September 7, 2017

‘'मेरा पोस्टकार्ड –आगरा की आवाज ' बना जन संवाद का सशक्त माध्यम

--‘जन-संसद’ माध्यम होगा ताज सिटी के नागरिकों के सटीक एजैंडे का
जन-संसद  के जगह जगह लगाये जा रहे हैं होर्डिंग।
आगरा : ‘ मेरा पोस्टकार्ड – आगरा की आवाज ‘ बिना किसी हो -हल्ले के शुरू हुआ नागरिकों का एक शिष्ट अभियान आगरा की जनता के उस  एजैंडे को तय करने का माध्यम बनने जा रहा है जो दिशा हीनता की स्थिति में पहुंच चुके ताज सिटी के विकास को एक सुनिश्चित दिशा देगा। 2अक्टूवर को गांधी जयंती के अवसर पर अभियान के तहत एक बडा आयोजन ‘जन संसद’ के रूप में शहीद स्मारक संजय प्लेस में होगा।
अब तक लगभग 18 हजार पोस्टकार्ड जलाधिकार फाऊंडेशन के दिल्ली स्थित मुख्यालय पर पहुंच चुके हैं। इनमें से
प्रत्येक में आगरा से संबधित दो से लेकर पांच तक समस्यायें लिख कर भेजी गयी हैं। जलाधिकार फाऊंडेशन के राष्ट्रीय नेतृत्व कर्त्ता श्री कैलाश गोदुका इन पोस्टकार्डों के अधार पर कंप्यूटराइज्ड डाटा तैयार करवा रहे हैं। जलाधिकार फाऊंडेशन के सैकैट्री अवधेश उपाध्याय ने कहा कि आगरा की नागरिक अवस्थापनाओं की जरूरतों एवं सेवाओं के विस्तार की संभावनाओं को लेकर पहले भी तमाम अध्ययन हुए हैं।  जबकि इस नवीनतम डाटा के पीछे भरपूर जनबल भी है। स्कूल, कॉलेजों और पार्कों सहित विभिन्न समुदायों के लोगों के बीच पहुंच कर सीधा संवाद किया गया है।
श्री उपाध्याय ने कहा कि उन्हें  उम्मीाद है कि अफसरशाही और राजनेताओं को जनता के ये पास्टेकार्ड निर्णय लेने समय प्रेरक साबित होंगे। एक जानकारी में उन्होंने कहा कि जलाधिकार फाऊंडेशन गांधी जयती के अवसर पर आयोजित ‘जन संसद ‘ के द्वारा स्वीकार किये गये एजैंडे को नीति आयोग से लेकर विकास कार्यों के लिये निर्वाचित आधारभूत निकाय जिला विकास / योजना समिति तक पहुंचाने का काम करेगा।
एक जानकारी में उन्होंने कहा कि जन संसद पूरी तरह से गैर राजनैतिक कार्यक्रम है। हालांकि मुख्य  आयोजन स्थल शहीद स्माीरक पार्क ही है किन्तू लोगों के द्वारा जो जुडाव अब तक दिखाया गया है उससे लगता है कि नागरिकों को जोडने के मकसद से शुरू हुए इस अभियान में काफी बडी संख्या  में लोगों की भागीदारी होने जा रही है।