July 8, 2017

अहमदाबाद का सपना पूरा, बना वर्ड हेरिटेज सिटी

पुरानी हवेलियों और महात्मा गाँधी के साबरमती आश्रम वाले शहर  अहमदाबाद को वर्ड हेरिटेज सिटी  घोषित किया गया है। यह घोषणा पोलैंड में क्राको में आयोजित यूनेस्को की विश्व धरोहर समिति के 41 वें सत्र में की गई । अहमदाबाद के नामांकन में तुर्की, लेबनान, ट्यूनीशिया, पुर्तगाल, पेरू और कजाखस्तान सहित करीब 20 देशों का समर्थन था। दीवार वाले शहर में 26 एएसआई संरक्षित संरचनाएं हैं, सैकड़ों 'पोल' जो कि समुदाय के रहने का सार और कई साइटों से जुड़े हैं।  महात्मा गांधी  1 9 15 से 1 9 30 तक यहां रहते थे। यह शहर महात्मा गांधी के नेतृत्व में भारत के अहिंसक स्वतंत्रता संग्राम के लिए भी केंद्र था। 1818 में अहमदाबाद को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने कब्जा कर लिया था। वर्ष 1824 में एक सैन्य छावनी स्थापित करने के लिए नेतृत्व किया गया था। एक बड़ा विकास वर्ष 1864 में हुआ था, जब रेलवे लाइन रखी गई थी जिससे अहमदाबाद  बंबई के साथ  जुड़ा था। इन घटनाक्रमों ने अहमदाबाद को व्यापार और विनिर्माण के अग्रणी केंद्रों के नक्शे में लाया। 1 9 15 में, अहमदाबाद के लोगों ने भारत की आजादी के लिए अपनी आवाज उठाई थी।