August 23, 2017

पार्क माईनर फि‍र से होगी सुचारू, भरेंगे शाहजहां पार्क के तालाब


--टी टी जैड के कोर जोन की हरि‍याली को छुटकारा मि‍लेगा खारे पानी से
उप मुख्‍यमंत्री डा दि‍नेश शर्मा  के आदेश से शुरू होगी पार्क माइनर ,
 पार्क की हरि‍यली को खारे पानी से मि‍लेगी नि‍जात 
  आगरा: ताज ट्रि‍पेजि‍यम जोन के सबसे कोर एरि‍या की हरि‍याली को अब पानी की कमी दूर होना तय हो गया है। नगर नि‍गम पार्क माईनर के बन्द पड़े  चैनल को अवरोध रहि‍त कर खुलवाने की कार्रवाही शुरू करने जा रहा है। कोर एरि‍या के रूप में ताजमहल के चारों ओर का एक कि‍मी  क्षेत्र चि‍न्हित है। इसमें शाहजहां गार्डन, सर्कि‍ट हाऊस ,गोल्फ ग्राऊंड आदि के भाग‍ आते हैं। इस हरि‍याली को बनाये रखने के लि‍ये चार तालाबों की व्यवस्था थी।जि‍नमें से दो सर्कि‍ट हाऊस में थे जबकि‍ दो शाहजहां पार्क में । इन चारो तालाबों को आगरा नहर के टर्मि‍नल राजवाह के रोहता से नि‍कलने वाले 15 कयूसेक क्षमता के राजवाह से भरे जाने की व्यवस्था है। उखर्रा होकर बहने से ‘उखर्रा नहर’  और पार्क माइनर के नाम के पर्यायवाचि‍यों से पहचान रखने वाली इस नहर को शहीद नगर बनने के साथ ही खुर्दबुर्द कि‍ये जाने की प्रक्रि‍या शुरू हो गयी थी। पार्कि‍ग और अपने मकानों के सामने नि‍जी सुविधा  के लि‍ये नहर की जमीन पर कब्जा‍ जमाना  मुख्य मकसद था।


ताज ट्रि‍पेजि‍यम जोन के इस महत्वमपूर्ण चैनल को पुनः सुचारू करवाने को लेकर चि‍ता तो अनेक लोगों के द्वारा की गयी और ताज ट्रि‍पेजि‍यम जोन अथार्टी के द्वारा भी वि‍चार कि‍या गया कि‍न्तु टेवि‍ल डि‍स्किशन से ज्यादा बात आगे नहीं बढ सकी ।यही नहीं एक स्तर पर नहर का पुन: सुचारू कि‍या जाना लगभग नामुमकि‍न मान लि‍या गया। दो साल पूर्व जलाधि‍कार फाऊंडेशन आगरा मे सक्रि‍य हुआ और इसके एजैंडे में पार्कमाईनर को सुचारू करना भी शामि‍ल था। फाडफंउेशन के सैकेट्री और आगरा मंडल के जलसंसाधन सोत्रों को बहाल करने की योजना के कन्वीनर अवधेश उपाध्याय ने उ प्र के उप मुख्यमंत्री डा. दि‍नेश शर्मा से जब इस प्रोजैक्टू के संबध में वि‍स्तार से चर्चा कर नहर को खुलवाने को कहा तो पहले तो वह आश्चर्य में पड गये कि‍ ताजमहल की हरियाली को इतने महत्वपूर्ण इस राजवाह को अति‍क्रमणकारि‍यों की भेट चढने  दि‍या गया ।अपनी नाराजगी का इजहार करने के बाद  उन्हें ने कहा कि‍ इसे पुन: सुचारू करवाने के लि‍ये हर भरसक प्रयास कि‍या जायेगा। बाद में उन्‍होंने इसके लि‍ये जि‍ला अधि‍करी गौरव दयाल को आवश्यक नि‍र्देश दि‍ये। अब नगरायुक्त अरूण प्रकाश से प्रशासन के द्वारा खुलवाने को एक सप्तालह में कार्रवाही करने को कहा है। उधर सि‍चाई वि‍भाग ने नहर के रौहता छोर स्थित हैड पर नया सैल्यू्स गेट लगवाकर पानी डि‍सचार्ज की व्यवस्था को सुचारू  कर दि‍या । 
श्री उपाध्या‍य ने कहा कि‍ उन्हे उम्मी‍द है कि‍ नहर दो सप्ताह के अंदर सुचारू हो जायेगी और मानसून काल के बाद के रोस्टा्रों में ताजगंज की हरि‍याली और जलस्तर में सुधार  के लि‍ये  चारों महत्वपूर्ण तालाब जल से भरपूर हो जायेंगे।
अलवर्ट एडवर्ड पीटर ग्रीसन ने बनवाया था यह नहरी चैनल--
 इंग्लिश उद्यानवि‍द(हार्टीकल्चरि‍स्ट)  अलवर्ट एडवर्ड पीटर ग्रीसन  (Albert Edward Peter Griessen -1875–1935) की ताजमहल के आसपास का क्षेत्र हराभरा और पेडों से भरपूर बनाये रखने को अहम लीगेसी थी। अब तो शायद ग्रीसन का नाम भी कम ही लोग जानते होंगे कि‍न्तु  यही वह व्याक्ति था जि‍सने ताजमहल के आसपास का सर्वे कर वि‍क्टोरि‍या गार्डन,सर्कि‍ट हाऊस ग्रीनरी की योजना न केवल बनायी अपि‍तु  उसे क्रि‍यान्वित भी करवाया। वि‍क्टोरि‍या गार्डन से पूर्व यहां मैकडोनाल्डा पार्क था कि‍न्तु‍ खारे पानी के कारण वह कभी भी हराभरा नहीं रह सका। ग्रीसन ने लैंडस्कैपि‍ग, पौंडि‍ग, और पार्क माइनर की प्लानि‍ग करके ऊसर और झाड झंखाड वाले टीलों के इस क्षेत्र को ऐसे सघन हरि‍याली वाल क्षेत्र में तब्दीमल कर दि‍या जि‍समें गुलाब बाडी भी थी, तो चीड व चंदन के पेडों के झुरमुठ भी। ग्रीसन की दूरदर्शि‍ता अपने आप में बेमि‍साल मानी जा सकती है, अगर यह नहरी चैनल सुचारू रखा जा सकता तो ताजमहल के आसपास का क्षेत्र न केवल अधि‍क नमी या आद्रता वाला होता अपि‍तु पेडों की बढवार भी अधि‍क होती।