंभ मेले में प्रचुर मात्रा में स्वच्छ जल और स्वच्छ जल का प्रवाह उपलब्ध होने का श्रेय नमामि गंगे परियोजना को देते हुए उन्होंने कहा कि इस बार के कुंभ मेले में 2013 के कुंभ की तुलना में लगभग 2  गुना ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नमामि गंगे परियोजना से गंगा, देश के नेतृत्व और स्वयं इस परियोजना के प्रति लोगों मेएक विश्वास पैदा हुआ है