June 30, 2015

मानसून मे फि‍ल्म नि‍र्माताओं पर सुवि‍धाओं की झडी

--सरकारी एक्‍मोडेश का उपयोग कर सकेंगे ,यूपी टूरि‍जम भी देगा कंसैशन

--सब्‍सि‍डी का दायरा दो करोड से भी बढा

(गुंजन पंत’ यू पी में बनने जा रही भोजपुरी फि‍लम
 के लि‍ये अनुबंधि‍त) 

आगरा, उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री का फि‍ल्‍म प्रेम मुम्‍बई में असर दि‍खाने लगा है।बडे बडे नि‍र्माता नि‍र्देशक राज्‍य सरकार के द्वारा यू पी में फि‍ल्‍माई जाने वाली फि‍ल्‍मों को दो करोड रुपये के अनुदान और मनोरंजन कर राहत से अपनी कास्‍ट और शूटि‍ग शैड्यूलों में परि‍वर्तन करने की तैयारी में हैं।
नयी नीति‍ के तहत फि‍ल्‍म में काम करने वालों के मेंहनताने में भी राज्‍य सरकार की हि‍स्‍से दारी रहेगी। उन्‍हें उ प्र पर्यटन नि‍गम के होटलों और मोटलों में 25 प्रति‍शत कशैशन मि‍लेगा।
दो करोड के अनुदान को अब बढा दि‍या गया है।क्रमश: पहली फि‍ल्‍म के बाद आगे भी यू पी का रुख करने वालों को अनुदान राशि‍ मि‍लना बढती ही जायेगी। सरकार की नि‍ति‍ का क्रि‍यान्‍वयन फि‍ल्‍म बंधु के माध्‍यम से हो होाग।उसके बढ हुए
भारी भरकम खर्च को उठाने के लि‍ये सरकार ही अनुदान देगी हां औपचारि‍क रूप से पचास पैसा प्रति‍ टि‍कट भी फि‍ल्‍म बंधु फंड के लि‍ये वसूला जायेगा।
(कैबीनेट मंत्री शि‍वपाल सि‍ह यादव भोजपुरी फि‍ल्‍म
हमसे बढ कर कौन के महुर्त सैट पर)
इतना सब करने के बावजूद सरकार को अपने नि‍वेशों से कि‍तनी आये होगी यह अस्‍पष्‍ट है।फि‍ल्‍म बंधु बेहद घाटे में चलने वाला लगीाग बंद होने की स्‍थि‍ति‍ में पहुंच चुका नि‍गम है।जो नीति‍यां उसके माध्‍यम से लागू की जा नी हैं उनसे एक बार फि‍र से घाटे का दौर शुरू हो जायेगा।हां यह जरूर है कि‍ फि‍ल्‍म बनाने वालों को जरूर मुनाफा सुनि‍श्‍चि‍त हो जायेगा। वर्तमान में यू पी में तीस फि‍ल्‍में नयी नीति‍ का लाभ उठाकर यू पीमें बनायी जा रही हैं।
  नीतियों और सुविधाओं के अभाव में उत्तरप्रदेश के विकास में लोगों की भागीदारी हासिल करने में दिक्कत हो रही थी। यही कारण है कि  सरकार ने पिछले तीन साल के दौरान तमाम क्षेत्रों के लिए नई नीतियां बनाकर उन्हें लागू किया है। फिल्म निर्माण के नजरिए से उत्तर प्रदेश एक बेहतरीन जगह है। यहां उपलब्ध तमाम सम्भावनाओं के मद्देनजर राज्य सरकार ने फिल्म नीति को आकर्षक और सुविधाजनक बनाने का फैसला लिया।
राज्य में फिल्मों की शूटिंग के माध्यम से स्थानीय लोगों को रोजगार व प्रदेश के कलाकारों को अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का अवसर प्राप्त होता है। फिल्म निर्माताओं को राज्य में फिल्मों की शूटिंग करने के लिए आमंत्रित करने के साथ ही इस कार्य में प्रदेश सरकार द्वारा उन्हें हर सम्भव सहयोग व मदद प्रदान की जाएगी।
सीएम ने नई फिल्म नीति के तहत फिल्म तेवरको 2 करोड़, ‘जां निसारको 2 करोड़ 25 लाख तथा फिल्म दोज़ख-इन सर्च आॅफ हैवेनको 59 लाख 53 हजार रुपए का अनुदान प्रदान किया।

 राज्य में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देने के लिए 2 फिल्म सिटी के लिए हस्ताक्षरित एम.ओ.यू. के दस्तावेजों का आदान-प्रदान भी मुख्यमंत्री की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। एक फिल्म सिटी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर तथा दूसरा ट्रांस गंगा हाइटेक सिटी परियोजना उन्नाव में विकसित किया जाएगा। दोनों फिल्म सिटी पर कुल मिलाकर लगभग 650 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा और इनसे लगभग 9 हजार लोगों को रोजगार मिलने का दवा भी किया गया।