December 5, 2016

भारतीय राजनीति में आयरन लेडी जयललिता की अनुपस्थिति हमेशा खटकेगी

भारत की  लोकप्रिय  नेताओं में से एक जयललिता अब नहीं रहीं।उन्हें गंभीर दिल का दौरा पड़ा था। अपोलो अस्पताल द्वारा उनके निधन की  पुष्टि कर दी  गई है। 68 वर्षीय जयललिता का  2 महीने से अधिक समय से  अस्पताल में इलाज चल रहा था।पिछले कुछ दिनों के दौरान सुधार के संकेत दिखाई दिए थे।जयललिता ने कुछ समय पूर्व ही  राज्य के  विधानसभा चनावों में ऐतिहासिक जीत प्राप्त की थी।उसके पार्थिव शरीर उनके निवास पोएस गार्डन ले जाया गया है।एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि जयललिता के निधन  से भारतीय राजनीति में एक बड़ा शून्य बन गया है ।अन्नाद्रमुक पार्टी ने कहा है, उसके पार्थिव शरीर को अंतिम श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों के लिए राजाजी हॉल में रखा जाएगा।