September 4, 2017

वैश्विक शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद : वेंकैया नायडू

उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आतंकवाद मानवता का सबसे बड़ा दुश्मन और वैश्विक शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया । नायडू ने नलसार विश्वविद्यालय में इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल लॉ में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। 
उन्होंने  कहा कि आतंक का कोई मजहब नहीं होता, इसे कुचलने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के एकजुट होने जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि भारत ने बाद के सालों में खासतौर पर 11 सिंतबर के हमले के बाद से अंतरराष्ट्रीय आंकवाद के खिलाफ लड़ाई में काफी प्रयास किया है। वहीं उन्होंने कहा कि आतंकवाद मानवता का सबसे बड़ा दुश्मन है।
उन्होंने इस बात पर खास जोर दिया कि, ‘‘इस वक्त की सबसे बड़ी जरूरत वैश्विक शांति के लिए सर्वाधिक खतरा आतंक से है। आतंक का कोई मजहब नहीं होता, उसका कोई रंग नहीं होता, कोई जाति नहीं होती। लेकिन दुर्भाग्य से कुछ लोग ओछी राजनीति के लिए धर्म को आंतक से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।’’