November 11, 2016

हाथ लगाने से डर रहे हैं लोग 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों से

500 और 1,000 के अचानक बंद करने से सबसे अधिक झटका लगा है छोटे व्यापारियों  को।सरकार  ने 500 और 1,000 रुपये के नोटों का इस्तेमाल सहकारी दुकानों से सामान खरीदने  घरेलू उपयोगिता बिल, ईंधन, करों और शुल्कों को जमा करने के लिए  72 घंटे और  बढ़ा  दिए हैं। सरकार  ने  तो कहा है कि  72 घंटे और  इन   स्थानों पर  पुराने  नोट लिए जायेंगे किन्तु स्थिति इतनी ख़राब है कि इन स्थानों  पर पुराने नोटों को  लेने की से बच रहे   हैं। पुराने नोटों को कोई नहीं हाथ लगाना  चाहता है। सरकारी सूचना  अनुसार कोर्ट फीस भी पुराने 500 और 1,000 रुपये के  नोटों में दी जा सकती है । वित्त  मंत्री द्वारा विश्वास दिलाने के बावजूद लोगों में डर  व्याप्त है। वित्त मंत्रालय ने उपभोक्ता सहकारी भंडार से पुराने नोटों के साथ  सामान खरीदते समय ग्राहकों से  आईडी प्रूफ दिखाने  के आदेश  दिए हैं।