July 13, 2017

हिसार से उठी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिये आवाज

आगरा के ठंडे पडते ही हरियाणा की ओर से हिसार में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिये दावेदारी प्रस्‍तुत कर दी गयी है। जिस प्रकार से आगरा का हक नजर अंदाज कर जैवर के लिये केन्‍द्रीय मंत्री ने सक्रियता बरती थी ठीक वैसी ही  हरियाणा के हिसार से खास लगाव रखने वाले  राजनीतिज्ञ ने इसे खास अहमियत दे डाली है और उन्‍हे उम्‍मीद है  कि इंटरनेशनल एयर पोर्ट भले ही नहीं मिले किंतु आगरा जैसा सौ-सवा सौ एकड का सिविल एन्‍कलेव नुमा कोई प्रोजैक्‍ट और उसके लिये कोई निवेशक तो मिल ही जायेगा। मिनिस्‍ट्री के द्वारा सुझाये गये दिशा निर्देशों के अनुसार एस पी वी  ही प्राईवेट डव्‍लपर्स से एयरपोर्ट प्रोजैक्‍ट को क्रियान्‍वयन के लिये रिक्‍योस्‍ट फार क्‍वालिफिकेशन और रिक्‍योएस्‍ट फार प्रपोजल जैसे महत्‍वपूर्ण कार्यों के लिये निजी क्षेत्र के निवेषकों के लिये  निविदा प्रस्‍ताव तैयार करेगी।
 भारत सरकार की प्रचलित एवीएशन नीति जो भी हो किन्‍तु दूसरा एयरपोर्ट राष्‍ट्रीय राजधानी की अगले 15 वर्षों की जरूरत के लिये पर्याप्‍त एवं तत्‍काल अत्‍यंत जरूरी समझा जा रहा है।
इन्‍दिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से महत 90 कि मी एरियल दूरी पर बनाये जाने को स्‍वीकृत इस एयरपोर्ट को आवश्‍यक ठहराये जाने के लिये इन्‍दिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट की क्षमता जहां अब लगभग पूरी होने बात प्रचारित की जा रही  है, वहीं एयर कनैक्‍टिविटि बढाये जाने की नीति पर सरकार का पूरा जोर होना भी प्रचारित किया जा रहा है।