September 10, 2017

उत्तर प्रदेश में शिकायत सीधे आॅनलाइन दर्ज कराई जा सकेगी - योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने जनता की शिकायतों का तेजी से निस्तारण किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जनसमस्याओं का उसी स्तर पर निस्तारण किया जाए, जिस स्तर पर निस्तारण अपेक्षित है। उनके निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार ने जनसुनवाई प्रणाली (आई0जी0आर0एस0) पर आम जनता के लिए नई सुविधा उपलब्ध करायी है। अब जनता सीधे जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के साथ-साथ अन्य जनपद स्तरीय, तहसील स्तरीय, ब्लाॅक व थाना स्तरीय अधिकारियों के पास अपनी शिकायत सीधे आॅनलाइन दर्ज करा सकेगी। इस नई व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि वरिष्ठ अधिकारियों की जिम्मेदारी होगी कि उनके अधीनस्थ अधिकारी जनता की शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण ढंग से कम से कम समय में करें। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता व लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। ठीक ढंग से निस्तारण नहीं करने वाले अधिकारियों को चिन्हित कर दण्डित किया जाएगा। वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश में संवेदनशील एवं पारदर्शी प्रशासन देने के लिए संकल्पबद्ध है।
यह जानकारी देते हुए आज यहां राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि वर्तमान में जनसुनवाई प्रणाली (आई0जी0आर0एस0) पर जनपद स्तर पर आॅनलाइन माध्यम से शिकायत दर्ज कराने हेतु 150 अधिकारियों का ही विकल्प उपलब्ध था। उसे मुख्यमंत्री जी ने अब बढ़ाकर राज्य के लगभग 15,000 जनपद व अधीनस्थ अधिकारियों को शामिल करने के महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं।
प्रवक्ता ने कहा कि शिकायत आॅनलाइन तरीके से दर्ज कराने नई व्यवस्था से जनता को स्थानीय अधिकारी के समक्ष अपनी शिकायत सीधे उपलब्ध कराने का अवसर प्राप्त होगा। साथ ही, स्थानीय अधिकारी को भी शिकायत सीधे कम समय में प्राप्त होने के कारण उस पर कार्रवाई करने में आसानी होगी।
प्रवक्ता ने बताया कि सांसदों व विधायकगण द्वारा मुख्यमंत्री कार्यालय को प्रेषित की जाने वाली शिकायतों व संदर्भाें को सीधे जनपद में नियुक्त विभिन्न विभागीय अधिकारियों को प्रेषित किए जाने का विकल्प उनके आई0जी0आर0एस0 लाॅगइन आई0डी0 पर उपलब्ध करा दिया गया है।