May 30, 2015

कैंसर एक बडी चुनौती धूम्रपान रोकने भर से नि‍यंत्रण संभव - राम नायि‍क

--देर से इलाज करवाने पहुंचने से उपचार हो जाता है मुश्‍कि‍ल

--कैंसर क्षेत्र में काम करने वाले कई कि‍ये सम्‍मानि‍त

राज्‍यपाल राम नायि‍क
आगरा,कैंसर की बीमारी देश के लि‍ये एक बडी चुनौती है25 लाख से अधि‍क लोग इसका शि‍कार होते हैंजि‍नमें से लगभग 7 लाख दम तोड जाते हैं।यह हमारे समाज के लि‍ये अपने आप में एक भयवाह स्‍थि‍ति‍ है जि‍सको काफी हद तक केवल तम्‍बाकू सेवन और धूम्रपान की आदत पर नि‍यंत्रण कर काफी हद तक सीमि‍त कि‍या जा सकता है।
यह कहना है प्रदेश के राज्‍यपाल राम नायि‍क का जो कि‍ होटल र्क्‍लाशीराज में रोटरी क्लब आफ आगरा ताज सिटी और आगरा कैंसर सोसाइटी के विश्व तंबाकू निषेद्य जनजागरण अभियान में बतौर मुख्य अतिथि के..
रूप में सम्‍बोधि‍त कर रहे थे।
श्री  नाईक ने कहा कि‍ धूम्रपान के खिलाफ जनआंदोलन समाजमें हर वर्गकी भागीदारी जरूरी है। युवाओं को इससे दूर रहने के लि‍ये खुद भी नि‍रंतर सचेत रहना है।
उन्होंने बताया कि रेलमंत्री रहते हुए उन्होंने ट्रेन में धूम्रपान प्रतिबंधित किया। श्री नायि‍क ने बताया कि 20 साल पहले उन्हें भी कैंसर हुआ था। समय पर जांच और इलाज से उनकी जान बच सकी। कैंसर सोसाइटी सचिव डा. संदीप अग्रवाल ने बताया कि कैंसर रोगियों में एक तिहाई 15 से 24 साल के युवा हैं। लंबे समय तक तंबाकू सेवन से कैंसर ही नहीं, हार्ट, फेफड़ा जैसी बीमारी का खतरा 50 फीसदी बढ़ जाता है। वरिष्ठ चिकित्सक डा. केके प्रूथी ने बताया कि 70-80 फीसदी कैंसर रोगी डाक्टर के पास इलाज को देर से पहुचते हैं। इस अवसर पर  वरिष्ठ पैथोलोजिस्ट डा. विजयालक्ष्मी सहगल, एसएन मेडिकल कालेज के पैथालोजी विभागाध्यक्ष डा. अतुल गुप्ता और जालमा संस्थान के पूर्व निदेशक डा. वेद भारद्वाज को कैंसर की जंग में विशेष योगदान के लिए राज्यपाल ने सम्मानित किया। 
क्लब अध्यक्ष डा. डीवी शर्मा ने अतिथियों का आभार जताया। कार्यक्रम में डा. बीआरए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मोहम्मद मुजम्मिल, डा. अल्का सेन, डा. गिरिजाशंकर, डा. आरएस पारीक, डा. एमसी गुप्ता, डा. जेएन टंडन, विधायक योगेंद्र उपाध्याय, बेबीरानी मौर्य, डा. रामबाबू हरित, डा. जेएन टंडन आदि उपस्थित थे।