January 12, 2019

'रामनाम खिचडी, रामनाम खीर' आयोजन के साथ मकर संक्रांति पर्व 'का आगाज

--श्रीनाथ जलसेवा के तत्‍वावधान में सामाजिक समरसता को दिया गया बल 
श्री अनिल गोयल एडवोकेट ने श्रीनाथजी को खिचडी-खीर'का भोग लगा
 कर किया  मकर संक्राति पर्व 'का आगाज। फोटो: असलम सलीमी
आगरा:श्रीनाथ जलसेवा के तत्‍वावधान में सामाजिक समरसता एवं विविधता में एकता की विचारधारा को जनजन तक पहंचाने के लिये 'रामनाम खिचडी रामनामखीर'( सामूहिक खिचडी भोग ) का आयोजन किया गया । कार्यक्रम का उद्धाटन करते हुए श्री सुनील कुमार सुराना (न्‍यू अशोक पेंट मार्ट ) ने कहा कि एकता और सामाजिक समरसता हमारे समाज का मूल अधार है ।यह केवल विचारधारा ही नहीं जीवन शैली का अभिन्‍न भाग है । कार्यक्रम के मुख्‍यातिथि समाजसेवी श्री दिनेश कुमार बंसल 'कातिब' ने कहा समाज में आपसी भाईचारा और सहभागिता की भावना को जिस प्रकार से भी
बलमिले देने का प्रयास करना चाहिये।
कार्यक्रम की अध्‍यक्षता करते हुए वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता  श्री अनिल गोयल  एडवोकेट ने कहा कि सामूहिक खिचडी भोग की बृजक्षेत्र में पुरानी परंपरा रही है । व्‍यवहार में यह आपसी मेलजोल और सामाजिक सरोकारों में परस्‍पर सहभागिता का पर्याय है । उन्‍होंने उम्‍मीद जतायी कि 'रामनाम खिचडी , राम नाम खीर 'को श्रीनाथजील सेवा के
  सामाजिक समरसता भारतीय संस्‍कृति की सबसे बडी ताकत 
उत्‍कृष्‍ठ प्रकल्‍प के रूप में समाजिक स्‍वीकारिता  मिलेगी तथा यह परंपरा और भी व्‍यापक बनेगी।दिल्‍ली गेट स्‍थित गोबर्धन होटल पर आयोजित इसआयोजन में सर्वश्री डा सुनील कुमार सबनानी, डा मुन्‍ना बाबू जैन, सेठ दौलतराम (गजक वाले) डा रूपक सक्‍सेना,वरिष्‍ठ पत्रकार बृज खंडेलवाल डा प्रकाश शर्मा,अशोक राठी,सेठ ईसू भाई,सरदार दलजीत सिंह(लक्‍कीकार्ड वाले) आदि समाजसेवी सहभागी थे। कार्यक्रम के समन्‍वयक श्रीनाथ जल सेवा के श्री बांके लाल महेश्‍वरी ने उपस्‍थितो का आभार व्‍यक्‍तकर उम्‍मीद जतायी कि श्रीनाथ जल सेवा के प्रकल्‍पें में समाज के सभी वर्गों का इसी प्रकार से सहयोग मिलता रहेगा ।