May 21, 2017

सि‍वि‍ल एन्कमलेव के लि‍ये मुख्यपमंत्री 65 करोड अवमुक्त, करें

--कि‍सानों की अधि‍सूचि‍त 30 एकड जमीन बंधक की सी स्थिति‍ में 

डा शि‍रोमणी सि‍ंह,अनि‍ल शर्मा , हाजी साबरी 
और नि‍हाल सि‍ंह  --फोटो:असलम सलीमी
आगरा: उत्तसर प्रदेश सरकार ने एयर एन्क्लेव का नाम दीन दयाल एयर टर्मि‍नल करने में तो देर नहीं लगायी कि‍न्तु‍ इसे जन पहुंच वाले स्था न पर लेजाये जाने की योजना को अजाम दि‍ये जाने के लि‍ये चि‍न्हिस‍त जमीन को कि‍सानों से अधि‍ग्रहण के लि‍ये 65 करोड की धनराशि‍ अवमुक्ता करवाने के लि‍ये राज्यच सरकार अपने वायदे को अब तक अंजाम नहीं दे सकी। यह कहना है आगरा सि‍वि‍ल सोसायटी के अध्यरक्ष डा शि‍रोमणी सि‍ह का जो कि‍ सोयसयटी के कन्वी्नर
 एवं सैकेट्री अमृत विद्या एजूकेशन
 फार इमोर्टिलिटी सोसायटी जनरल  सैकेट्री अनि‍ल शर्मा ,धनौली के कि‍सान नेता  निहाल सिंह भोले सर्वैदलीय मुस्लि्‍म एक्शनन कमेटी के अध्यकक्ष एवं चौधरी हाजी अली सबरी के साथ हरि‍याली वाटि‍का में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।
श्री भोले ने कहा कि‍ सि‍वि‍ल एन्करलेव के लि‍ये कि‍सान जमीन देने को तैयार है ,जब से नोटि‍फि‍केशन हुआ है 30 एकड जमीन पर तो खेती का काम भी लगभग बन्दक सा ही हो चुका है1 कि‍सानों ही नहीं सभी गांव वालों की मांग है कि‍ जमीन का भुगतान जल्दी  से जल्दीह कि‍या जाये ,साथ ही मुआबजा राशि‍ सभी को एक समान ही मि‍ले क्यों  कि‍ इस जमीन के खेतों से सभी कि‍सानों को एक सी फसली आय होती थी। इसी के साथ उन्होंहने कहा कि‍ जो भी नि‍र्माण रोड साइड हो चुके हैं उनको रैग्यूयरालाइज कि‍या जाये क्योे कि‍ इन नि‍र्माणों में से जयादातर ऐसे है जि‍नसे प्रस्ताैवि‍त एयरपोर्ट की सेफटी और फंकश्नयल पार्ट पर खास अंतर नहीं पडेगा। नाला मंटोला को स्व‍च्छ‍ता मि‍शन में मि‍ले प्रमुखता  सि‍वि‍ल सोसायटी ने आगरा की गंदगी पर चि‍ता जतायी और उसकी सफाई के नाम पर हो रहे खर्च को जनधन की बबादी करार दि‍या। प्रेस के समक्ष प्रबुद्धजनों ने कहा कि‍ नाला मंटोला आगरा का तीस प्रति‍शत उत्प्ररवाह नि‍स्ता्रि‍त करने का माध्यईम है, यह आगरा की जमा मस्जि ‍द के बारबर से लगकर बहता है, इस लि‍ये इसकी सफाई की खास व्यिस्थाे होनी ही चाहि‍ये।यही नहीं नाले का एक भाग भगवान महावीर के नाम पर महावीर के नाम से से भी जाना जाता है।आस्था  और जनजरूरत से जुउे इस नाले को राष्ट्री य स्वेच्छाता मि‍शन से सीधे तोर पर जोड कर इसके लि‍ये अलग से सफाई वार्ड गठि‍त कि‍या जाना चाहि‍ये। उन्होंेने कहा कि‍ नाला मंटोला पूर्व में गोकुला नदी के रूप में पहचान रखता था और यमुना नदी में कि‍ले के डउनस्ट्रीवम में स्वोच्छद पानी का योगदान देता था,हम चाहते है कि‍ लगभग वही स्थिो‍ति‍ बहाल करने को लक्ष्यो कर कार्ययोजना बनाई जाये।