August 6, 2017

अक्टूवर से लगेगा लखनऊ -आगरा एक्सपप्रेस वे पर टौल

--सुरक्षा और अनुरक्षण के मुद्दे तय होने है अभी 
आगरा: गुणवता और तमाम गडबडि‍यों की जांच के दायरे फंसे देश के सबसे लंबे  लखनऊ-आगरा एक्स्प्रेस वे पर अक्टूबर से टौल टैक्सं लगना शुरू हो जायेगा। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर चलने वालों को दो महीने बाद टोल देना पड़ेगा। यूपीडा ने एक्सप्रेस-वे पर टोल निर्धारित करने की कार्यवाही शुरू कर दी है। कैबिनेट की मंजूरी के बाद टोल लगाना शुरू कर दिया
जाएगा।
अब तक यमुना एक्सप्रेस  वे पर टौल वसूल रही कंपनी को उसके अनुरक्षण व संचालन की जिम्मेदारी है, जबकि‍ लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे सरकारी धन से बना है और इसमे तमाम खामि‍यां रह जाने से टौल वसूली को तो तमाम  कंपनियां तैयार है कि‍न्तु अनुरक्षण के मुद्दे पर हाथ खींच रही हैं। 
वहीं एक्सप्रेस वे पर हो रही लूट की घटनाओं के मद्देनजर टोल न लगने तक यात्रियों की सुरक्षा के लिए यूपीडा उत्तर प्रदेश पूर्व सैनिक कल्याण निगम के 120 कर्मचारियों को तैनात करने का निर्णय लिया है। ये सुरक्षाकर्मी एक्सप्रेस-वे पर 10 इनोवा गाड़ियों से पेट्रोलिंग करेंगे। यूपीडा के सीईओ अवनीश कुमार अवस्थी के मुताबिक हर पैकेज पर 12 एक्स सर्विसमैन तैनात किए जाएंगे। ये कर्मचारी तीन शिफ्टों में काम करेंगे। टौल वसूलने वाली कंपनी को भी खुद ही अपनी सुरक्षा की व्यवस्था रखनी होगी, यह तभी स्पलष्टा हो सकेगा जबकि‍ टैंडर डौक्यूुमेट तैयार होगा।