June 3, 2018

विश्व को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए ताजमहल को चुना गया

आगरा। प्लास्टिक के उपयोग से हमारी सुन्दरतम धरती प्रभावित हो रही है और इससे एक संकट पैदा हो गया है। प्लास्टिक प्रदूषण से मुक्ति हेतु ताजमहल घोषणा से विश्व प्रसिद्ध ताजमहल  और आगरा शहर का भविष्य सुरक्षित होगा और पर्यावरण तथा ऐतिहासिक विरासत ताजमहल सहित अन्य ऐतिहासिक धरोहरों की सुरक्षा हो सकेगी। केन्द्रीय राज्य मंत्री संस्कृति एवं पर्यावरण, डा0 महेश शर्मा ताज महल से सम्बन्धित प्रदूषण के दृष्टिगत हितधारकों की  कार्यशाला में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक का उपयोग कम करने, री-साइकिल करने तथा विश्व को पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए ताजमहल को चुना गया है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ के पर्यावरण कार्यक्रम के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैरिक सोहलम व उनके टीम के आगरा आगमन पर उन्होंने धन्यवाद दिया । उन्होंने कहा कि इसके लिए एम्बेसडर दीया मिर्जा का संदेश पूरे विश्व तथा देशवासियों व युवा पीढ़ी तक एक नया इतिहास लिखेगा। 
  श्री शर्मा  ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रदत्त विश्व पर्यावरण दिवस मानने के उत्सव पर शपथ दिलाते हुए कहा कि ताजनगरी,  पूरे भारत व पूरे विश्व को हम प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से बचाएगे। भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार ने मिलकर यह फैसला
लिया है कि ताजमहल के 500 मीटर के दायरे को गंदगी फ्री, पालीथिन फ्री और प्लास्टिक फ्री बनाएगे। और देश के 100 ऐतिहासिक धरोहरों जहां अधिक से अधिक पर्यटक आते हैं वहां भी 500 मीटर के दायरे को प्लास्टिक मुक्त किया जाएगा और जो प्लास्टिक वहां इस्तेमाल होगा, उसे इकट्ठा किया जायेगा तथा उसे मा0 प्रधानमंत्री जी के दिए गए 06 मंत्रों के अनुरूप रीयूज बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा दिए गये संदेश ‘‘बीट प्लास्टिक पोलुशन एण्ड टुरिज्म‘‘ पर सब लोग साथ मिलकर काम करेंगे, और एक बार में इस्तेमाल होने वाला प्लास्टिक का उपयोग कम से कम करते हुए, धीर-धीरे इसे बन्द करने की दिशा में आगे बढ़ेगे। उन्होंने मानवता के इस मुहिम में सभी लोगों से देश व विश्व के साथ कंधा से कंधा मिलाकर कार्य करने का आग्रह किया।
                 मंत्री जी ने कहा कि हमें विरासत में क्या मिला, उससे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि हम वसीयत में क्या छोड़कर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रयास किया जाएगा कि प्लास्टिक की बोतल का एक बार उपयोग होने के बाद सम्बन्धित कम्पनी वापस लेकर उसकी री-सायक्लिंग कर पुनः उपयोग के योग्य बनाये। उन्होंने ताज की कलर स्पेक्ट्रोग्राफी कराने के लिए कहा ताकि साइंस्टिफिक दस्तावेज बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि पर्यटकों की संख्या के दृष्टि से आगरा एशिया का दूसरा तथा विश्व का छठा शहर है। इस बैठक में लिए गए निर्णयों को शीघ्र क्रियान्वित किया जाएगा। ताकि ताज संरक्षण के साथ ही साथ आगरा का सम्रगता के साथ विकास हो सकें। उन्होंने ताज के लिए 11 सदस्यीय एक एडवाइजरी कमेटी बनाने के भी निर्देश दिए। मंत्री जी ताजमहल के पास दशहरा घाट पर यमुना नदी में हो रहे सफाई कार्य में भी प्रतिभाग किये। इस अवसर पर एम्बेसडर दिया मिर्जा ने भी सफाई कार्य में हिस्सा लिया।