August 30, 2018

वृंदावन में दयनीय हालात में रह रहीं 1000 विधवा महिलाओं के लिए विधवा घर का निर्माण

वृंदावन। महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका संजय गांधी कल उत्‍तर प्रदेश के वृंदावन में मुख्‍यमंत्री आदित्‍यनाथ योगी के साथ विधवा महिलाओं के रहने के लिए कृष्‍ण कुटीर का उदघाटन करेंगी। इस अवसर पर उत्‍तर प्रदेश की महिला कल्‍याण मंत्री प्रोफेसर रीता बहुगुणा जोशी, महिला कल्‍याण राज्‍य मंत्री स्‍वाति सिंह और मथुरा की सांसद  हेमा मालिनी भी मौजूद रहेंगी। कृष्‍ण कुटीर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की स्‍वाधार गृह योजना के तहत 1000 विधवा महिलाओं के लिए निर्मित विशेष घर है। यह किसी सरकारी संगठन द्वारा बनाया गया अपनी तरह की अब तक की सबसे बड़ी सुविधा है।

      विधवाओं के लिए नए घर कृष्‍ण कुटीर का निर्माण 57.48 करोड़ रूपये (जमीन की कीमत सहित) की लागत से राष्‍ट्रीय भवन निर्माण निगम (एनबीसीसी) द्वारा 1.4 हेक्‍टेयर जमीन पर किया गया है। इसकी क्षमता एक हजार महिलाओं के रहने की है। कृष्‍ण कुटीर का डिजाइन हेल्‍पेज इंडिया की सलाह से तैयार किया गया है और यह उम्रदराज लोगों के अनुकूल है। यह भू-तल सहित तीन मंजिला भवन है जिसमें वरिष्‍ठ नागरिकों और दिव्‍यांग जनों की आवश्‍यकता के अनुरूप सभी सुविधाएं दी गई हैं। इसमें एक बड़ा आधुनिक रसोईघर और एक कौशल सह प्रशिक्षण केन्‍द्र बनाया गया है। भवन का निर्माण खर्च केन्‍द्र सरकार ने वहन किया है और इसका प्रबंधन उत्‍तर प्रदेश की सरकार करेगी। इसके नामकरण के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने ‘नेम द वृंदावन आश्रम’ नाम से सोशल मीडिया पर एक महीने (नवम्‍बर-दिसम्‍बर 2017) की प्रतियोगिता कराई थी जिसमें सुश्री सुनीता कात्‍याल का दिया नाम कृष्‍ण कुटीर का चयन किया गया। श्रीमती मेनका संजय गांधी ने इस परियोजना का निर्माण 2016 में शुरू करा दिया था।

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने इस विधवा घर का निर्माण वृंदावन में दयनीय हालात में रह रहीं विधवा महिलाओं की तकलीफों को कम करने के उद्देश्‍य से कराया है। विधवा महिलाओं को सम्‍मानपूर्वक जीवन जीने के लिए वृंदावन में सभी सुविधाओं से युक्‍त कृष्‍ण कुटीर का निर्माण कराया गया है।