September 6, 2018

भारत-अमेरिका के संबंध नई ऊंचाईयों पर पहुंचेंगे - सीतारमण

रक्षामंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कहा है कि भारत-अमेरिका 2+2 संवाद बहुत रचनात्मक, सकारात्मक और उद्देश्यपूर्ण रहा है। बैठक के बाद उन्‍होंने एक प्रेस वक्‍तव्‍य में अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्‍स मेट्टिस और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो को उनके विजन और प्रतिबद्धता के लिए धन्‍यवाद दिया। उन्‍होंने कहा कि हम भारत और अमेरिका के बीच मजबूत रिश्‍तों को बहुत महत्‍व देते हैं।श्रीमती सीतारमण ने कहा कि आज की बैठक में हमने शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए सहयोग को दोहराया और दोनों देशों के बीच आर्थिक विकास, समृद्धि और प्रगति के बारे में दोनों देशों के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने पर जोर..
दिया। हम आतंकवाद के खतरे और अपनी साझा सुरक्षा चुनौतियों से मिलकर लड़ेंगे। उन्‍होंने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी के संबंध में रक्षा सहयोग अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण आयाम है। आज भारत के सुरक्षाबल अमेरिका के साथ गहरा प्रशिक्षण और संयुक्‍त अभ्‍यास कर रहे हैं। इस क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए हमने निर्णय किया है कि 2019 में भारत के पूर्वी तट पर अमेरिका के साथ पहली बार तीनों सेनायें संयुक्‍त अभ्‍यास करेंगी। इसके अलावा, समुद्री सुरक्षा पर भी दोनों देश आपसी संबंधों पर ध्‍यान दे रहे हैं।

रक्षामंत्री ने कहा कि हमने अमेरिका द्वारा भारत को अपना प्रमुख रक्षा साझेदार बनाने के विषय और उसके विस्‍तार पर चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि भारत, अमेरिका के इस निर्णय का स्‍वागत करता है, जिसके तहत अमेरिका ने भारत को एसटीए टीयर-1 का दर्जा प्रदान किया है। हमने बातचीत के दौरान ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के तहत भारत में रक्षा उत्‍पादन को प्रोत्‍साहन देने के संबंध में सरकार द्वारा उठाये गये कदमों का जायजा लिया।

श्रीमती सीतारमण ने कहा कि अमेरिका और भारत के बीच अपनी तरह का पहला 2+2 संवाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी और अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की दूरदृष्टि का परिणाम है। इससे दोनों देशों के संबंध नई ऊंचाईयों पर पहुंचेंगे।