December 10, 2016

आजम के बेटे और मुख्तार के भाई जैसे कैंडिडेट्स से क्या सपा फिर लौट सकेगी

अखिलेश यादव द्वारा जारी सपा के 23  कैंडिडेट्स की लिस्ट में आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम और  माफिया से नेता बने मुख्तार अंसारी के भाई सिबगततुल्ला अंसारी का  नाम  होने से  जनता में प्रीतिकिर्या शुरू हो गई हैं। प्रदेश प्रदेश की परेशान जनता का मानना है कि बढ़ते अपराध और बिगड़ती  कानून व्यवस्था को काबू न कर पा रही सपा  सरकार को इस तरह के कैंडिडेट्स  बनाने से पार्टी की छवि और खराब हो सकती है। वैसे ही सपा का पारवारिक झगड़ा काफी चर्चा में रहा।जिससे सपा पूरी तरह से अभी तक बाहर नहीं निकल पाई है। उधर अमर सिंह और अखिलेश के बीच भी तनाव अभी भी ख़त्म नहीं हो पा रहा है। यहाँ बताना उचित होगा  कि मुख्तार और अफजाल अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का सपा में अंत में  विलय हो गया है । पहली बार  विलय से अखिलेश यादव सहमत नहीं थे।