August 23, 2017

ऐतहासिक एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा,मरीज़ों से पहले इसका इलाज करना होगा बेहतर

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज अपने अंत की ओर नज़र आ रहा है। यह मरीज़ों के इलाज करने के स्थान खुद मरीज़ बन गया है।  यह ऐतहासिक मेडिकल कॉलेज ब्रिटिश साम्राज्य की सरकार के दौरान, 1854 में ब्रिटिश सैन्य डॉक्टरों के अभ्यास के लिए स्थापित किया गया था । एस एन मेडिकल कॉलेज का नाम मूलतः थॉमसन स्कूल था, जिसका नाम कॉलेज के संस्थापक लेफ्टिनेंट गवर्नर सर जेम्स थॉमसन के नाम पर था। स्कूल की स्थापना के लिए योजनाएं ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बनाई गईं थीं।  इसके  रखरखाव की लागत भी इसके द्वारा उसी के द्वारा वहन किया जाता  था। मेडिकल कॉलेज जुड़ा अस्पताल थॉम्पसन अस्पताल के रूप में जाना जाता था।अस्पताल को बचाने के लिए  तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इसका  दौरा किया था। साथ ही एसएन मेडिकल कॉलेज को प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना  में चुने जाने के साथ 200 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट से मिनी एम्स बनाए जाने का वायदा किया था। किन्तु स्थिति रही  ढाक के तीन पात। इसकी दयनीय स्थिति देखकर शायद मरीज़ भी अपनी तबियत भूल जाता होगा।