January 8, 2018

शहर को साफ सुथरा रखने के लिए आदतों में बदलाव लायें- सुरेश कुमार खन्ना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य एवं नगर विकास मंत्री  सुरेश कुमार खन्ना ने कहा है कि ‘‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2018’’ अभियान को सफल बनाने के लिए सभी नागरिकों का सहयोग एवं सक्रिय भागीदारी जरूरी है। बिना भागीदारी के शहरों को स्वच्छ रखना सम्भव नहीं है। उन्होंने कहा कि लखनऊ नगर निगम के सभी अधिकारियों,कर्मचारियों द्वारा शहर को स्वच्छ बनाने का गम्भीरता से प्रयास किया जा रहा है। नगर विकास मंत्री ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के तहत शहरों की रैकिंग की जायेगी और इस प्रक्रिया में कुल 4000 अंक अर्जित करना है, जिसमें सेवा स्तर की प्रगति के लिए 1400 अंक, प्रत्यक्ष पर्यवेक्षण के लिए 1000 अंक तथा नागरिकों से फीडबैक प्राप्त करने के लिए 1600 अंक निर्धारित किये गये हैं। इससे स्पष्ट है कि इस अभियान में नागरिकों की भागीदारी एक महत्वपूर्ण घटक है, जिसे इस सर्वेक्षण में सबसे अधिक महत्व दिया गया है।

सर्वेक्षण के अन्य उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए नगर विकास मंत्री ने कहा कि नागरिकों को शिक्षित किये जाने व सभी नागरिकों से अधिकतम सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए सोशल मीडिया और अन्य पारम्परिक मीडिया का राष्ट्रीय, राज्य व निकाय स्तरों पर रणनीति के मुताबिक इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील किया कि स्वच्छता ऐप का अधिक से अधिक संख्या में अपने मोबाइल पर डाउनलोड करने का प्रयास करें। इसके साथ ही नागरिकों की प्रतिक्रिया जानने हेतु नागरिकों से प्रश्न पूछें जायेंगे तथा उन प्रश्नों का अपने विवेक से समुचित उत्तर देकर लखनऊ शहर को रैंकिंग में प्रथम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं। उन्होंने दूसरे लोगों को साफ सफाई के लिए प्रेरित किये जाने का भी आग्रह किया। संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि 02 अक्टूबर, 2019 तक पूरे देश को खुले में शौचालय मुक्त घोषित किया जाना है।