September 2, 2017

उत्तर प्रदेश में अपने घर में अपना टॉयलेट का सपना होगा पूरा

उत्तर प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में प्रत्येक आवास में शौचालय बनाने के लिए 12,000/- रुपये की अतिरिक्त सहायता प्रदान की जाएगी। इससे राज्य के 655 शहरों और कस्बों को खुले में शौच से मुक्त किया जा सकेगा। शौचालय के लिए अतिरिक्त सहायता प्रदान करने का निर्णय एक उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया।  उत्तर प्रदेश में लगभग 8 लाख आवासों में शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है जिसमें से अबतक एक लाख 56 हजार शौचालय बन चुके हैं। स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) में केन्द्र एवं राज्य सरकार 4 - 4 हजार रुपये यानि कुल 8 हजार रूपये की राशि मुहैया करा रहे हैं। अब शहरी क्षेत्रीय निकाय शौचालय परिसर
के लिए 12,000/- प्रति शौचालय की धनराशि प्रदान करेगी। 14वें वित्त आयोग की सिफारिशों के अऩुरूप ये राशि राज्य सरकार को दी जाएगी। साथ ही अटल मिशन के अंतर्गत उतर प्रदेश में 13 लाख 30 हजार शहरी आवासों में नल प्रदान किए जाएंगे। जल आपूर्ति और सीवेज नेटवर्क में सुधार किया जाएगा। इसके लिए 11,176 करोड़ रुपये की धनराशि का निवेश किया जाएगा। राज्य में 246 करोड़ रुपये की लागत से पार्कों और खुले क्षेत्रों का विकास किया जाएगा।