June 24, 2017

सोशल पुलिसिंग से आगरा के क्राइम रेट में आ सकती है कमी

--सी बी आई के एडीशनल डयरैक्टर ने गुजरात अनुभवों को किया साझा
राकेश अस्‍थाना
आगरा : अपराध नियंत्रण और प्रभावी त्वरित कार्रवाही वाले महानगर के रूप में ताज सिटी की एक खास पहचान  आगराऔर बन सकती है किन्तु इसके लिये नागरिकों के सहयोग और सक्रिय भागीदारी की जरूरत होगी।यह कहना है  प्रख्यात आईपीएस अधिकारी सी बी आई के एडीशनल डायरैक्टर राकेश अस्थाना का । जो कि शनिवार को ‘अंबिका  चरन शर्मा स्मृति भाषण श्रंखला के तहत अमृतविद्या –एजूकेशन फार फार इमोर्टिलिटी, सोसायटी के तत्वावधान में होटल क्ला‍र्क शीराज में ‘कम्यूनिटी पुलिसिंग-करैंट चेलेंजिस ‘विषय पर आयोजित सैमीनार को संबोधित कर रहे थे। 
 उन्होंंने कहा कि गुजरात में सोशल पार्टिसिपेशन से कम्युीनिटी पुलिसिंग का रहा अनुभव देश के अधिकांश स्थानों के
लिये स्थानीय जरूरतों के अनुरूप थेडे  बहुत परिवर्तन के साथ उपयोगी साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि सूरत में यह प्रयोग उन्होंने उस समय किया था जबकि देश में आतंकवाद का वह दौर जोरों पर था जिसमें उद्योग धंधों को चौपट करके अराजकता फैलाना साजिश करने वाली ताकतों का लक्ष्य था।।आगरा विश्वक विद्यालय के पूर्व कुलपति डा अगम प्रसाद माथुर ने कहा कि ‘मेरी ख्वााइश है कि आगरा को उसके पुराने रहे रसूख और  परंपराओं के अनुरूप स्व्के चेयरमैन डा आर सी शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और प्रो. पंडित अम्बिका चरन शर्मा  के बारे मे विस्तार से प्रकाश डाला।  पूर्व मंत्री राजा अरिदमन सिंह,विधायक रानी पक्षालिका सिंह, रूप बहाल किये जाये।
आयोजन आयकर आयुक्त  राजर्षि द्विवेदी, हरिविजय सिंह वाहिया, पूरन डावर,के सी जैन ,अरुण डंग,आर के सचदेवा श्रीमती बबिता चौहान, शाजिया इल्मीह, अवधोश उपाध्याडय , डा मधु भारद्वाज  श्रीमती कांती शर्मा,,कार्यक्रम का संचालन सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट श्री अजय वीर सिंह ने किया जबकि संस्था  के जर्नल सैकेट्री अनिल शर्मा ने आभार जताया।पूर्व पी एम जी कर्नल उमेश वर्मा,भुवनेश श्रोत्रीय आदि उपस्थिे
आगरा : अपराध नियंत्रण और प्रभावी त्वरित कार्रवाही वाले महानगर के रूप में ताज सिटी की एक खास पहचान  आगराऔर बन सकती है किन्तु इसके लिये नागरिकों के सहयोग और सक्रिय भागीदारी की जरूरत होगी।यह कहना है  प्रख्यात आईपीएस अधिकारी सी बी आई के एडीशनल डायरैक्टर राकेश अस्थाना का । जो कि शनिवार को ‘अंबिका  चरन शर्मा स्मृति भाषण श्रंखला के तहत अमृतविद्या –एजूकेशन फार फार इमोर्टिलिटी, सोसायटी के तत्वावधान में होटल क्ला‍र्क शीराज में ‘कम्यूनिटी पुलिसिंग-करैंट चेलेंजिस ‘विषय पर आयोजित सैमीनार को संबोधित कर रहे थे। 
 उन्होंंने कहा कि गुजरात में सोशल पार्टिसिपेशन से कम्युीनिटी पुलिसिंग का रहा अनुभव देश के अधिकांश स्थानों के लिये स्थानीय जरूरतों के अनुरूप थेडे  बहुत परिवर्तन के साथ उपयोगी साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि सूरत में यह प्रयोग उन्होंने उस समय किया था जबकि देश में आतंकवाद का वह दौर जोरों पर था जिसमें उद्योग धंधों को चौपट करके अराजकता फैलाना साजिश करने वाली ताकतों का लक्ष्य था।।आगरा विश्वक विद्यालय के पूर्व कुलपति डा अगम प्रसाद माथुर ने कहा कि ‘मेरी ख्वााइश है कि आगरा को उसके पुराने रहे रसूख और  परंपराओं के अनुरूप स्व्के चेयरमैन डा आर सी शर्मा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और प्रो. पंडित अम्बिका चरन शर्मा  के बारे मे विस्तार से प्रकाश डाला।  पूर्व मंत्री राजा अरिदमन सिंह,विधायक रानी पक्षालिका सिंह, रूप बतों में शामिल  थे।