August 12, 2017

उत्तर प्रदेश 2018 तक पूरी तरह खुले में शौच से मुक्त होगा

   
गंगा के किनारे पर बसे 52 जिलों के सभी 4480 गाँव और पाँच राज्य उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश बिहार, झारखण्ड और पश्चिम बंगाल को  इलाहाबाद के नैनी में हुए गंगा गाँव सम्मेलन नमामी गंगे परियोजना के तहत ओडीएफ घोषित किया गया। इसके लिए 24 नमामी गंगे गाँवों की पहचान की गई है। इनमे से उत्तराखण्ड में 3 उत्तर प्रदेश में 10 बिहार में 4 झारखण्ड 5 पश्चिम बंगाल में 2 गाँवों की पहचान की गई है। इन्हे आदर्श गंगा ग्राम बनाया जाएगा। गंगा ग्राम योजना, जल संसाधन और पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय का संयुक्त प्रयास है। इन गाँवों के ग्राम प्रधानों ने आदर्श गंगा ग्राम का लक्ष्य हासिल करने की शपथ ग्रहण की। यह शपथ जल संसाधन मंत्री सुश्री उमा भारती ने दिलाई। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्य नाथ ने कहा कि वे दिसम्बर 2018 तक समुचे उत्तर प्रदेश को ओडीएफ घोषित करने के लिए कृत संकल्प है।